Homeउत्तर प्रदेशगाज़ियाबाद में कोरोना ने उड़ाई स्वास्थ्य महकमे की नींद, 24 घंटे में...

गाज़ियाबाद में कोरोना ने उड़ाई स्वास्थ्य महकमे की नींद, 24 घंटे में 68 पॉजिटिव

गाजियाबाद में शनिवार को 24 घंटे में 3,862 लोगों की कोरोना जांच रिपोर्ट आने पर सात छात्रों समेत 68 लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। इनमें पांच की उम्र दो से 12 वर्ष, चार की 13 से 20 वर्ष, 28 की 21 से 40 वर्ष, 20 की 41 से 60 वर्ष और 11 संक्रमितों की उम्र 60 वर्ष अधिक है। बीते 24 घंटे में संक्रमण दर 1.73 प्रतिशत दर्ज की गई है। 41 संक्रमित ठीक हुए हैं। 334 सक्रिय मरीजों का इलाज घर पर ही चल रहा है।

अब तक 69 स्कूलों के 28 अध्यापकों समेत 146 छात्र संक्रमित मिल चुके हैं। अप्रैल में अब तक जिले के 98,374 लोगों की जांच करने पर 734 कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं। इनमें से 400 ठीक हो चुके हैं। उल्लेखनीय है कि इससे पहले शुक्रवार को गाजियाबाद में 24 घंटे में 4,160 लोगों की कोरोना जांच रिपोर्ट आने पर आठ छात्रों समेत 50 लोग कोरोना संक्रमित मिले थे।

कोरोना रोकथाम को लेकर सात अस्पतालों में दो दिन होगा माकड्रिल

यह भी पढ़ें : जानिये कौन थे चित्रों के माध्यम से पहली बार देवी देवताओं को घर घर पहुंचाने वाले

कोरोना संक्रमण बढ़ने के साथ ही रोकथाम और संक्रमितों के इलाज को लेकर स्वास्थ्य विभाग सतर्क हो गया है। जिले के छह सरकारी और एक निजी कोविड अस्पताल में एक व दो मई को माकड्रिल किया जाएगा। सीएमओ डा. भवतोष शंखधर ने इस संबंध में दिशा निर्देश जारी करते हुए माकड्रिल के लिए नोडल अधिकारी नामित कर दिए हैं।

सीएमओ ने बताया कि संतोष अस्पताल में होने वाले माकड्रिल के लिए डा. नीरज अग्रवाल को, संयुक्त अस्पताल के लिए डा. सुनील त्यागी, ईएसआइ राजेंद्र नगर के लिए डा. प्रदीप यादव, सीएचसी डासना के लिए डा. दिनेश मोहन सक्सैना, सीएचसी मुरादनगर के लिए डा.आरके गुप्ता, सीएचसी मोदीनगर के लिए डा. जीपी मथुरिया और सीएचसी लोनी के लिए डा. प्रदीप यादव को नोडल नामित किया गया है। माकड्रिल के दौरान संक्रमित को भर्ती करने और उसका इलाज किए जाने का रिहर्सल होगा।

उल्लेखनीय है कि अप्रैल में अब तक जिले के 95,238 लोगों की जांच करने पर कोरोना के 666 कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं। इनमें से 357 ठीक हो चुके हैं। जिला सर्विलांस अधिकारी डा. आरके गुप्ता ने बताया कि रोज तीन से पांच हजार लोगों की कोरोना जांच की जा रही है। जिला एमएमजी, जिला महिला और संयुक्त अस्पताल में जांच के लिए विशेष बूथ शाम तक संचालित किए जा रहे हैं। तीनों अस्पतालों की इमरजेंसी में भी कोरोना जांच का इंतजाम है।

बस में क्षमता से अधिक बच्चे बैठाने पर स्कूल को नोटिस
उधर, निजी विद्यालयों द्वारा स्कूल वाहनों को लेकर लापरवाही लगातार जारी है। डीपीएसजी मेरठ रोड की बस में शुक्रवार को क्षमता से अधिक बच्चों को बस में बैठाने पर जिला विद्यालय निरीक्षक ने नोटिस जारी तीन दिन में जवाब मांगा है। हाल ही में शिक्षा विभाग, प्रशासन व परिवहन विभाग की बैठक में विद्यालयों को विद्यार्थियों की सुरक्षा संबंधी मामलों की देखभाल के लिए एक परिवहन समिति एवं सुरक्षा समिति के गठन के निर्देश दिए थे।

जिला विद्यालय निरीक्षक प्रदीप कुमार द्विवेदी ने बताया कि डीपीएसजी मेरठ रोड के खिलाफ क्षमता से अधिक बच्चे बस में बैठाने की शिकायत मिली थी।बस में सीट पर निर्धारित से ज्यादा बैठने के साथ बच्चे खड़े होकर जा रहे थे।शिकायत पर कार्रवाई करते हुए स्कूल को नोटिस जारी कर तीन दिन में कार्यालय में लिखित में स्पष्टीकरण मांगा है।

Stay Connected
16,985FansLike
61,453SubscribersSubscribe
Latest Post
Current Updates