Home Blog

पासपोर्ट रैकेट भांडाफोड़

0

15 अगस्त से पहले दिल्ली पुलिस ने राजधानी के पालम इलाके से दो बांग्लादेशी नागरिकों को गिरफ्तार किया है। तलाशी के दौरान उनके कब्जे से कई पासपोर्ट और बांग्लादेश के मंत्रालयों की 10 नकली मुहर बरामद की गई हैं। गिरफ्तार बांग्लादेशी नागरिकों की पहचान मोहम्मद मुस्तफा और मोहम्मद हुसैन शेख के रूप में हुई है जो रामफल चौक के पास पालम एक्सटेंशन में रह रहे थे। डीसीपी (द्वारका) एम. हर्षवर्धन ने कहा कि मामले की आगे की जांच जारी है।

ये भी पढ़िए – मूसेवाला हत्या का खुलासा

पुलिस के अनुसार स्वतंत्रता दिवस समारोह से पहले शहर में नियमित रूप से विशेष चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है। पुलिस ने बताया कि ऐसे ही एक अभियान के दौरान सूचना पर काम कर रहे रामफल चौक क्षेत्र में चेकिंग कर रहे पुलिस कर्मी रामफल चौक के पास रहने वाले दो बांग्लादेशी नागरिकों के घर गए। पुलिस ने कहा कि तलाशी लेने पर उनके पास विभिन्न बांग्लादेशी नागरिकों के 11 पासपोर्ट और विभिन्न मंत्रालयों और बांग्लादेश के नोटरी के 10 नकली मुहर बरामद किए गए। नकली रबड़ स्टैंप के बारे में उनके पास कोई ठोस जवाब नहीं था।

ये भी पढ़िए – मंत्रियों की लिस्ट जारी

इस संबंध में थाना द्वारका साउथ में दोनों के खिलाफ कानून की उपयुक्त धाराओं (विदेशी अधिनियम और 468 आईपीसी) के तहत मामला दर्ज किया गया है और जांच की जा रही है। पुलिस ने कहा कि उन्होंने कहा कि वे इलाज के लिए आने वाले बांग्लादेशी नागरिकों के एजेंट के रूप में काम करते थे। हालांकि, उनसे बड़ी संख्या में नकली मुहरों की बरामदगी की जांच की जा रही है।

 

मूसेवाला हत्या का खुलासा

0

कांग्रेस नेता और सिंगर सिद्धू मूसेवाला की हत्या के अस्सी दिन बाद उनके पिता बलकार सिंह ने आरोप लगाया है कि हत्या के पीछे उनके कुछ करीबी दोस्त और राजनेता थे. सिंगर और कांग्रेस नेता सिद्धू मूसेवाला की हत्या के अस्सी दिन बाद उनके पिता बलकार सिंह ने आरोप लगाया है कि हत्या के पीछे उनके कुछ करीबी दोस्त और राजनेता थे. उन्होंने कहा कि वह जल्द ही इन लोगों के नाम जारी करेंगे. बलकार सिंह ने कहा कि सिद्धू मूसेवाला की हत्या इसलिए की गई क्योंकि वह बहुत ही कम समय में लोकप्रियता के पायदान पर चढ़ गए थे और कुछ लोग इसे बर्दाश्त नहीं कर सके. बलकार सिंह ने कहा कि सरकार को भी गुमराह किया गया था.

ये भी पढ़िए –हरनाज संधू वायरल वीडियो

उन्होंने बताया, ‘कुछ लोग चाहते थे कि वह उनके माध्यम से अपने करियर में सभी सौदे करें, लेकिन सिद्धू स्वतंत्र थे. यह वे स्वीकार नहीं कर सके और उन्हें मार डाला.’ बता दें कि 29 मई को पंजाब के मनसा जिले में अज्ञात हमलावरों ने गायक-राजनेता सिद्धू मूसेवाला की गोली मारकर हत्या कर दी थी. सिद्धू मूसेवाला की राज्य सरकार द्वारा सुरक्षा कम करने के एक दिन बाद गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. उनके साथ जीप में यात्रा कर रहे उनके चचेरे भाई और एक दोस्त भी हमले में घायल हो गए थे. रिपोर्ट से पता चला कि गोली लगने के 15 मिनट के भीतर उसकी मौत हो गई और उसके शरीर में 19 गोलियां लगी थीं.बता दें कि पिछले महीने ही सिद्धू मूसेवाला की हत्या के मुख्य साजिशकर्ता गैंगस्टर गोल्डी बराड़ के दो साथियों को पंजाब से उस समय पकड़ लिया गया जब वे हरियाणा भागने की कोशिश कर रहे थे. डीजीपी के मुताबिक, बठिंडा के मलकीत सिंह उर्फ किट्टा और हरदीप सिंह उर्फ मम्मा को स्थानीय पुलिस के साथ संयुक्त अभियान चलाकर पुलिस के गैंगस्टर निरोधक कार्य बल (एजीटीएफ) की टीम ने गिरफ्तार कर लिया.

ये भी पढ़िए –गुरुजी को मिली धमकी

पुलिस महानिदेशक के मुताबिक गिरफ्तार किए गए दोनों ही लोगों की आपराधिक पृष्ठभूमि रही है. सिद्धू मूसेवाला की हत्या में कथित रूप से शामिल गैंगस्टर जगरूप सिंह रूपा और मनप्रीत सिंह उर्फ मन्नू कुसा नामक दो गैंगस्टर पिछले महीने अमृतसर के एक गांव में पंजाब पुलिस के साथ करीब पांच घंटे तक चली मुठभेड़ में मारे गए थे. मूसेवाला की हत्या के पीछे गोल्डी बराड़ कथित तौर पर मुख्य साजिशकर्ता है.डीजीपी गौरव यादव ने कहा कि मूसेवाला की हत्या में किट्टा और मम्मा की भूमिका से इंकार नहीं किया जा सकता है और हम उसकी भी जांच कर रहे हैं. पुलिस ने उनके कब्जे से सात पिस्तौल (छह 0.32 बोर और एक 0.30 बोर) के अलावा गोला-बारूद और एक सहायक उप-निरीक्षक रैंक के पुलिस अधिकारी की वर्दी भी बरामद की.

ये भी पढ़िए –मंत्रियों की लिस्ट जारी

मंत्रियों की लिस्ट जारी

0

आखिर शिंदे-फडणवीस सरकार के मंत्रियों के विभागों की लिस्ट जारी हो गई. आज (14 अगस्त, रविवार) मंत्रियों के पोर्टफोलियो राज्यपाल की मंजूरी के बाद घोषित कर दिए गए हैं. सीएम एकनाथ शिंदे ने नगर विकास विभाग अपने पास रखा है. देवेंद्र फडणवीस के पास गृह और वित्त विभाग रहेगा. गुलाब राव पाटील को एक बार फिर जल संसाधन के साथ स्वच्छता विभाग दिया गया है. संजय राठोड़ जो पहले वन मंत्री थे, उन्हें अन्न और औषधि विभाग दिया गया है. बीजेपी की ओर से बात करें तो चंद्रकांत पाटील उच्च शिक्षा ,तकनीकी शिक्षा, वस्त्रोद्योग मंत्री बनेे हैं. सुधीर मुनगंटीवार वन, सांस्कृतिक और मत्स्य मंत्री बनाए गए हैं. बीजेपी शिवसेना की पिछली सरकार में वे वित्तमंत्री थे.

ये भी पढ़िए – गुरुजी को मिली धमकी

राधा कृष्ण विखे पाटील को राजस्व, पशुसंवर्धन और दुग्ध विकास के विभाग दिए गए हैं. डॉ. विदय कुमार गावित को आदिवासी विकास विभाग दिया गया है. गिरीश महाजन ग्राम विकास,पंचायती राज, मेडिकल शिक्षा, क्रीड़ा और युवक कल्याण मंत्री बनाए गए हैं.रवींद्र चव्हाण को लोक निर्माण मंत्री बनाया गया है. मंगल प्रभात लोढा पर्यटन, महिला और बाल विकास मंत्री बनाए गए हैं. अतुल सावे सहकारिता मंत्री बनाए गए हैं. आज सीएम शिंदे और फडणवीस के बीच मुख्यमंत्री के ठाणे स्थित नंदनवन आवास में करीब दो घंटे तक मीटिंग हुई.

ये भी पढ़िए – हरनाज संधू वायरल वीडियो

सूत्रों के हवाले से खबर है कि इसी मीटिंग में विभागों के बंटवारे को लेकर लिस्ट पर शिंदे गुट और बीजेपी की ओर से मुहर लग गई और मंत्रियों के पोर्टफोलियो लॉक होकर राज्यपाल की मंजूरी के लिए राजभवन भिजवा दिए गए.मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के शपथ ग्रहण के बाद पहले मंत्रिमंडल विस्तार में देरी हो रही थी तो विपक्ष हंगामा कर रहा था. 38 दिनों बाद मंत्रिमंडल विस्तार हुआ तो विभागों के बंटवारे में हो रही देरी पर सवाल उठ रहे थे. शिंदे गुट और बीजेपी के बीच उर्जा और उद्योग विभाग को लेकर रस्सीखेंच शुरू होने की बात सामने आई थी.

ये भी पढ़िए – मुस्लिम अभिनेता ने फेहराया तिरंगा

पोर्टफोलियो की घोषणा में देरी की यह एक अहम वजह मानी जा रही थी. महा विकास आघाड़ी सरकार के फॉर्मूले के हिसाब से देखें तो शिवसेना को सीएम पद दिया गया था तो बाकी सारे अच्छे विभाग एनसीपी और कांग्रेस को दिए गए थे. ऐसे में उर्जा विभाग कांग्रेस को मिले थे लेकिन उद्योग मंत्रालय शिवसेना के हाथ ही आया था. अब जब शिंदे गुट और बीजेपी ने मिल कर सरकार बनाई तो बीजेपी उद्योग विभाग को अपने पास रखना चाह रही थी. लेकिन उद्योग विभाग आखिर शिंदे गुट के उदय सामंत के पास गया.मंत्रिमंडल विस्तार में बीजेपी के नौ और शिंदे गुट के नौ मंत्रियों ने शपथ ली थी जिनके बीच विभागों का बंटवारा हुआ. बीजेपी के चंद्रकांत पाटील, सुधीर मुनगंटीवार, गिरीश महाजन, सुरेश खाडे, राधाकृष्ण विखे पाटील, अतुल सावे, रवीन्द्र चव्हाण, विजय कुमार गावित और मंगलप्रभात लोढा के विभाग आज तय हो गए.

ये भी पढ़िए – राजू श्रीवास्तव के लिए महामृत्युंजय पाठ

गुरुजी को मिली धमकी

0

बीते कुछ दिनों में कई बॉलीवुड फिल्मों को सोशल मीडिया पर बायकॉट किया गया है, जिसका बड़ा असर फिल्म के बॉक्स ऑफिस कलेक्शन पर भी देखने को मिला है। इन दिनों आमिर खान की फिल्म लाल सिंह चड्ढा और अक्षय कुमार की रक्षा बंधन को बायकॉट किया जा रहा है। इस बीच शाहरुख खान की अपकमिंग फिल्म पठान को लेकर भी सोशल मीडिया पर थोड़ा बहुत बायकॉट किए जाने को लेकर पोस्ट देखने को मिल रहे हैं। इस बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ‘गुरु भाई’ साधू देवनाथ को जान से मारने की धमकी मिली है।दरअसल कच्छ साधू समाज (गुजरात) के मुखिया साधू देवनाथ ने शाहरुख खान की अपकमिंग फिल्म पठान का बायकॉट करने का ऐलान किया। जिसके बाद उन्हें जान से मारने की धमकी मिली है। ई टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक साधू देवनाथ ने कहा, ‘सलीम अली (शाहरुख खान) के फैन ने बिना सिर वाली मेरी एक तस्वीर ट्विटर पर शेयर की। ये शाहरुख खान की पीआर टीम से है, जो मेरे गुरुवार को किए गए ट्वीट के खिलाफ है, जहां मैंने सनातन साथियों से शाहरुख खान की आने वाली फिल्म पठान को भी वैसे ही बायकॉट करने की अपील की, जैसे आमिर खान की लाल सिंह चड्ढा को किया।’

साधू देवनाथ ने आगे कहा, ‘मैं किसी भी फिल्म के खिलाफ नहं हूं, लेकिन उन अभिनेताओं के खिलाफ हूं, जिनके इंडियन फॉलोअर्स हैं और वो हमारे ही देश को गाली देते हैं।’ बातचीत में साधू ने ये भी बताया कि वो किसी भी धर्म, जाति या समूह के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन उन लोगों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा, जो देश और हमारे लोगों के खिलाफ बोलेगा।’ बता दें कि पठान में शाहरुख खान के साथ ही दीपिका पादुकोण और जॉन अब्राहम मुख्य किरदारों में नजर आएंगे।
शाहरुख खान फिल्म पठान से कमबैक कर रहे हैं। पठान, जनवरी 2023 में रिलीज होगी। फिल्म में जॉन अब्राहम और दीपिका पादुकोण भी मुख्य किरदार में नजर आएंगे। इसके अलावा शाहरुख खान ने राजकुमार हिरानी के साथ फिल्म डंकी का भी आधिकारिक ऐलान कर दिया है। फिल्म में शाहरुख खान की जोड़ी तापसी पन्नू के साथ बनी है। फिल्म 22 दिसंबर 2023 को सिनेमाघरों में दस्तक देगी। इन दोनों फिल्मों के अलावा शाहरुख, निर्देशक एटली के साथ भी फिल्म जवान में नजर आएंगे। फिल्म के टीजर को दर्शकों ने काफी पसंद किया था। शाहरुख खान की जवान, 2 जून 2023 को हिंदी के साथ ही तमिल, तेलुगू, मलयालम और कन्नड़ में रिलीज होगी।

