Homeपंजाबचंडीगढ़ महिला कांग्रेस का दावा - आवास योजना की चंडीगढ़ में उड़ाई...

चंडीगढ़ महिला कांग्रेस का दावा – आवास योजना की चंडीगढ़ में उड़ाई जा रही है धज्जियां

चंडीगढ़। महिला कांग्रेस की अध्यक्ष दीपा दुबे ने प्रशासन और चंडीगढ़ की सांसद किरण खेर को कहा है की अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस पर 4 नंबर कालोनी वासियों के सिर से छत को छीन लेना कहां तक उचित है। जब 10वीं वह 12वीं कक्षा की परीक्षाएं चल रही है। उनके उज्जवल भविष्य के साथ चंडीगढ़ का प्रशासन और सांसद किरण खेर क्यों खिलवाड़ कर रहा है।

दीपा दुबे ने सांसद से सीधा सवाल किया है कि कोरोना की चौथी लहर के आगमन पर वह 4 महीने बाद चंडीगढ़ में आई और आते ही कालोनी वालों के मकान तुड़वा कर उन्हें बेघर कर दिया। महिला कांग्रेस की अध्यक्षा दीपा दुबे ने कहा कि बीजेपी के नेता कुछ दिन पहले लोगों को दिलासा दे रहे थे कि मकान देने के बाद ही पूर्ण तरीके से कालोनी तोड़ी जाएगी। लेकिन बड़ी साजिश के तहत चंडीगढ़ भाजपा के अध्यक्ष अरुण सूद ,मेयर सरबजीत कौर और भाजपा के नेताओं ने अपने चाहा वालों को अलाटमेंट लेटर दिलवा दी और चार नंबर कालोनी में रहने वाले बाकी लोग इस गर्मी के और कोरोना के चौथी लहर के आगमन पर सड़क के ऊपर अपने समान बच्चों व बिना पानी और बिना बिजली के बैठे दिखे।

दीपा दुबे ने कहा कि भाजपा की सांसद किरण खेर और चंडीगढ़ की मेयर सरबजीत कौर को महिला होने के नाते यह भी नहीं सोच सकी की कम से कम उन गर्भवती महिलाओं और छोटे बच्चों जो अभी-अभी जन्मे है उन पर तो थोड़ा तरस खाते। या जिन महिलाओं के बच्चा गर्भ में है और जिनकी डिलीवरी इसी माह में होने वाली हैं कम से कम उनके बारे में तो एक बार सोचा होता सांसद किरण खेर ने और प्रशासन ने। जो महिलाएं आज अपनी जवान बच्चियों के साथ बेघर होकर सड़क पर बैठे हैं उनकी सुरक्षा का किया?

यह भी पढ़ें : प्रशांत किशोर पर राजद का वार कहा – बिहार में किसी के आने से नहीं पड़ता फर्क

महिला कांग्रेस की अध्यक्षा दीपा दुबे ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक तरफ तो बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा पूरे देश में दे रहे हैं लेकिन चंडीगढ़ में भाजपा का अध्यक्ष अरुण सूद उनकी सांसद किरण खेर और मेयर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ और आवास योजना की चंडीगढ़ में धज्जियां उड़ा रहे हैं।

दीपा दुबे ने अंत में प्रशासक बनवारीलाल पुरोहित से मांग की है कि जल्द से जल्द कालोनी नंबर 4 के लोगों को उनकी छत उनका आशियाना और जो महिला गर्भवती है और जिनके डिलीवरी इसी माह होने वाली है और 10वीं और 12वीं के सभी बच्चों की जिनकी परीक्षाएं चल रही हैं उनको जल्द से जल्द उनके घर उनको दिए जाएं और प्रशासन को आदेश दिया जाए कि चंडीगढ़ के भविष्य के साथ खिलवाड़ करना बंद किया जाए।

Stay Connected
16,985FansLike
61,453SubscribersSubscribe
Latest Post
Current Updates