Homeउत्तर प्रदेशआयुष्मान कार्डधारक मरीजों को मिलेगा सरकारी अस्पतालों में वीआइपी इलाज

आयुष्मान कार्डधारक मरीजों को मिलेगा सरकारी अस्पतालों में वीआइपी इलाज

गोरखपुर, आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों की पहचान पर सरकारी अस्पताल का पर्चा बनेगा। सरकारी अस्पताल में इलाज के लिए पहुंचने वाले रोगियों से आयुष्मान लाभार्थी के बारे में जानकारी ली जाएगी। यदि रोगी खुद को आयुष्मान योजना का लाभार्थी बताता है तो कार्ड देखकर उसके पर्चे पर मुहर लगा दी जाएगी। यह पर्चा रोगी को दूसरे अस्पतालों में इलाज दिलाने की राह आसान करेगा। आयुष्मान योजना की मंडलीय समीक्षा बैठक में यह निर्देश कमिश्नर रवि कुमार एनजी ने दिए। कहा कि आयुष्मान लाभार्थी को सरकारी के साथ ही निजी अस्पतालों में कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए। उसे वीआइपी इलाज दिया जाए ताकि आयुष्मान लाभार्थी होने पर वह खुद को गौरवान्वित महसूस करे।

पीएचसी, सीएचसी पर मिले उपचार

आयुष्मान योजना की स्टेट हेल्थ एजेंसी सांची की मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) संगीता सिंह ने मंडल के चारो जिलों में आयुष्मान योजना की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने पीएचसी व सीएचसी में आयुष्मान रोगियों का इलाज न होने पर नाराजगी जताई। कहा कि जिन अस्पतालों का लंबे समय से भुगतान लंबित है उन्हें 15 मई तक भुगतान मिल जाएगा।

अस्पताल संचालकों ने भुगतान में देर का मामला उठाया

इसे भी पढ़े: यूक्रेन में यूरोपीय देशों से आई हथियारों की खेप को रूसी मिसाइलों ने बनाया निशाना

बाबा योगिराज गंभीरनाथ प्रेक्षागृह में सीईओ संगीता सिंह ने आयुष्मान योजना से जुड़े निजी अस्पताल संचालकों के साथ बैठक की। कहा कि निजी अस्पताल संचालक आयुष्मान योजना की जानकारी मरीजों को नहीं दे रहे हैं। कई अस्पतालों में आयुष्मान से जुड़ी कोई जानकारी मौजूद नहीं रहती। अस्पताल संचालकों ने भुगतान में देरी, रोगी के इलाज की फाइल को स्वीकृत करने में देर का मामला उठाया। सीईओ ने बताया कि आवेदन करने के बाद भुगतान के लिए केंद्रीकृत बीमा एजेंसी के पास भेजा जाता है। वहां पर डाक्टरों की टीम परीक्षण करती है।

यह होगा फायदा : 

कई बार अस्पताल संचालक आवश्यक कागजात पोर्टल पर अपलोड नहीं करते। आपरेशन के दौरान मरीज की फोटो अपलोड उसके स्पष्ट चेहरे के साथ अपलोड करनी चाहिए। कहा कि रिजेक्ट क्लेम को जिला स्तरीय समिति में रखा जाएगा। यहां से स्वीकृति के बाद उसे दोबारा शासन को भेजा जाएगा। वहां हर केस पर मंथन होगा। जिसके बाद भुगतान हो सकेगा।

 

Stay Connected
16,985FansLike
61,453SubscribersSubscribe
Latest Post
Current Updates