ये भी पढ़िए – हरनाज संधू वायरल वीडियो

हरनाज संधू वायरल वीडियो

0

मिस यूनिवर्स हरनाज संधू मिस साउथ अफ्रीका 2022 ब्यूटी पेजेंट का हिस्सा बनने लेने के लिए साउथ अफ्रीका रवाना हुई थीं। बता दें बीती रात प्रिटोरिया के टाइम्स स्क्वायर के सन एरिना में इस इवेंट का आयोजन हुआ। इस ब्यूटी पेजेंट में मिस साउथ अफ्रीका 2021 की विनर लालेला मसवाने ने नदावी नोकेरी को विजेता का ताज पहनाया गया। हरनाज़ इस पेजेंट में एक खूबसूरत ऑरेंज डीप-नेक बॉडीकॉन गाउन ड्रेस को पहने पहुंची। उनका ये लुक बेहद अट्रैक्टिव दिखा। 22 साल की ब्यूटी क्वीन हरनाज की रेड कारपेट पर शानदार एंट्री ने फैंन्स का दिल जीत लिया। रेड कारपेट पर अपनी दिलकश अदाओं के साथ इठलाती हरनाज का इस इवेंट में फिल्माया गया वीडियो खूब वायरल हो रहा है।

ये भी पढ़िए – मुस्लिम अभिनेता ने फेहराया तिरंगा

बता दें शनिवार को, मिस यूनिवर्स के इंस्टाग्राम पेज ने मिस साउथ अफ्रीका 2022 से हरनाज़ संधू के कई वीडियो को शेयर किया। एक पोस्ट में 22 साल की हरनाज को अपनी बॉडीकॉन को फ्लॉन्ट करते हुए देखा गया, दूसरे में उन्हें वहां मौजूद क्राउड को ‘नमस्ते’ कहते हुए दिखाया गया है। हरनाज की इन पोस्ट को कैप्शन दिया गया, ‘रेडी, ड्रेस, गो! इट्स मिस साउथ अफ्रीका फिनाले नाइट,‘ और ‘नमस्ते, दक्षिण अफ्रीका‘। हरनाज की इस खूबसूरत ड्रेस को डिजाइनर गर्ट-जोहान कोएत्ज़ी द्वारा डिजाइन किया गया था। मिस साउथ अफ्रीका फिनाले के लिए ब्यूटी क्वीन  हरनाज ने ब्राइट ऑरेंज बॉडकॉन गाउन को चुना। डीप नेकलाइन और ऑफ-शोल्डर स्लीव्स स्टाइल की इस ड्रेस का लुक काफी हैवी दिखा। फ्लोर टच लॉन्ग गाउन में  ये ड्रेप गाउन हरनाज के कर्व्स पर बेहद आकर्षक नजर आया। इस गाउन के साथ पहनी गई साटिन केप ने इस लुक को कंपलीट कर दिया।

ये भी पढ़िए – राजू श्रीवास्तव के लिए महामृत्युंजय पाठ

मुस्लिम अभिनेता ने फेहराया तिरंगा

0

सुपरस्टार आमिर खान के बाद अब सलमान खान ने भी अपने घर पर तिरंगा फहराया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के महत्वाकांक्षी ‘हर घर तिरंगा अभियान’ के साथ जुड़ते हुए देशवासी अपने घरों पर तिरंगा फहरा रहे हैं और इस मिशन में तमाम दिग्गज सितारे भी साथ जुड़ रहे हैं। हाल ही में आमिर खान द्वारा घर पर तिरंगा फहराने के बाद अब सलमान खान के गैलेक्सी अपार्टमेंट पर भी तिरंगा लहराता नजर आया। आजादी के 75 साल पूरे होने की खुशी देश के लोगों में साफ देखने को मिल रही है। सलमान खान गैलेक्सी अपार्टमेंट में रहते हैं और उनके निवास पर तिरंगा लहराता देखकर तमाम फोटोग्राफर्स ने तस्वीरें और वीडियो रिकॉर्ड किए जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं।

ये भी पढ़िए –  राजू श्रीवास्तव के लिए महामृत्युंजय पाठ

आपको बता दें कि अमिताभ बच्चन, आमिर खान, रणबीर कपूर, आलिया भट्ट, शिल्पा शेट्टी, ऋतिक रोशन, अक्षय कुमार, कंगना रनौत, अनिल कपूर और सनी देओल जैसे तमाम सितारे इस मिशन का हिस्सा बन चुके हैं। बता दें कि हर घर तिरंगा अभियान के तहत सरकार, संस्कृति मंत्रालय और तमाम केंद्रीय मंत्रियों सहित अन्य लोगों ने भी भारत के नागरिकों से 13 से 15 अगस्त तक अपने घरों पर तिरंगा फहराने की अपील की है। अभियान की वेबसाइट के माध्यम से मंत्रालय अपने घरों में झंडा लगाने के उचित तरीके सुझा रहा है और लोगों से तिरंगे के साथ सेल्फी लेने की अपील कर रहा है। स्वतंत्रता दिवस तक कम से कम 20 करोड़ झंडे फहराने का विचार है।

ये भी पढ़िए – तिरंगा यात्रा में लगाए पाकिस्तान के नारे

राजू श्रीवास्तव के लिए महामृत्युंजय पाठ

0

दिल का दौरा पड़ने के बाद दिल्ली के एआईआईएमएस अस्पताल में एडमिड मशहूर कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव की बेहतरी के लिए उनके फैन्स और तमाम शुभचिंतक दुआ कर रहे हैं। यहां तक कि राजू श्रीवास्तव की खराब तबीयत को लेकर उनके इंडस्ट्री फ्रेन्ड्स भी चिंतित हैं। सभी उनके लिए दुआओं की कामना करन रहे हैं। मशहूर सिंगर कैलाश खेर ने खासकर ट्वीट कर राजू श्रीवास्तव के लिए लोगों से प्रार्थना करने और अफवाहें फैलाना बंद करने की गुजारिश भी की है।राजू श्रीवास्तव को 10 अगस्त को जिम में कसरत करने के दौरान दिल का दौरा पड़ा था जिसके चलते उन्हें नई दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती करवाया गया। अभी भी उनका इलाज चल रहा है और उसकी हालत नाजुक बनी हुई है। उनकी अच्छी सेहत की कामना के लिए सिंगर कैलाश खेर ने अपने इंस्टाग्राम हैंडल और ट्विटर पर एक वीडियो साझा करते हुए अपने प्रशंसकों और सभी से राजू श्रीवास्तव के जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना करने और अफवाहें फैलाना बंद करने का अनुरोध किया है।

आपको बता दें, अपने इस वीडियो में उन्होंने कहा है, ‘नमस्कार, मैं कैलाश खेर, भारत और पूरी दुनिया से अनुरोध करता हूं कि राजू श्रीवास्तव हमारे पारिवारिक मित्र और बड़े भाई हैं और उन पर एक आपदा आ गई है। उनके स्वास्थ्य में गिरावट आई है। जिस स्थिति के कारण वह अस्पताल में भर्ती है और कई लोग अफवाह फैला रहे हैं कि उनका निधन हो गया या वह नहीं रहे। ऐसी झूठी खबरें ना फेलाएं मैं गुजारिश करता हूं कि ये सब कहने की बजाय उनके अच्छे स्वास्थ्य के लिए प्रार्थना करें क्योंकि प्रार्थना में बहुत शक्ति होती है।

ये भी पढ़िए –  वकील ने की शर्मनाक हरक़त

हमने व्यक्तिगत स्तर पर उनके लिए 21 संतों द्वारा महामृत्युंजय मंत्र के पाठ आयोजन भी किया है। सोशल मीडिया पर शेयर किए अपने इस वीडियो में कैलाश खेर ने राजू श्रीवास्तव के व्यक्तिव के बारे में बात करते हुए कहा कि एक सामान्य बैकग्राउंड के होने के बावजूद उन्होंने जिंदगी में बहुत असामान्य सफलता हासिल की है। सिंगर ने आगे कहा, ‘वह एक तरह के व्यक्ति हैं जिन्होंने खुद को एक बहुत ही सामान्य पृष्ठभूमि से आने के बावजूद भी असामान्य रूप से खुद को स्थापित किया है और उनके जैसे लोग समाज में बहुत महत्वपूर्ण हैं इसलिए अफवाहें फैलाने की बजाय आप उनके लिए प्रार्थना करें।‘आपको बता दें कैलाश खैर से पहले इंडस्ट्री में राजू श्रीवास्तव के बाकी सहयोगियों शेखर सुमन और सुनील पॉल ने भी स्वास्थ्य अपडेट पोस्ट कर उनके स्वास्थ्य में सुधार होने की जानकारी दी थी।

ये भी पढ़िए –  तिरंगा यात्रा में लगाए पाकिस्तान के नारे

तिरंगा यात्रा में लगाए पाकिस्तान के नारे

0

उत्तरप्रदेश के सहारनपुर में आतंकी नदीम की गिरफ्तारी का मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ था कि कस्बे में तिरंगा यात्रा में एक निजी स्कूल के छात्रों ने पाकिस्तान के नारे लगाए। पहले तो स्कूल प्रबंधन ने घटना को दबाने का प्रयास किया। लेकिन, जब वीडियो वायरल हुए तो खलबली मच गई। तुरंत छह छात्रों के खिलाफ मुकदमा कायम किया गया है।

ये भी पढ़िए – बैंक को लगा चूना

सिल्वर ओके पब्लिक स्कूल प्रबंधन ने छात्रों को निलंबित कर दिया है। घटना गंगोह कस्बे की है। शनिवार दोपहर में क्षेत्र के सभी स्कूलों की संयुक्त तिरंगा रैली निकाली जा रही थी। रैली गंगोह के बाईपास से गुजर रही थी, तभी एक स्कूल के छात्रों ने पाकिस्तान के नारे लगाने शुरू कर दिए। हालांकि उस समय स्कूल प्रबंधन ने मामले को दबा लिया।

ये भी पढ़िए – वकील ने की शर्मनाक हरक़त

वकील ने की शर्मनाक हरक़त

0

बलिया की एक महिला ने अपने वकील पति पर धर्म छिपाकर शादी करने और देवरों के साथ मिलकर गैंगरेप करने का आरोप लगाया है। पीड़िता शनिवार को हिन्दू संगठन से जुड़े लोगों के साथ शनिवार को कर्नलगंज थाने पहुंची। पुलिस ने उसकी शिकायत पर आरोपित पति समेत तीन के खिलाफ धर्म छिपाकर शादी करने, गैंगरेप और गर्भपात कराने का मुकदमा दर्ज किया है। युवती ने कर्नलगंज थाने में जाति और धर्म छिपाकर शादी करने के आरोपित अधिवक्ता सोनू उर्फ अनुज प्रताप सिंह, उसके भाइयों मो. असलम व मो. नूर आलम के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। पुलिस को बताया कि नर्सिंग की ट्रेनिंग के दौरान 2021 में अनुज से उसकी दोस्ती हुई। आरोपित ने धर्म छिपाया था और उसके साथ वाराणसी दर्शन करने गया।

ये भी पढ़िए – बनाये तिरंगी फ़ूड

दरअसल एक साल तक शादी का झांसा देकर पीड़िता से शारीरिक संबंध बनाए। 24 फरवरी 2022 को ऑनलाइन शादी का रजिस्ट्रेशन कराया। पीड़िता के गर्भवती होने पर दवा देकर गर्भपात करा दिया। इसके बाद उसे धर्म परिवर्तन कराने के लिए जोर जबरदस्ती करने लगा। पीड़िता के विरोध करने पर बंधक बनाकर उसका शारीरिक शोषण किया। इस दौरान अनुज के दोनों भाइयों ने भी उसके साथ गलत काम किया। इस मामले की जांच कर रही कर्नलगंज पुलिस को पता चला है कि युवती ने कोर्ट मैरिज की है। कुछ दिन पहले उसका पति से विवाद हुआ था। उसने कोर्ट में तलाक की अर्जी दी है। दोनों में समझौता नहीं हुआ तो कहानी बदल गई। पिछले साल इसी युवती ने अपने प्रेमी अधिवक्ता के साथ मिलकर सिविल लाइंस में प्रतापगढ़ के दीपक पाल समेत अन्य के खिलाफ लाखों रुपयों की ठगी और गैंगरेप का मुकदमा दर्ज कराया था। 22 मई 2022 को दीपक एसआरएन से भाग निकला था। आगरा से उसकी गिरफ्तारी हुई थी।

ये भी पढ़िए – बैंक को लगा चूना

बैंक को लगा चूना

0

गोल्ड लोन देने के लिए यूको बैंक ने शुभम ज्वैलर्स के मालिक रामवीर पुरोहित को वैल्यूवर नियुक्त किया था। सोना गिरवी रखे जाने पर रिपोर्ट बनाने का जिम्मा रामवीर पुरोहित का था। जिसने साथियों की मदद से नकली सोने को असली होने की रिपोर्ट तैयार कर बैंक में लगाते हुए करीब 40 लाख रुपये का लोन करा दिया। समय पर किस्ते जमा नहीं हुई। जिसके चलते ब्याज समेत करीब 40 लाख रुपये का हेरफेर हुआ। छह अगस्त को शिक्षक सुरेंद्र की शिकायत पर बंथरा पुलिस ने रामवीर पुरोहित को उसके दो साथियों संग गिरफ्तार कर लिया। जिसके बाद बैंक की तरफ से जांच कराई गई। नए वैल्यूवर से सोने की जांच कराए जाने पर धोखाधड़ी सामने आई। यूको बैंक के मुख्य प्रबंधक सौरभ पाण्डेय की तरफ से रामवीर पुरोहित व उसके साथियों के खिलाफ आशियाना और सरोजनीनगर कोतवाली में मुकदमे दर्ज कराए गए हैं।

ये भी पढ़िए – बनाये तिरंगी फ़ूड

यूको बैंक के मुख्य प्रबंधक सौरभ पाण्डेय के मुताबिक रामवीर पुरोहित ने औरंगाबाद, सरोजनीनगर चन्द्रावल और सरोजनीनगर बेहसा ब्रांच में गिरवी रखे गए सोने की रिपोर्ट तैयार कर जमा कराई थी। जिसमें आधार पर करीब 40 लाख के लोन पास किए गए। अधिकांश में रुपये वापस नहीं मिले। सौरभ के अनुसार आशियाना औरंगाबाद स्थित ब्रांच में आरोपी की रिपोर्ट पर सात लोन पास किए गए थे। जिनमें से पांच में फर्जी रिपोर्ट लगा कर 24 लाख का लोन जारी किए जाने की बात सामने आई। वहीं, चन्द्रावल ब्रांच में छह लोगों के गिरवी रखे गए जेवरों की जांच वैल्यूवर जुगल किशोर रस्तोगी से कराई गई। दो पैकेट में नकली जेवर मिले। जिन पर करीब 12 लाख का लोन कराया गया था। वहीं, सरोजनीनगर बेहसा स्थित ब्रांच में रामवीर की रिपोर्ट पर पास किए गए सात में से दो लोन में अनियमित्ता सामने आई। बेहसा ब्रांच से करीब चार लाख रुपये का लोन नकली गहने को असली बता कर लिया गया था।

ये भी पढ़िए – हेयर ग्रोथ के लिए अपनाये

शुभम ज्वैलर्स के संचालक रामवीर पुरोहित ने सबसे पहले यूको बैंक चारबाग शाखा में जाली रिपोर्ट जमा करते हुए नकली गहनों पर लोन कराया था। गिरफ्तारी के बाद आरोपी ने बंथरा पुलिस को कई अहम जानकारियां दी थी। जिसके बाद ही बैंक ने भी नए वैल्यूवर जुगल किशोर रस्तोगी से जांच कराने के साथ ही गोल्ड लोन का ऑडिट कराया। सौरभ पाण्डेय की तरफ से दो मुकदमे आशियाना कोतवाली में दर्ज कराए गए हैं। जिनमें रामवीर पुरोहित के साथ अनुपमा श्रीवास्तव निवासी सरदारीखेड़ा आलमबाग, शैलेंद्र कुमार निवासी आशियाना एलडीए कालोनी, बंथरा बाजार निवासी वीरेंद्र जायसवाल और बंथरा सिंकदरपुर निवासी विजय सैनी को भी आरोपी बनाया गया है। एडीसीपी मध्य राजेश श्रीवास्तव के मुताबिक रामवीर पुरोहित साथी राघवेंद्र श्रीवास्तव और उमेश यादव के साथ पहले से ही जेल में बंद है। ऐसे में बचे हुए नामजद आरोपियों की तलाश में दबिश दी जा रही है।

बनाये तिरंगी फ़ूड

0

फूड किसी भी फेस्टिवल की आत्मा होती है। त्योहार के हिसाब कई डिशेज बनाई जाती हैं। 15 अगस्त पर अगर आप थीम के साथ मैच करती हुई रेसिपीज बनाना चाहते हैं, तो ये रेसिपीज आपके लिए परफेक्ट ऑप्शन्स हैं। स्वतंत्रता दिवस पर अपने परिवार और दोस्तों को आसान, झटपट और स्वादिष्ट डिशेज से सरप्राइज दे सकते हैं।

तिरंगा/बिरयानी पुलाव – बिरयानी और पुलाव ज्यादातर लोगों को पसंद होते हैं। कई हम में से कई पुलाव/बिरयानी लवर्स तो इसे रोजाना खा सकते हैं। इस 15 अगस्त को तिरंगे की थीम वाली बिरयानी कैसी रहेगी। आप हरा रंग पाने के लिए पालक, केसर के लिए टमाटर प्यूरी और सफेद के लिए पनीर क्यूब्स या टोफू मिला सकते हैं। इसलिए रेगुलर बिरयानी बनाने की बजाय इस बार ट्राई कलर की बिरयानी ट्राई करें।

ढोकला – ढोकला अब सिर्फ गुजरात तक सीमित नहीं है। इस स्वतंत्रता दिवस पर आपने तिरंगा ढोकला आजमाने के बारे में आपने क्या सोचा हओ? केसरिया रंग के लिए गाजर का रस, सफेद के लिए रवा का घोल और हरे के लिए पालक की प्यूरी का प्रयोग करें। ढोकला को पुदीना की चटनी के साथ परोसें।

तिरंगा इडली – साउथ इंडियन फूड लवर्स हैं, तो ट्राई कलर इडली आपके लिए है। आप केसरिया कलर के लिए गाजर की प्यूरी, व्हाइट के लिए कोकोनट चटनी और हरे के लिए पुदीने की चटनी का इस्तेमाल कर सकते हैं। इन तीनों चटनियों को व्हाइट इडली के ऊपर शेप में डालकर खाएंं।

ट्राई कलर ड्रिंक्स – ऑरेंज कलर ड्रिंक्स बच्चों की फेवरेट ड्रिंक होती है। आप इस 15 अगस्त कुछ और एक्सपेरिमेंट कर सकते हैं। ग्लूकोज ड्रिंक या संतरे का जूस ऑरेंज कलर का काम कर सकता है। सफेद रंग के लिए, आप लीची ड्रिंक और नींबू के रस में से किसी को चुन सकते हैं जबकि हरे रंग के लिए, हरे आम / सेब ड्रिंक को चुन सकते हैं।

ये भी पढ़िए – हेयर ग्रोथ के लिए अपनाये

हेयर ग्रोथ के लिए अपनाये

0

अगर आप बाल झड़ने से परेशन है। आप बालों को कितने भी अच्छे शैम्पू या कंडीशनर से वॉश कर लें लेकिन अगर आप बालों पर तेल का इस्तेमाल नहीं करते, तो आपके बाल मजबूत नहीं हो सकते हैं। हालाँकि हम सभी जानते हैं कि हेल्दी बालों के लिए ऑयल मसाज बहुत जरूरी है। वहीं, तेल चुनते समय आपको ध्यान देना चाहिए कि कहीं आप केमिकल बेस्ड हेयर ऑयल का इस्तेमाल तो नहीं कर रहे।

नीम और कोकोनट ऑयल – नीम के कुछ पत्तों को दो दिन तक सुखा लें। 100 मिलीलीटर बादाम के तेल को सूखे नीम के पत्तों के साथ उबालें। पत्तों को एक हफ्ते के लिए तेल में भिगोकर रख दें। फिर तेल को छान लें और यह आपके उपयोग के लिए तैयार है।

कलौंजी और कोकोनट ऑयल – एक फूड प्रोसेसर में एक बड़ा चम्मच कलौंजी के बीज पीस लें। एक कांच की बोतल में जैतून या नारियल का तेल भरें और उसमें पीसा हुआ बीज डालें। 2-3 दिनों में तेल उपयोग के लिए तैयार हो जाएगा। हर बार जब आप अपने स्कैल्प की मालिश करना चाहें, तो इस तेल को थोड़ी मात्रा में गर्म करें और इसका इस्तेमाल करें।

कपूर का तेल, अरंडी का तेल और कोकोनट ऑयल – बालों के विकास के लिए कपूर का तेल, अरंडी का तेल और नारियल का तेल बराबर मात्रा में मिलाएं और इसे अपनी जड़ों और बालों पर मालिश करें। इसे लगाने से पहले डबल बॉयलर पर थोड़ी देर गर्म कर लें और फिर इसका इस्तेमाल करें।

कोकोनट और करी पत्ता ऑयल – एक मुट्ठी करी पत्ते को दो दिनों तक धूप में सुखाएं। फिर इसे 100 मिलीलीटर नारियल के तेल में उबाल लें। आंच बंद कर दें और इसे ठंडा होने दें। अपने बालों और खोपड़ी की मालिश करने के लिए बालों के विकास के तेल के मिश्रण को छान लें और इसका इस्तेमाल करें।

ये भी पढ़िए –  बनाये ऐसी लज़ीज़ खीर

बनाये ऐसी लज़ीज़ खीर

0

घिया या लौकी गर्मियों की पसंदीदा सब्जी है। अगर आपको या आपके बच्चों को करी या सब्जी के रूप में घिया पसंद नहीं है, तो आप इस सब्जी से मीठी डिश भी बना सकते हैं। घिया खीर को ठंडा करके परोसा जाता है। इस स्वीट डिश को बनाने के लिए आपको बस घी, दूध, चीनी, घी, इलायची और कुछ सूखे मेवे जैसे काजू, बादाम और किशमिश चाहिए। अगर आप घर पर अलग-अलग रेसिपीज ट्राई करना पसंद करते हैं, तो इस रेसिपी को जरूर ट्राई कर लें। बच्चे हों या बड़े, यह रेसिपी सभी को जरूर पसंद आएगी। इस खीर रेसिपी को आप त्योहारों या खास मौकों पर भी ट्राई कर सकते हैं। इस रेसिपी को जरूर ट्राई करें।


घीया खीर ऐसे बनाये

एक बर्तन में दूध डालकर मध्यम आंच पर रखें। एक उबाल आने के बाद, आंच को कम कर दें। सबसे पहले लौकी को छीलकर कद्दूकस कर लें। घिया से सारा अतिरिक्त पानी निकाल कर एक प्याले में निकाल लीजिए. अब एक पैन में घी गर्म करें और कढ़ाई में कद्दूकस किया हुआ घी डालें। लगभग 5-6 मिनट तक भूनें। उबलते दूध में भूना हुआ घी, चीनी और पिसी हुई इलायची डालें। घोल दें। साथ ही किशमिश के साथ बारीक कटे बादाम और काजू भी डाल दीजिए. आँच को मध्यम-मध्यम रखें और हर दो मिनट के बाद चलाएं। खीर को थोड़ा गाढ़ा होने तक पकाएं. इसमें कहीं भी 10-15 मिनट का समय लग सकता है। खीर को ज्यादा गाढ़ी न होने दें, ठंडा होने पर खीर और गाढ़ी हो जाएगी। थोड़ा गाढ़ा होने के बाद आंच बंद कर दें। जब खीर थोड़ी गाढ़ी हो जाए, तो आंच बंद कर दें और ठंडा होने दें, अब खीर को 1-2 घंटे के लिए या ठंडा होने तक फ्रिज में रख दें। आप इसमें खोया डालकर भी इसे सर्व कर सकते हैं। बच्चों को यह रेसिपी जरूर पसंद आएगी।

ये भी पढ़िए – पिम्पल्स हटाने के उपाए

पिम्पल्स हटाने के उपाए

0

क्या आप पिम्पल्स होने पर अक्सर एक दिन में पिम्पल्स ठीक करने के उपाय गूगल करते रहते हैं? अगर आपका जवाब हां है, तो फिर यहां बताए उपाय आपकी हेल्प कर सकते हैं लेकिन सभी पिम्पल्स को एक दिन में ठीक करने की गारंटी नहीं ली जा सकती क्योंकि पिम्पल्स भी कई तरह के होते हैं और आपकी स्किन क्वालिटी भी पिम्पल्स को जल्दी या देर से ठीक करने में खास रोल निभाती है। जैसे ऑयली स्किन पर पिम्पल्स को ठीक करने में काफी मेहनत करनी पड़ती है। आप अगर कहीं पार्टी या गैदरिंग में जा रहे हैं, तो ये नेचुरल तरीके आपके पिम्पल्स को काफी हद तक सुखा देंगे या फिर इनकी विजिबिलिटी कुछ कम कर देंगे। बाकी काम आप मेकअप से कर सकते हैं।

शहद – एक कटोरी में, 1 बड़ा चम्मच ऑर्गेनिक शहद और 1/2 बड़ा चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट को धीरे से पिम्पल्स वाली जगह पर लगाएं। इसे 30 मिनट के लिए छोड़ दें। अपने चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।

एस्पिरिन – एक एस्पिरिन टैबलेट को तब तक क्रश करें, जब तक कि यह बारीक पाउडर न हो जाए। पेस्ट बनाने के लिए पाउडर को पानी की एक बूंद के साथ मिलाएं। इस पेस्ट को धीरे से पिम्पल्स वाले एरिया पर लगाएं। इसे 5 मिनट के लिए छोड़ दें। अपने चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।

टी ट्री ऑयल – ड्रॉपर बॉटल में, टी ट्री ऑयल की 2 बूंदों को जैतून के तेल के साथ मिलाएं। इस घोल की एक बूंद को पिंपल्स पर लगाएं और इसे 30 मिनट तक बैठने दें। टी ट्री ऑयल को बिना पतला किए उपयोग करने से बचें क्योंकि यह त्वचा में जलन पैदा कर सकता है। इसके बाद इसे फेसवॉश से धो लें।

बेकिंग सोडा – एक कटोरी में, 1 टेबलस्पून बेकिंग सोडा में 1 टेबलस्पून पानी मिलाकर घोल तैयार करें। इस घोल को कॉटन बॉल की मदद से पिंपल्स पर लगाएं। इसे 10 मिनट के लिए छोड़ दें। अपने चेहरे को ठंडे पानी से धो लें और इसके बाद मॉइस्चराइजर लगाएं।

आइस क्यूब – एक आइस क्यूब को एक साफ कपड़े में लपेटें और धीरे से इसे पिम्पल्स पर थपथपाएं। इसे 30 सेकेंड के लिए पिम्पल्स पर रखें। बर्फ को सीधे त्वचा पर लगाने से बचें। बर्फ का टुकड़ा पिघलने तक चेहरे पर लगाएं। सूजन को कम करने और पिम्पल्स को तेजी से कम के लिए इसे दिन में दो बार लगाएं।

ये भी पढ़िए – राकेश झुनझुनवाला का निधन

राकेश झुनझुनवाला का निधन

0

दिग्गज इनवेस्टर राकेश झुनझुनवाला की शनिवार को 62 साल की उम्र में मौत हो गई। राकेश झुनझुनवाला को बिग बुल और भारत के वॉरेन बफेट के नाम से जाना जाता था। हंसल मेहता के निर्देशन में बनी वेब सीरीज Scam 1992 में एक्टर कविन दवे ने राकेश झुनझुनवाला का रोल प्ले किया था। सीरीज में उनका काम बहुत ज्यादा नहीं था लेकिन फिर भी इस किरदार के जरिए उन्होंने बेहिसाब पॉपुलैरिटी हासिल की। राकेश झुनझुनवाला के किरदार को कविन दवे ने बखूबी निभाया और उनके लुक से लेकर उनके अंदाज तक सब कुछ कॉपी कर लिया था। राकेश झुनझुनवाला लुक में कविन दवे की तस्वीरें और मीम सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुए थे।

आपको बता दें कि बीते कुछ वक्त में युवाओं के बीच इनवेस्टिंग का क्रेज काफी बढ़ा है और सिर्फ लॉकडाउन के दौरान बेहिसाब डीमैट अकाउंट खोले गए हैं। बात करें कविन दवे स्टारर वेब सीरीज स्कैम 1992 की तो 10 एपिसोड वाली इस सीरीज में प्रतीक गांधी ने लीड रोल प्ले किया था और इस सीरीज के जरिए उन्हें वो फेम मिला जिसकी उन्हें काफी वक्त से तलाश थी। प्रतीक गांधी के साथ-साथ कविन दवे के काम की भी जमकर सराहना हुई थी। आज राकेश झुनझुनवाला के निधन पर कास्ट उन्हें याद कर रही है।

ये भी पढ़िए – छात्रों ने बनाई यह फिल्म

छात्रों ने बनाई यह फिल्म

0

उत्तर प्रदेश के देवरिया के रामपुर कारखाना क्षेत्र के रहने वाले शहीद रामचन्द्र विद्यार्थी 14 अगस्त 1942 को महज 13 साल की उम्र में कचहरी पर तिरंगा फहराया और पुलिस की कार्रवाई में शहीद हो गए । उस समय वह कक्षा सात के छात्र थे। आजादी के अमृत महोत्‍सव पर देवरिया के एक प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक और छात्रों ने रामचन्द्र विद्यार्थी पर फिल्म बना डाली है। फिल्म का प्रोमो सोशल मीडिया पर जारी हो गया है।

फिल्म रविवार को रामचंद्र विद्यार्थी की पुण्यतिथि पर रिलीज करने की तैयारी है। बमुश्किल 10 हजार रुपये की लागत से तैयार 30 मिनट की इस फिल्म में छात्र, शिक्षक, रसोइयों और बीईओ ने अभिनय किया है। फिल्म की पटकथा प्रधानाध्यापक भोला चौधरी ने लिखी है। यही नहीं उन्होंने निर्देशन के साथ फिल्म में अभिनय भी किया है। भोला पटकथा लेखन के लिए राज्य स्तर पर विभागीय प्रतियोगिताओं में पुरस्कृत किए जा चुके हैं। उन्हें फिल्म बनाने का ख्याल बीते अप्रैल माह में आया। इसके बाद पटकथा तैयार करने के साथ ही बच्चों केा प्रशिक्षित करने में जुट गए। फिर पुराने मकान, वैसे ही कपड़े आदि की तलाश पूरी होने पर शिक्षक की पूरी टीम ने इस पर काम करना शुरू किया।

ये भी पढ़िए – सीएम योगी का पथप्रदर्शन

इस फिल्म में बाल कलाकारों ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया है। सोशल मीडिया पर जारी प्रोमो में भोजपुरी संवाद, गीत, कुर्ता, भगही जैसे परिधान, खपरैल, ढिबरी, झोपड़ी, बाईस्कोप लोगों को उस दौर की याद दिला रही है। भोला चौधरी ने बताया कि बच्चों से लेकर मजिस्ट्रेट तक की वेशभूषा के लिए पुराने तरीके के कपड़े का उपयोग किया गया है। उनके अनुसार पूरी फिल्म मोबाइल एप के जरिए बनायी गई है। जिसके लिए रामचन्द्र विद्यार्थी के गांव, उनके विद्यालय आदि जाकर जानकारियां जुटायी गयीं। इस फिल्म में तीन गीत भी हैं। पांचवीं में पढ़ने वाला दस साल के प्रियांशु ने फिल्म में रामचन्द्र विद्यार्थी की भूमिका निभाई है।

ये भी पढ़िए – लेखिका जेके राउलिंग को ख़तरा

प्रियांशु ने बताया कि वह शहीदों के बारे में तो जानता था पर अपने ही गांव के पास के शहीद रामचन्द्र विद्यार्थी को नहीं जानता था। इस फिल्म में अभिनय कर वह अपने क्षेत्र से शहीद को जान पाया है। प्रियांशु फिल्म को देखकर काफी रोमांचित है। खण्ड शिक्षा अधिकारी रोहित कुमार पाण्डेय, प्रधानाध्यापक भोला चौधरी, शिक्षक श्रीराम गुप्ता, अरविन्द राय, रसोइया बुधिया देवी, छात्र प्रियांशु चौहान, यशोदा देवी अभिभावक, सफाईकर्मी विनोद कुमार आदि ने फिल्म में अभिनय किया है। फिल्म में अपने स्वर से सुधीर तिवारी, भोला चौधरी, अरविन्द कुमार राय ने जोश भर दिया है। देश की आजादी में अपने प्राणों की आहुति देने वाले शहीदों के बारे में बच्चों के जरिये जानने का अवसर मिलेगा। इस फ़िल्म के जरिये परिषद के शिक्षक तथा बच्चों की प्रतिभा प्रदर्शित होगी। यह एक सराहनीय पहल है।

ये भी पढ़िए – नाले की सफाई पड़ी भारी

सीएम योगी का पथप्रदर्शन

0

भारत और पाकिस्‍तान का आज के ही दिन 14 अगस्‍त 1947 को बंटवारा हुआ था। बीजेपी और योगी आदित्‍यनाथ सरकार इस मौके को विभाजन विभिषिका दिवस के रूप में मना रही है। इसके उपलक्ष्‍य में आज शाम 5 बजे 300 प्रतिभागी लोकभवन के बाहर इकट्ठा होंगे। सीएम योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में शाम साढ़े पांच बजे मौन पैदल मार्च निकाला जाएगा। बांदा के मर्का घाट पर गुरुवार को यमुना में 50 लोगों से भरी नाव डूबने के बाद से अब तक 12 लोगों के शव ही बरामद हो सके हैं। रेस्‍क्‍यू ऑपरेशन और लापता लोगों की तलाश का काम लगातार जारी है।

ये भी पढ़िए – लेखिका जेके राउलिंग को ख़तरा

उत्तर प्रदेश डीजीपी मुख्यालय ने स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर सुरक्षा बलों को प्रदेश और जिलों की सीमाओं पर हाई अलर्ट पर रहने को कहा है। सीमाओं पर प्रभावी चेकिंग करने के निर्देश दिए हैं। महत्वपूर्ण आयोजनों में कार्यक्रम शुरू होने से पहले एन्टीसेबोटॉज चेकिंग कराते हुए विशेष सुरक्षा प्रबंध करने तथा पुलिसकर्मियों की रूफ-टॉप ड्यूटी लगाने की हिदायत भी दी गई है।लखनऊ के लोहिया संस्थान में रविवार और सोमवार को बिना डोनर खून उपलब्ध होगा।

ये भी पढ़िए – नाले की सफाई पड़ी भारी

दरअसल सरकारी, प्राइवेट अस्पताल में भर्ती मरीज के तीमारदार जरूरी कार्रवाई पूरी करने के बाद रक्त ले जा सकते हैं। हॉस्पिटल ब्लॉक स्थित ब्लड बैंक में बिना डोनर खून दिया जाएगा। 14 व 15 अगस्त को उपलब्धता के आधार पर खून और अवयव दिया जाएगा। सुबह नौ बजे से बिना डोनर जरूरतमंदों को खून उपलब्ध कराए जाने की प्रक्रिया शुरू होगी। यूपी की खबरें और पल-पल की अपडेट्स जानने के लिए बने रहिए ‘लाइव हिन्‍दुस्‍तान’ के साथ।

ये भी पढ़िए – हर इंसान को मारी गोली

लेखिका जेके राउलिंग को ख़तरा

0

सलमान रुश्दी पर हमले की निंदा करने वाली लेखिका जेके राउलिंग को भी जान से मारने की धमकी मिली है। 57 वर्षीय राउलिंग ने ट्विटर पर एक यूजर के धमकी भरे संदेश के स्क्रीनशॉट साझा किया है। हैरी पॉटर की लेखिका ने रुश्दी को चाकू मारने की घटना पर एक ट्वीट के साथ प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा था कि इस घटना से उन्हें काफी दुख हुआ है। उम्मीद करती हैं कि उपन्यासकार जल्द ठीक हो जाएंगे। इसके जवाब में एक यूजर ने लिखा: “चिंता मत करो। आप अगले हैं।” जिस ट्विटर हैंडल ने राउलिंग को मौत की धमकी दी है, उसने न्यू जर्सी के हमलावर हादी मटर की भी प्रशंसा की है।

मटर ने शुक्रवार को पश्चिमी न्यूयॉर्क में एक साहित्यिक कार्यक्रम के दौरान रुश्दी को कई बार चाकू मारा था। सलमान रुश्दी क्षतिग्रस्त लीवर के साथ वेंटिलेटर पर हैं। हादी मटर द्वारा छुरा घोंपने के बाद उनकी एक आंख खो सकती है। मटर पर दूसरी डिग्री में हत्या के प्रयास और दूसरी डिग्री में हमले का आरोप लगाया गया है। पुलिस हमले के पीछे के मकसद की जांच कर रही है। रुश्दी की किताब ‘द सैटेनिक वर्सेज’ ईरान में 1988 से प्रतिबंधित है, क्योंकि कई मुसलमान इसे ईशनिंदा मानते हैं। ईरानियों ने मशहूर उपन्यासकार सलमान रुश्दी पर हुए हमले को लेकर मिश्रित प्रतिक्रिया दी है।

ये भी पढ़िए – नाले की सफाई पड़ी भारी

हालांकि, अब तक यह स्पष्ट नहीं है कि हमलावर हदी मतार ने रुश्दी पर हमला क्यों किया। ईरान की सरकार और उसकी सरकारी मीडिया ने इस हमले का कोई मकसद नहीं बताया है। लेकिन तेहरान में कुछ लोगों ने लेखक पर हमले की सराहना की, क्योंकि उनका मानना है कि रुश्दी ने 1988 में आई अपनी किताब ‘द सैटेनिक वर्सेज’ से इस्लाम धर्म की छवि को नुकसान पहुंचाया है। राजधानी तेहरान की गलियों में लोगों के जेहन में अब भी खमैनी का फतवा है। रेजा अमिरी नामक एक व्यक्ति ने कहा, मैं सलमान रुश्दी को नहीं जानता, लेकिन मुझे यह सुनकर खुशी हुई है कि उन पर हमला किया गया क्योंकि उन्होंने इस्लाम का अपमान किया है।

ये भी पढ़िए – हर इंसान को मारी गोली

वहीं, तेहरान में रह रहे 34 वर्षीय मोहम्मद महदी मोवाघर ने कहा कि यह सुखद है और यह दिखाता है कि जो लोग हम मुस्लिमों की पवित्र चीजों का अपमान करते हैं उन्हें परलोक में सजा के अलावा इस दुनिया में भी लोगों द्वारा सजा मिलेगी। हालांकि, कुछ ऐसे भी लोग हैं जिन्हें चिंता है कि इस हमले के बाद ईरान दुनिया से और कट जाएगा। वैसे भी ईरान के परमाणु कार्यक्रम को लेकर तनाव चल रहा है। भूगोल शिक्षक माहशिद बराती (39) ने कहा, मैं मानती हूं कि जिन्होंने ऐसा किया है, वे ईरान को अलग-थलग करने का प्रयास कर रहे हैं। बता दें कि ईरान के तत्कालीन (दिवंगत) सर्वोच्च धार्मिक नेता अयातुल्ला रूहोल्लाह खमनेई ने वर्ष 1989 में रुश्दी को मौत की सजा का फतवा जारी किया था।

ये भी पढ़िए – नीट यूजी आंसर पर मिली बड़ी खबर

नाले की सफाई पड़ी भारी

0

ग्रेटर नोएडा के बीटा-2 क्षेत्र के चाई-4 सेक्टर में नाले की सफाई के दौरान लेंटर गिरने से दो मजदूरों की मौत के मामले में नाले का निर्माण करने वाली कंपनी के खिलाफ बीटा-2 थाने में मामला दर्ज किया गया है। अपर पुलिस उपायुक्त (जोन तृतीय) विशाल पांडे ने बताया कि गुरुवार को ग्रेटर नोएडा के चाई-4 सेक्टर में बारिश के मौसम के मद्देनजर एक सूखे नाले की सफाई का काम हो रहा था।

ये भी पढ़िए – नीट यूजी आंसर पर मिली बड़ी खबर

पुलिस अधिकारी ने बताया कि ग्रेटर नोएडा के सेक्टर चाई-4 स्थित पेरिफेरल रोड के किनारे बने नाले की सफाई के दौरान नाले का लेंटर और दीवार भरभरा कर गिर गई और इसके मलबे में दबकर रेहान और दिलशान नामक दो मजदूरों की मौत हो गई, जबकि साहिल गंभीर रूप से घायल हो गया था। उन्होंने बताया कि इस मामले में शुक्रवार को ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के वर्क सर्किल-4 के प्रबंधक सुरेंद्र कुमार ने बीटा-2 थाना में मामला दर्ज कराया है। उनका आरोप है कि नाले का निर्माण करने वाली साईं कंस्ट्रक्शन कंपनी ने घटिया निर्माण सामग्री का उपयोग किया, जिसके चलते नाले की छत का लेंटर टूट कर गिर गया और दो मजदूरों की मौत हो गई। कंपनी की तरफ से आरोप पर अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

ये भी पढ़िए – हर इंसान को मारी गोली

हर इंसान को मारी गोली

0

दक्षिण पूर्वी यूरोप के देश मोंटेनेग्रो के पश्चिमी शहर की सड़कों पर शुक्रवार को एक व्यक्ति ने ताबड़तोड़ गोलीबारी की, जिसमें दो बच्चों सहित 10 लोगों की मौत हो गई। इसके बाद एक राहगीर ने उसकी गोली मारकर हत्या कर दी। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। मोंटेनेग्रो के पुलिस प्रमुख ज़ोरान ब्रजनिन ने मीडिया के साथ साझा किए गए एक वीडियो बयान में बताया कि हमलावर 34 वर्षीय व्यक्ति था जिसकी पहचान केवल उसके नाम के शुरुआती दो अक्षर वीबी से की गयी। ब्रजनिन ने बताया कि संदिग्ध ने पहले आठ और 11 साल की उम्र के दो बच्चों और उनकी मां को राइफल से गोली मार दी जो सेंटिजा के मेडोविना इलाका स्थित हमलावर के मकान में किराएदार के तौर पर रहती थी।

ये भी पढ़िए – नीट यूजी आंसर पर मिली बड़ी खबर

इसके बाद वह गली में गया और बेतरतीब ढंग से 13 और लोगों को गोली मार दी, जिनमें से सात की मौत हो गई। ब्रजनिन ने कहा, ‘‘फिलहाल, यह स्पष्ट नहीं है कि वीबी को इस नृशंस कृत्य को करने के लिए किसने उकसाया। जांच अधिकारी एंड्रीजाना नास्टिक ने बताया कि बंदूकधारी को एक राहगीर ने गोली मार दी थी और घायलों में एक पुलिस अधिकारी भी शामिल था। प्रधानमंत्री ड्रिटन अबाज़ोविक ने अपने टेलीग्राम चैनल पर लिखा कि यह घटना ‘‘एक अभूतपूर्व त्रासदी’’ थी। उन्होंने लोगों से ‘‘पीड़ितों के परिवारों, उनके रिश्तेदारों, दोस्तों और सेटिंजे के सभी लोगों के साथ’’ रहने का आग्रह किया। राष्ट्रपति मिलो जुकानोविक ने ट्विटर पर कहा कि सेटिंजे में ‘‘भयानक त्रासदी की खबर से उन्हें बहुत दुख हुआ’’। उन्होंने इस घटना में प्रियजनों को खोने वाले परिवारों से ‘‘एकजुटता’’ की अपील की।

ये भी पढ़िए – युवाओं के लिए शिक्षा मंत्री ने कहें कुछ शब्द

नीट यूजी आंसर पर मिली बड़ी खबर

0

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की ओर से स्नातक स्तरीय मेडिकल पाठ्यक्रमों में दाखिलों के लिए 17 जुलाई, 2022 को राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा यानी नीट यूजी का आयोजन किया गया था। इस परीक्षा में करीब साढ़े 18 लाख से उम्मीदवार शामिल हुए थे। इन छात्रों के अलावा, इनके अभिभावक एवं शिक्षक आदि बीते तीन सप्ताह से नीट यूजी 2022 की आंसर की जारी होने की बाट जोह रहे हैं। नीट यूजी परीक्षा में भाग लेने वाले लाखों उम्मीदवारों का इंतजार अब जल्द खत्म होने वाला है। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की ओर से जल्द ही नीट यूजी 2022 की आंसर की और परिणाम जारी किया जाएगा।

ये भी पढ़िए – युवाओं के लिए शिक्षा मंत्री ने कहें कुछ शब्द

हालांकि, एनटीए की ओर से प्रोविजनल आंसर की यानी अंतरिम उत्तर कुंजी 14 अगस्त को जारी किए जाने की प्रबल संभावना है। अंतरिम उत्तर कुंजी जारी होने के साथ ही इस पर आपत्तियां भी आमंत्रित की जाएंगी।उम्मीदवारों के लिए आपत्तियां दर्ज कराने की विंडो बंद होने के बाद उन पर विचार किया जाता है। विशेषज्ञों के मंथन के बाद ही फाइनल आंसर की यानी अंतिम उत्तर कुंजी जारी की जाती है। तब कहीं जाकर नीट यूजी का रिजल्ट तैयार होता है। वहीं रिजल्ट तैयार करने के साथ ही कट ऑफ, और रैंक सूची भी जारी की जाती है।

ये भी पढ़िए – 6 बार बदले गए राष्ट्रीय ध्वज

युवाओं के लिए शिक्षा मंत्री ने कहें कुछ शब्द

0

केंद्रीय शिक्षा, कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने शुक्रवार को युवाओं से भविष्य की चुनौतियों का सामना करने और खुद को कुशल बनाने के लिए कहा। हालाँकि उन्होंने यह भी कहा कि भविष्य में आने वाली प्रौद्योगिकियां जीवन के हर क्षेत्र में बदलाव के साथ आएंगी, जिससे कई मौजूदा नौकरियां बेकार हो जाएंगी। केंद्रीय शिक्षा, कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री ने कहा कि भारत से दुनिया की उम्मीदें बढ़ी हैं और युवाओं को अब सिर्फ अपने परिवार या जिलों के लिए नहीं, बल्कि देश और अन्य देशों के वंचितों के लिए भी खुद को जिम्मेदार समझना चाहिए। प्रधान ने कहा कि विशेषज्ञों ने भविष्यवाणी की है कि 2025 तक, कई नौकरियां मशीनों द्वारा ले ली जाएंगी। इसलिए प्रौद्योगिकी के आगमन के साथ, आधे काम व्यक्तियों द्वारा और आधे मशीनों द्वारा किए जांएगे, जिसका स्पष्ट अर्थ है कि करोड़ों नौकरियां बेमानी हो जाएंगी और करोड़ों नई नौकरियों को बनाया जाएगा।

ये भी पढ़िए – 6 बार बदले गए राष्ट्रीय ध्वज

प्रधान ने कहा कि वर्तमान दौर में देश से दुनिया की उम्मीदें बढ़ गई हैं। जब महामारी ने कहर बरपाना शुरू किया, तो हम पीपीई किट का निर्माण नहीं कर रहे थे और आज हम उनका निर्यात भी कर रहे हैं। इसी तरह, हमारे वैज्ञानिक इस अवसर पर उठे और कोविड-19 महामारी से बचाव के टीके विकसित किए और आज हम न केवल अपने लोगों की बल्कि अन्य देशों के लिए भी मांग को पूरा करते हैं। उन्होंने कहा कि इसलिए हमारे युवाओं को अब खुद को अपने परिवारों के लिए, या जिलों के लिए जिम्मेदार नहीं मानना चाहिए बल्कि देश के लिए और अन्य देशों में वंचितों के लिए भी खुद को जिम्मेदार समझें। प्रधान ने कहा कि हमारे युवाओं को उनके लिए समाधान विकसित करने होंगे और इसलिए हमारी सोच वैश्विक होनी चाहिए।

ये भी पढ़िए – एक बार और टाली गयी सीयूईटी यूजी परीक्षाएं

6 बार बदले गए राष्ट्रीय ध्वज

0

इस साल देश की आजादी को 75 साल पूरे हो रहे हैं। इस अवसर पर पूरे हिंदुस्तान में आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील के तहत हर घर तिरंगा अभियान चलाया जा रहा है। लोगों से तिरंगा फहराने की अपील की जा रही है। लेकिन इस तिरंगे के पीछे की कहानी बहुत लंबी है। बीते 116 सालों में देश में छह बार झंडा बदला गया है। आजादी की वर्षगांठ पर हमें यह जानना बेहद जरूरी है कि हमारा राष्ट्रीय ध्वज की इस यात्रा में क्या-क्या अहम पड़ाव रहे और कब-कब क्या-क्या बदलाव हुए। आखिरी बदलाव 1947 में हुआ था।

1906 का पहला राष्ट्रीय ध्वज

भारत की आजादी की लड़ाई जैसे-जैसे तेज होती जा रही थी, क्रांतिकारी दल अपने-अपने स्तर पर स्वतंत्र राष्ट्र की अलग पहचान के लिए अपना झंडा प्रस्तावित कर रहे थे। देश में पहला झंडा 1906 में सामने आया। सात अगस्त, 1906 को पारसी बागान चौक, कलकत्ता (अब ग्रीन पार्क, कोलकाता) में फहराया गया था। इस झंडे में तीन रंग की पटि्टयां थीं। इनमें सबसे ऊपर हरे रंग, मध्य में पीले रंग और नीचे लाल रंग की पट्टियां थीं। इसमें ऊपर की पट्टी में आठ कमल के फूल थे, जिनका रंग सफेद था। बीच की पीली पट्टी में नीले रंग से वन्दे मातरम् लिखा हुआ था। इसके अलावा सबसे नीचे वाली लाल रंग की पट्टी में सफेद रंग से चांद और सूरज भी बने थे।

                                                   1907 का दूसरा झंडा

पहले ध्वज को मिले हुए एक साल ही हुआ होगा कि देश को 1907 में दूसरा झंडा मिल गया। पहले पहले झंडे में कुछ बदलाव करके मैडम भीकाजीकामा और उनके कुछ क्रांतिकारी साथियों जिन्हें निर्वासित कर दिया गया था, ने मिलकर पेरिस में भारत का नया झंडा फहराया था। यह झंडा भी देखने में काफी हद तक पहले जैसा ही था। इसमें केसरिया, पीला और हरे रंग की पट्टियां थी। बीच में वन्दे मातरम् लिखा था। वहीं, इसमें चांद और सूरज के सात आठ सितारे बने थे।

     1917 का तीसरा झंडा

इसके बाद 1917 में एक और नया झंडा सामने आया। डॉ. एनी बेसेंट और लोकमान्य तिलक ने एक नया झंडा फहराया। इस नए झंडे में पांच लाल और चार हरे रंग की पट्टियां थी। झंडे के अंत की ओर काले रंग में त्रिकोणनुमा आकृति बनी थी। बाएं तरफ के कोने में यूनियन जैक भी था। जबकि एक चांद तारे के साथ इसमें सप्तऋषि को दर्शाते सात तारे भी थे।

  1921 का चौथा झंडा

इसके एक दशक बाद 1921 में ही भारत को अपना चौथा झंडा भी मिल गया। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सत्र के दौरान बेजवाड़ा (विजयवाड़ा) में आंध्र प्रदेश के एक व्यक्ति ने महात्मा गांधी को एक झंडा दिया था, यह दो रंगों हरे और लाल रंग का बना हुआ था। गांधीजी ने इसमें कुछ बदलाव करवाए। उन्होंने इसमें सफेद, हरे और लाल रंग की तीन पट्टियां लगवाई थीं। वहीं, देश के विकास को दर्शाने के लिए बीच में बड़ा चलता हुआ चरखा भी बनाया गया था।

 1931 का पांचवा झंडा

भारत का झंडा 1931 में एक बार फिर से बदला गया। इस झंडे को इंडियन नेशनल कांग्रेस ने आधिकारिक तौर पर अपनाया था। इस झंडे में सबसे ऊपर केसरिया रंग, बीच में सफेद रंग और अंतिम में हरे रंग की पट्टी बनाई गई। इसमें छोटे आकार पूरा चरखा बीच की सफेद पट्टी रखी गई थी। सफेद पट्टी में चरखा राष्ट्र की प्रगति का प्रतीक है।

                                        1947 से अब तक चला आ रहा राष्ट्रीया ध्वज

तमाम प्रयासों के बाद जब 1947 में आखिरकार देश आजाद हुआ तो देश को तिरंगा झंडा मिला। 1931 में बने झंडे को ही एक बदलाव के साथ 22 जुलाई, 1947 में संविधान सभा की बैठक में भारत का राष्ट्रीय ध्वज स्वीकार किया गया। इस ध्वज में चरखे की जगह सम्राट अशोक के धर्म चक्र को गहरे नीले रंग में दिखाया गया है। 24 तीलियों वाले चक्र को विधि का चक्र भी कहते हैं। इसे पिंगली वैंकेया ने तैयार किया था। इसमें ऊपर केसरिया, बीच में सफेद और नीचे हरे रंग की पट्टी है। तीनों समानुपात में है। इसकी लंबाई – चौड़ाई दो बाय तीन है।

एक बार और टाली गयी सीयूईटी यूजी परीक्षाएं

0

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग की तरफ से शनिवार, 13 अगस्त को एक बार फिर से सीयूईटी यूजी परीक्षा टाल दी गई है। यूजीसी ने कहा कि एनटीए की ओर से आयोजित कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट के चौथे चरण की परीक्षाएं जो कि 17 अगस्त से 20 अगस्त को निर्धारित थीं, को 30 अगस्त तक स्थगित किया जा रहा है। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने अपनी सूचना में कहा कि परीक्षा केंद्र के लिए शहर की पसंद को समायोजित करने के लिए 11,000 उम्मीदवारों के लिए परीक्षा 17 से 20 अगस्त से 30 अगस्त तक स्थगित कर दी गई है।

ये भी पढ़िए – तापसी ने अपनी फिल्म पर जताई ख़ुशी

हालांकि, परीक्षा सभी उम्मीदवारों के लिए नहीं टाली गई है। यह सिर्फ परीक्षा केंद्र बदलने की मांग करने वाले 11 हजार उम्मीदवारों के लिए स्थगित की गई है। यूजीसी के अध्यक्ष प्रोफेसर एम जगदीश कुमार ने कहा कि विश्वविद्यालयों की स्नातक स्तरीय कॉमन प्रवेश परीक्षा- का चौथा चरण 17-20 अगस्त से निर्धारित किया गया है और कुल 3.72 लाख उम्मीदवारों को उपस्थित होना था। हालांकि, इन 3.72 लाख उम्मीदवारों में से 11,000 से अधिक के लिए परीक्षा को 30 अगस्त तक के लिए स्थगित कर दिया गया है, ताकि परीक्षा केंद्र के लिए उनकी पसंद के शहर को समायोजित किया जा सके। प्रोफेसर कुमार ने कहा कि एनटीए ने केंद्रों की क्षमता में वृद्धि की है और केंद्रों की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के प्रयास करने के अलावा अधिक परीक्षा केंद्रों को भी जोड़ा है।

ये भी पढ़िए – 28 को कांग्रेस का हल्ला बोल

उन्होंने कहा, परीक्षा के सुचारू संचालन को सुनिश्चित करने के लिए प्रत्येक केंद्र पर तकनीकी पर्यवेक्षक के रूप में एसोसिएट प्रोफेसर स्तर के फैकल्टी को तैनात करने और अतिरिक्त टेक्नीकल मैन पावर को तैनात करने का भी निर्णय लिया गया है। कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट के दूसरे चरण में गड़बड़ियों के कारण नेशनल टेस्टिंग एजेंसी को विभिन्न केंद्रों पर परीक्षा रद्द करनी पड़ी थी।

ये भी पढ़िए – महाराष्ट्र भाजपा को मिला नया अध्यक्ष

तापसी ने अपनी फिल्म पर जताई ख़ुशी

0

अनुराग कश्यप की बनी फिल्म दोबारा में पावेल गुलाटी और तापसी पन्नू की जोड़ी दिखेगी, जो रिलीज के लिए तैयार है। इस थ्रिलर फिल्म ने इंडियन फिल्म फेस्टिवल ऑफ मेलबर्न में आधिकारिक तौर पर शानदार शुरुआत की। ऑस्ट्रेलियाई प्रीमियर और ओपनिंग नाइट में अनुराग कश्यप, तापसी पन्नी, तमन्ना भाटिया और ऋत्विक धनजानी की उपस्थिति में इस फिल्म की स्क्रीनिंग हुई। इस मौके पर दर्शकों ने फिल्म को अच्छा खासा रिस्पॉन्स दिया।

इस फिल्म की स्क्रीनिंग के बाद तापसी पन्नू ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि मैं उत्साहित हूं कि यह फिल्म भारत में रिलीज होने से महज एक हफ्ते पहले ऑस्ट्रेलिया में प्रदर्शित हुई है। मुझे उम्मीद है कि बड़ी संख्या में लोग इस फिल्म को देखेंगे और इस फिल्म को पसंद करेंगे। यह एक नए जॉनर की फिल्म है। इस फिल्म का कॉन्सेप्ट टाइम ट्रेवल और समानांतर ब्रह्मांड पर आधारित है। इस तरह की फिल्म का सिनेमा जगत में पहली बार प्रयोग किया जा रहा है।

हालाँकि तापसी पन्नू की फिल्म ‘दोबारा’ 19 अगस्त को सिनेमाघरों में रिलीज हो रही है। इससे पहले तापसी पन्नू अनुराग कश्यप के निर्देशन में बनी फिल्म ‘मनमर्जियां’ और ‘सांड की आंख’ में दिखी थीं। वहीं, अब ‘दोबारा’ तापसी पन्नू और अनुराग कश्यप का साथ में तीसरा प्रोजेक्ट होगा। यह फिल्म संयुक्त रूप से एकता कपूर की कल्ट मूवीज बालाजी टेलीफिल्म्स और सुनीर खेतरपाल, गौरव बोस के बैनर एथेना द्वारा निर्मित है। तापसी पन्नू के करियर की बात करें तो अभिनेत्री ने अपना फिल्मी सफर साउथ से शुरू किया था। उन्होंने हिंदी से पहले तेलुगू, तमिल और मलयालम तीनों भाषाओं की फिल्मों में काम किया है। अभिनेत्री ने हिंदी सिनेमा में ‘थप्पड़’, ‘सांड की आंख’, ‘बदला’, ‘हसीन दिलरुबा’, ‘नाम शबाना’ जैसी शानदार फिल्मों में नजर आई हैं।

28 को कांग्रेस का हल्ला बोल

0

कांग्रेस ने बेरोजगारी और महंगाई के मुद्दे को लेकर केंद्र सरकार को घेरने के मकसद से आगामी 28 अगस्त को दिल्ली के रामलीला मैदान में “महंगाई पर हल्ला बोल” रैली का आयोजन करेगी। हालाँकि पार्टी महासचिव जयराम रमेश के अनुसार, इस रैली से पहले 17 अगस्त से 23 अगस्त के बीच देश के सभी विधानसभा क्षेत्रों की मंडियों, खुदरा बाजारों और अन्य कई स्थानों पर “महंगाई चौपाल” आयोजित की जाएगी। उन्होंने एक बयान में कहा, “कांग्रेस ने गत पांच अगस्त को मोदी सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ आंदोलन किया जिसके साथ लोगों ने खुद को जोड़ा।

ये भी पढ़िए – महाराष्ट्र भाजपा को मिला नया अध्यक्ष

दरअसल प्रधानमंत्री ने हताशा में आकर इसे “काला जादू ” बताने का प्रयास किया जो इस बात को दर्शाता है कि भाजपा सरकार आसमान छूती महंगाई और बेरोजगारी पर अंकुश लगाने में नाकाम रही है। रमेश के अनुसार, कांग्रेस महंगाई और बेरोजगारी के खिलाफ अपनी लड़ाई को आने वाले हफ्तों में और तेज करेगी। उन्होंने कहा, ”कांग्रेस 17 अगस्त से 23 अगस्त के बीच देश के सभी विधानसभा क्षेत्रों में मंडियों, खुदरा बाजारों और अन्य कई स्थानों पर “महंगाई चौपाल” आयोजित करेगी। इसका समापन 28 अगस्त को रामलीला मैदान में “महंगाई पर हल्ला बोल ” रैली के साथ होगा। इस रैली को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता संबोधित करेंगे.

ये भी पढ़िए – जयराम रमेश ने सोनिया गाँधी के लिए किया ट्वीट

कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि रामलीला मैदान की रैली को पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भी संबोधित करेंगे। रमेश ने बताया कि इस रैली से इतर प्रदेश कांग्रेस कमेटियां राज्य, जिला और ब्लॉक स्तर पर ‘महंगाई पर हल्ला बोल -चलो दिल्ली’ कार्यक्रम का आयोजन करेंगी। उन्होंने दावा किया, ‘भारत के लोग मोदी सरकार के आर्थिक कुप्रबंधन का खामियाजा भुगत रहे हैं। दही, छाछ, पैक की गई खाद्य वस्तुएं जैसे आवश्‍यक सामानों पर अत्‍यधिक करों के कारण महंगाई बढ़ रही है, जबकि सार्वजनिक सम्‍पत्तियों को मित्र पूंजीपतियों को हस्‍तांतरित करने और सेना में भर्ती की दिशाहीन अग्निपथ योजना जैसे कदमों से रोजगार की स्थिति बद से बदतर हो रही है। उन्होंने कहा, कांग्रेस इन जनविरोधी नीतियों पर लोगों में जागरूकता फैलाती रहेगी और भाजपा सरकार पर उसकी गलत नीतियों को बदलने के लिए दबाव बढ़ाएगी।

महाराष्ट्र भाजपा को मिला नया अध्यक्ष

0

भाजपा ने शुक्रवार को विधान परिषद सदस्य चंद्रशेखर बावनकुले को पार्टी की महाराष्ट्र इकाई का अध्यक्ष और विधायक आशीष शेलार को मुंबई महानगर इकाई का अध्यक्ष नियुक्त किया। यह जानकारी पार्टी की तरफ से जारी प्रेस रिलीज से दी गई। पार्टी ने ओ.बी.सी से आने वाले बावनकुले को प्रदेश अध्यक्ष के पद पर चंद्रकांत पाटिल की जगह बैठाया है। पाटिल को पिछले दिनों महाराष्ट्र सरकार में मंत्री बनाया गया था। वहीं शेलार मराठा समुदाय से ताल्लुक रखते हैं। उन्होंने मुंबई शहर इकाई के अध्यक्ष के रूप में मंगल प्रभात लोढ़ा का स्थान लिया है। लोढ़ा को भी हाल ही में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली सरकार में मंत्री बनाया गया है।

बता दें, वरिष्ठ भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस इस सरकार में उपमुख्यमंत्री हैं। बावनकुले की नियुक्ति को 2024 के लोकसभा चुनाव के मद्देनजर पिछड़ा वर्ग को लामबंद करने की भाजपा की कोशिश के रूप में देखा जा रहा है। अमरावती में पत्रकारों से बातचीत करते बावनकुले ने कहा कि उनकी कोशिश 2024 के लोकसभा चुनाव में 45 सीटें और महाराष्ट्र विधानसभा की 288 में से 200 सीटें जीतने की होगी। उन्होंने कहा कि मेरी कोशिश भाजपा को महाराष्ट्र में नंबर एक की पार्टी बनाने की होगी। बावनकुले को केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी का करीबी माना जाता है। वह 2014 से 2019 तक फडणवीस के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र सरकार में ऊर्जा मंत्री थे। हालांकि पिछले विधानसभा चुनाव में उनके पारंपरिक विधानसभा क्षेत्र से पार्टी ने टिकट काट दिया था। उन्होंने कमाठी विधानसभा सीट का तीन दफा प्रतिनिधित्व किया। हाल ही में उन्हें महाराष्ट्र विधानपरिषद का सदस्य बनाया गया था।

बावनकुले ने जमीनी स्तर की राजनीति की है। वह भाजपा के नागपुर जिला इकाई में महासचिव और जिला परिषद के सदस्य भी रह चुके हैं। शेलार को मुंबई महानगर के अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी सौंपना देश की सबसे बड़ी नगरपालिका परिषद के होने वाले चुनाव के दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण माना जा रहा है। वह इससे पहले भी दो बार इस पद पर रह चुके हैं। साल 2017 के मुंबई नगरपालिका के चुनाव में उनके नेतृत्व में भाजपा ने चुनाव लड़ा था लेकिन कांटे की लड़ाई में पार्टी जीत से कुछ ही कदम दूर रह गई थी। शेलार को कुशल संगठन कार्यकर्ता के तौर पर देखा जाता है और उनकी गिनती महाराष्ट्र भाजपा के आक्रामक नेताओं में होती है। उन्होंने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से अपनी राजनीतिक शुरुआत की थी। वह भाजपा की युवा शाखा भारतीय जनता युवा मोर्चा के पदाधिकारी भी रह चुके हैं। वह दो बार खार पश्चिम से नगर सेवक चुने जा चुके हैं।

ये भी पढ़िए – जयराम रमेश ने सोनिया गाँधी के लिए किया ट्वीट

जयराम रमेश ने सोनिया गाँधी के लिए किया ट्वीट

0

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी एक बार फिर से कोरोना पॉजिटिव पाई गईं हैं. पार्टी सांसद और महासचिव जयराम रमेश ने एक ट्वीट करके कहा कि ‘आज कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का कोविड-19 टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आया है. वह सरकार द्वारा जारी प्रोटोकॉल का पालन करते हुए आइसोलेशन में रहेंगी.’ इससे पहले सोनिया गांधी को जून महीने में कोरोना पॉजिटिव पाया गया था. सोनिया गांधी को पिछले तीन महीनों में दूसरी बार कोविड-19 पॉजिटिव पाया गया है.राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष के स्वास्थ्य पर चिंता जताई और उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की. गहलोत ने ट्वीट करके कहा कि सोनिया गांधी का कोविड-19 के लिए टेस्ट पॉजिटिव आया है. कांग्रेस अध्यक्ष के स्वास्थ्य के बारे में वे चिंतित हैं. कामना करता हूं कि वह जल्द ही ठीक हो सकती हैं.

सोनिया गांधी को जून की शुरुआत में कोविड पॉजिटिव पाया गया था. उनको हल्के बुखार और कोविड के अन्य लक्षण थे. उन्हें 12 जून को सर गंगाराम अस्पताल में भर्ती कराया गया था. सोनिया गांधी को 20 जून को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी. जबकि प्रियंका गांधी को भी उसी महीने कोविड-19 पॉजिटिव पाया गया था. बुधवार को कांग्रेस की नेता प्रियंका गांधी ने भी बताया कि तीन महीनों में दूसरी बार उनका कोविड -19 टेस्ट पॉजिटिव पाया गया. बता दें, कि शनिवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के नवीनतम आंकड़ों के मुताबिक 24 घंटे में भारत में कोविड-19 के लगभग 16,000 नए मामले सामने आए हैं. कोरोना से 68 लोगों की मौत होने की सूचना दी गई है.

ये भी पढ़िए – चियान विक्रम ने ‘कोबरा’ की रिलीज से पहले किया ये ट्वीट

चियान विक्रम ने ‘कोबरा’ की रिलीज से पहले किया ये ट्वीट

0

तमिल इंडस्ट्री के चियान विक्रम सबसे बड़े नामों में से एक हैं। अभिनेता कॉलीवुड का एक अभिन्न अंग हैं और अपनी दमदार अभिनय के बल पर लोगों के दिलों में खास जगह बनाने में कामयाब रहे हैं। अब अभिनेता के फैंस के लिए अच्छी खबर है। दरअसल, अपनी फिल्म ‘कोबरा’ और ‘पोन्नियिन सेलवन 1’ की रिलीज से पहले चियान विक्रम ने ट्विटर पर अपना डेब्यू कर लिया है। चियान विक्रम ने ट्विटर पर एक वीडियो साझा किया है। वीडियो में वह कहते हैं, ‘ये मैं हूं चियान विक्रम। यह वास्तव में मैं ही हूं। भ्रमित न हों। मैं किसी वेश में नहीं हूं। पा.रंजीत के साथ मेरी अगली फिल्म के लिए यह मेरा लुक है। मुझे बताया गया है कि ट्विटर मुझे अपने फैंस के साथ जुड़े रखेगा और मैं उन्हें अपनी फिल्मों के बारे में जानकारी दे सकता हूं। हालांकि मुझे ऐसा करने में लगभग 15 साल की देरी हो गई है। लेकिन मुझे लगता है कि यह सही समय है।’

बता दें, इसके आगे चियान विक्रम ने कहा कि वह ट्विटर पर अपने फैंस के प्यार को अनुभव करने के लिए जुड़े हैं। उन्होंने कहा, ‘मैंने लोगों को यह कहते सुना है कि सोशल मीडिया पर मेरे लिए बहुत प्यार है और अब मैं खुद इसका थोड़ा आनंद लेना चाहता था। मैं अब ट्विटर पर आ चुका हूं।’ इससे पहले विक्रम ने इंस्टाग्राम के माध्यम से फैंस के साथ बातचीत की थी। वहीं, अभिनेता के ट्विटर पर आने से फैंस भी काफी खुश हैं। चियान विक्रम आखिरी बार कार्तिक सुब्बाराज द्वारा निर्देशित ‘महान’ में नजर आए थे और अब वह जल्द दो फिल्मों में नजर आने वाले हैं। चियान विक्रम की फिल्म ‘कोबरा’ 31 अगस्त को सिनेमाघरों में दस्तक देने वाली है। इससे पहले फिल्म 11 अगस्त को रिलीज होने वाली थी, लेकिन निर्माताओं ने पोस्ट-प्रोडक्शन कारणों का हवाला देते हुए रिलीज को स्थगित कर दिया था। इसके अलावा वह ‘पोन्नियिन सेलवन 1’ में भी नजर आएंगे, जो 30 सितंबर को रिलीज होगी।

ये भी पढ़िए – 60 साल की उम्र में भी अनीता राज है इतनी फिट

60 साल की उम्र में भी अनीता राज है इतनी फिट

0

अपनी पहली ही फिल्म ‘प्रेम गीत’ के गीतों से घर घर मशहूर हुईं अभिनेत्री अनीता राज 60 साल की हो गईं। 13 अगस्त 1962 को जन्मी अनीता राज से मिलने पर कहीं से नहीं लगता है कि वह 60 साल की हैं। एकदम चुस्त दुरुस्त अनीता राज अपनी फिटनेस के लिए अपनी नियमित दौड़ को बड़ी वजह मानती हैं और कहती हैं कि खुद को लगातार सक्रिय रहकर ही फिट रहा जा सकता है। आलस से दूर रहना, अपने सारे काम खुद करना और लोगों से घुल मिलकर रहना ही अच्छे स्वास्थ्य के गूढ़ मंत्र हैं जिन्हें कोई भी आसानी से निभा सकता है। हां, वह सोशल मीडिया को लोगों के बिगड़ते स्वास्थ्य की बड़ी वजह भी मानती हैं।

उनका मानना है कि मोबाइल, आईपैड और नोटबुक से उतना ही नाता रखना चाहिए जितनी इनकी जरूरत हो। ये नशा नहीं बनना चाहिए। अपने जमाने में खूब मशहूर रहीं अनीता राज ने हाल ही में टेलीविजन पर एक शो ‘छोटी सरदारनी’ खत्म किया है। इसमें उन्होंने कुलवंत कौर गिल का किरदार निभाया। काम के साथ साथ खुद को फिट और चुस्त चौकस रखना उनका जुनून है। ‘फिटनेस के लिए नियमित व्यायाम और अपनी खुराक पर तो ध्यान देना ही चाहिए। साथ ही साथ मानसिक रूप से सुकून का अनुभव भी करना चाहिए। मैंने सही समय पर फिल्मों में काम किया। मेरी फिटनेस का राज मेरा प्रतिदिन दौड़ना है। मैं रनिंग करती हूं। मुंबई में समुद्र के किनारे मुझे दौड़ने का बहुत शौक है। अब भी सप्ताह में 3 दिन मैं 20 किलोमीटर की रनिंग करती हूं। मैं 42 किलोमीटर की मैराथन रेस में भी हिस्सा ले चुकी हूं। सुबह जल्दी उठती हूं और मंत्रो का जप करती हूं।’

ये भी पढ़िए – माँ की याद में जान्हवी कपूर के आँखों में आये आंशू

अनीता राज मानती हैं कि सामाजिक जीवन स्वस्थ जीवन की बुनियाद है। वह बताती हैं, ‘80 और 90 के दशक में शूटिंग के दौरान साथी कलाकारों के साथ काफी मेल मिलाप रहता था। शूटिंग के दौरान सब कलाकार एक साथ बैठकर बातचीत किया करते थे। जिससे साथ में काम करने में झिझक नहीं होती थी और परफॉर्मेंस निकल कर आता था। आज जब कलाकारों को देखती हूं तो उनके पास बात करने की फुर्सत नहीं रहती है। सीन खत्म होते ही वैनिटी वैन अकेले समय गुजारने की लोगों को आदत हो चुकी है। कलाकार साथ बैठते हैं तो आपसी रिलेशन बनते हैं।’ अनीता राज ने हर दौर के साथ खुद को ढाला है और समय के मुताबिक अपने किरदारों के चयन में भी समझदारी दिखी है। लेकिन, नए दौर में हर इंसान के मोबाइल पर अटक जाने को वह ठीक नहीं मानतीं। वह कहती हैं, ‘हर वक्त सोशल मीडिया पर मौजूद रहना और अपनी सोशल लाइफ से अलग हो जाना ठीक नहीं है। सोशल मीडिया का उपयोग करना चाहिए, उपभोग नहीं। ये हमें नए लोगों से मिलने, दूसरों के विचार जानने का मौका देता है, लेकिन वहां बहस में समय नष्ट करने का फायदा नहीं। इसका नशा नहीं होना चाहिए। लगातार मोबाइल इस्तेमाल करने के दुष्परिणाम भी सामने आने ही लगे हैं।

ये भी पढ़िए – लाल सिंह चड्ढा को लेकर फिर से मुसीबत में फसे आमिर खान

माँ की याद में जान्हवी कपूर के आँखों में आये आंशू

0

बॉलीवुड इंडस्ट्री की मशहूर अभिनेत्री श्रीदेवी ने अपने अंदाज से लोगों का दिल जीतने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी। आज उनकी बर्थ एनिवर्सरी है और इस मौके पर बॉलीवुड कलाकारों से लेकर उनके फैंस तक, उन्हें खूब याद कर रहे हैं। श्रीदेवी ने साल 2018 में दुनिया को अलविदा कह दिया था, लेकिन आज भी वह अपने फैंस के दिलों में बसती हैं। एक्ट्रेस की बर्थ एनिवर्सरी के मौके पर उनकी बेटी और बॉलीवुड एक्ट्रेस जान्हवी कपूर भी भावुक नजर आईं। उन्होंने अपनी मम्मी को याद करते हुए एक पुरानी फोटो इंस्टाग्राम पर शेयर की और लिखा कि वह हमेशा ही उन्हें याद करती हैं। श्रीदेवी को लेकर जान्हवी कपूर की यह पोस्ट सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है। फोटो में श्रीदेवी नन्ही सी जान्हवी कपूर को पकड़ी नजर आईं।

उन्होंने इस फोटो को साझा करते हुए लिखा, “जन्मदिन की बहुत-बहुत बधाई हो मम्मा, मैं आपको हमेशा याद करती हूं। आपसे हमेशा प्यार करती रहूंगी।” जान्हवी कपूर की इस पोस्ट को 2 लाख से भी ज्यादा बार लाइक किया जा चुका है, साथ ही फैंस व बॉलीवुड सितारे जमकर इसपर कमेंट भी कर रहे हैं। जहां एक तरफ जोया अख्तर, वरुण धवन और राजीव मसंद जान्हवी कपूर की पोस्ट पर हार्ट शेप इमोजी शेयर कर रिएक्शन देते नजर आए तो वहीं बाकी फैंस ने श्रीदेवी को याद किया। बता दें कि जान्हवी कपूर के अलावा खुद खुशी कपूर ने भी अपनी मम्मी के साथ इंस्टाग्राम एकाउंट से एक फोटो शेयर की है, जिसमें श्रीदेवी उन्हें किस करती नजर आईं। श्रीदेवी के करियर की बात करें तो उन्होंने अपने एक्टिंग करीयर की शुरुआत बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट की थी। लेकिन बॉलीवुड की दुनिया में एक्ट्रेस ने फिल्म ‘सोलवा सावन’ से डेब्यू किया था, जिसमें वह जीतेंद्र के साथ नजर आई थीं। इसके अलावा उन्होंने ‘नगीना’, ‘मिस्टर इंडिया’, ‘मॉम’, ‘चांदनी’, ‘लाडला, ‘खुदा गवाह’ और ‘चालबाज’ जैसी कई हिट फिल्मों में भी काम किया है।

ये भी पढ़िए – लाल सिंह चड्ढा को लेकर फिर से मुसीबत में फसे आमिर खान

लाल सिंह चड्ढा को लेकर फिर से मुसीबत में फसे आमिर खान

0

बॉलीवुड इंडस्ट्री के आमिर खान फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ को लेकर एक बार फिर से मुसीबत में फंस गए हैं। आपको बता दें कि आमिर खान और करीना कपूर स्टारर फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ 11 अगस्त को सिनेमाघरों में रिलीज हुई थी। फिल्म को लेकर पिछले काफी समय से विवाद चल रहा था और लोग सोशल मीडिया पर इसके बायकॉट की मांग कर रहे थे। अब लेटेस्ट रिपोर्ट्स के अनुसार ‘लाल सिंह चड्ढा’ को लेकर आमिर खान के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज की गई है।

ये भी पढ़िए – क्या है तापसी पन्नू के फिटनेस का राज़ ?

दअरसल अद्वैत चंदन द्वारा निर्देशित फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ को लेकर दिल्ली के एक वकील ने पुलिस कमिश्नर संजय अरोड़ा से आमिर खान के खिलाफ शिकायत की है। अपनी शिकायत में वकील ने आमिर के अलावा फिल्म के प्रोड्यूसर पैरामाउंट पिक्चर प्रोडक्शन हाउस और अन्य लोगों के नाम भी लिए हैं। दरअसल शिकायतकरता विनीत जिंदल ने आमिर खान और प्रोडक्शन हाउस के खिलाफ ‘लाल सिंह चड्ढा’ फिल्म में भारतीय सेना के अपमान और हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाया है। वकील विनीत जिंदल ने दिल्ली पुलिस को दी अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि फिल्म में आपत्तिजनक कंटेट था, जिसको लेकर शिकायतकर्ता ने आमिर और पैरामाउंट पिक्चर्स के खिलाफ आईपीसी की धारा 153, 153 ए, 298 और 505 के तहत एफआईआर दर्ज करने की मांग की है।

ये भी पढ़िए –इन तरीको से पाए आँखों के काले धब्बो से छुटकारा

जिंदल ने अपनी शिकायत में कहा “फिल्म में मेकर्स ने दिखाया गया है कि एक मानसिक रूप से विकलांग व्यक्ति को कारगिल युद्ध में लड़ने के लिए सेना में शामिल होने की अनुमति दी गई थी। यह सब जानते हैं कि कारगिल युद्ध में लड़ने के लिए सर्वश्रेष्ठ सैन्यकर्मियों को भेजा गया था और ट्रेंड सैनिकों ने यह युद्ध लड़ा था। लेकिन फिल्म निर्माताओं ने जानबूझक भारतीय सेना का मनोबल गिराने और उन्हें बदनाम करने के लिए यह चित्रित किया है. वकील ने अपनी शिकायत में कहा कि फिल्म में एक सीन है, जहां पर पाकिस्तान का एक सैनिक लाल सिंह चड्ढा से कहता है- “मैं नमाज पढ़ता हूं और दुआ करता हूं, लाल, तुम ये क्यों नहीं करते हो?” इस पर लाल जवाब देते हुए कहता है, “मेरी मां कहती है ये सब पूजा पाठ मलेरिया है, इससे दंगे होते हैं।” अपनी शिकायत में जिंदल ने कहा कि फिल्म में दिया गया यह बयान ना सिर्फ लोगों की उकसाता है बल्कि बड़े पैमाने पर हिंदुओं की भावनाओं को चोट भी पहुंचाता है।

क्या है तापसी पन्नू के फिटनेस का राज़ ?

0

बॉलिवुड इंडस्ट्री की अभिनेत्री तापसी पन्नू के फैन्स उनकी फिटनेस के राज को जानने के लिए उत्सुक रहते हैं. अगर आप भी अपनी फिटनेस को लेकर कुछ नया ट्राई करना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को पढ़ सकते हैं. बॉलिवुड एक्ट्रेस तापसी पन्नू की मानें तो दिन की शुरुआत सुबह कार्बोहाइड्रेट नाश्ते से करनी चाहिए. तापसी का कहना है कि बेहतरीन बॉडी के लिए सिर्फ प्रोटीन ही नहीं फाइबर और कार्बन रिच फूड भी जरूरी है. शरीर में फाइबर के पोषण के लिए आप भी एक्ट्रेस की तरह स्‍वीट पोटैटो टिक्‍की ट्राई कर सकते हैं.

ये भी पढ़िए – इन तरीको से पाए आँखों के काले धब्बो से छुटकारा

शरीर में प्रोटीन के लिए आप प्रोटीन सप्‍लीमेंट लेना नहीं पसंद करते तो इसके लिए बेसन, कोकोनट, नट्स, गोंद और घी से तैयार लड्डू ट्राई कर सकती हैं. एक्ट्रेस की डायटिशियन मुनमुन गनेरीवाल उन्हें इन प्रोटीन युक्त चीज़ों का सेवन करने की सलाह देती हैं. सेहत के साथ-साथ फिटनेस का ख्याल रखने के लिए दिनभर की डाइट अच्छी होनी चाहिए. अपनी डाइट को अच्छी बनाने के लिए आपको सुबह के नाश्ते से रात तक के खाने में खास चीजों को शामिल करना चाहिए. सुबह की शुरुआत अंडा, स्वीट पटौटे और ज्वार की रोटी जैसी चीजों से कर सकती हैं. वहीं दोपहर के खाने में दाल- चावल के साथ दही को रेगुलर डाइट में शामिल कर सकते हैं. घी का सेवन करना तो सेहत के लिए लाभदायक होता है लेकिन हर बार ऑयली फूड खाने से बचने की सलाह दी जाती है. चाय लेना पसंद करते हैं तो तापसी की तरह दिन-भर की डाइट में दो बार ग्रीन टी को शामिल कर सकते हैं.

ये भी पढ़िए – स्वतंत्रता दिवस के दिन अपने लुक को इस तरह बदले

इन तरीको से पाए आँखों के काले धब्बो से छुटकारा

0

आंखों के नीचे अचानक आ जाने वाले काले धब्बे यानि डार्क सर्कल आम परेशानी है. आज कल की भाग- दौड़ भरी जिंदगी में आप अपनी सेहत का ख्याल चाहे कितने ही अच्छे से ना रख लें, डार्क सर्कल जैसी आम परेशानी झेलनी पड़ ही जाती है. आंखों के नीचे अचानक आ जाने वाले ये धब्बे आपके चेहरे पर साफ नजर आते हैं. आप सामने वाले से बात करते वक्त भले ही कॉन्फिडेंट हों लेकिन एक पल के लिए कॉन्फिडेंस भी डार्क सर्कल की वजह से लो हो जाता है. आज इसी परेशानी का हल आपके लिए लेकर आए हैं. इस आर्टिकल में आपको बताएंगे कि डार्क सर्कल की परेशानी से कैसे निजात पा सकते हैं.

आंखों के नीचे डार्क सर्कल्स का आना आपकी रोजमर्रा की आदतों से जुड़ा होता है. अक्सर बताया भी जाता है कि अगर आप पूरी नींद नहीं ले रहें हैं तो आंखों के नीचे डार्क सर्कल्स अपीयर हो सकते हैं. इसके अलावा स्ट्रेस लेना भी इसकी एक बड़ी वजह हो सकती है. जानकारों का मानना है कि हीमोग्लोबिन में कमी होना भी आंखों के नीचे काले धब्बे आने का कारण बनता है. इस परेशानी से निजात पाना है तो आपको अपनी लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव लाने होंगे. सबसे पहले अगर काम की वजह से पूरी नींद नहीं ले पा रहे हैं तो कम से कम कोशिश करें 8 घंटे की नींद लें. रात को ज्यादा देर तक फोन या लैपटोप में काम करने को अवॉइड करें. अगर आपको स्मोकिंग या ड्रिंकिंग की आदत है तो इस आदत को छोड़ने की कोशिश करें. इसके अलावा मेडिटेशन की आदत शुरु करना भी इस परेशानी से छुटकारा दिला सकती है.

ये भी पढ़िए –  स्वतंत्रता दिवस के दिन अपने लुक को इस तरह बदले

स्वतंत्रता दिवस के दिन अपने लुक को इस तरह बदले

0

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर हर भारतीय देशभक्ति की भावना में डूबा रहता है। अपनी भावनाओं को अगर आप कपड़े या एक्सेसरीज के माध्यम से जाहिर करना चाहते हैं। तो इन लुक्स को ट्राई कर सकती हैं। स्वतंत्रता दिवस को मनाने के लिए स्कूल, कॉलेज और प्रतिष्ठानों में कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। जिसमे हर कोई शामिल होता है। अगर आपके ऑफिस या कॉलेज में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर कार्यक्रम हो रहा है और आप कुछ अलग लुक चाहती हैं। तो तिरंग के रंगों को इस तरह से अपने लुक में शामिल करें।

तिरंगे के रंग का दुपट्टा या स्टोल आप आसानी से ले सकती हैं। अगर आप पूरा झंडे जैसा लुक नहीं चाहती लेकिन तिरंगा हो उसमे तो डाई एंड डाई का सहारा लें। दुपट्टे को हरे, सफेद और नारंगी रंग से टाई एंड डाई करें। ये काफी अच्छा आइडिया होगा और आसानी से स्टोल या दुपट्टा बनकर तैयार भी हो जाएगा।

अगर आप कुछ भी एक्स्ट्रा लुक में शामिल नहीं करना चाहती हैं तो बस चूड़ियों को तिरंगे रंग की पहन लें। बस हर किसी की निगाहें वहीं थम जाएंगी। केसरिया, सफेद और हरे रंग की चूड़ियों के साथ कुर्ता और चूड़ीदार पायजामा खूबसूरत लगेगा। आप चाहें तो तिरंगे रंग के ब्रेसेलट भी पहन सकती हैं। ये किसी भी ड्रेस के साथ आपको हटके लुक देंगे।

अगर आप कॉलेज या ऑफिस जा रही हैं तो केसरिया, हरी या सफेद रंग की ईयररिंग्स को पहनें। वैसे मार्केट में इस समय तिरंगे के रंग की ईयररिंग्स बड़े ही आसानी से मिल जाएंगी। जिसे पहनकर आप खूबसूरत भी दिखेंगी और सबसे अलग भी। अगर आप ट्रेडिशनल आउटफिट साड़ी या सलवार कुर्ता पहनने वाली हैं तो तिरंगे के रंग की झुमकी बेहद खूबसूरत लगेगी। वहीं वेस्टर्न के साथ कुछ चंकी लुक लिए ईयररिंग्स अच्छी रहेगी।

हाजमे से बचने के लिए अपनाये ये 5 नुस्खे

0

रक्षाबंधन का त्योहार है, तो खाने-खिलाने तो होगा ही। त्योहारों के अवसर पर स्वादिष्ट और गरिष्ठ भोजन ही बनते हैं। भारी भोजन न सिर्फ पचने में ज्यादा समय लेते हैं, बल्कि बदहजमी के कारण भी बनते हैं। मां कहती है कि ज्यादा तेल-मसाले वाले भोजन या गरिष्ठ भोजन के बाद रसोई में मौजूद ऐसी सामग्रियों को जरूर खाएं, जो भोजन को पचाने में मदद करते हैं। यदि आप या आपके परिवार का कोई सदस्य भोजन अधिक खा लेने के कारण एसिडिटी, गैस या ब्लोटिंग की समस्या से परेशान हो रहा है, तो रसोई में मौजूद कुछ चीजों को जरूर आजमाएं। इनका प्रयोग बहुत पुराने समय से होता आया है।

खाना ठीक से चबाएं – अच्छे पाचन का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा अपने खाने को सही से चबाना है. जब आप अपने भोजन को अच्छी तरह चबाते हैं, तो ये आपके पाचन तंत्र के काम को आसान बनाता है. इसलिए खाना खाने के लिए समय निकालें. अपने भोजन को ठीक से और धीरे-धीरे चबाएं. खाना खत्म करने में जल्दबाजी न करें क्योंकि इससे अपच की समस्या हो सकती है.

फाइबर युक्त आहार – फाइबर पाचन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. दोनों प्रकार के फाइबर, घुलनशील फाइबर और अघुलनशील फाइबर का सेवन करना महत्वपूर्ण है. ये दोनों आपके पाचन तंत्र के लिए अलग-अलग तरीके से मदद करते हैं. फाइबर के अच्छे स्रोतों में फल, सब्जियां, साबुत अनाज, नट्स, बीज और फलियां आदि शामिल हैं. पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने के लिए प्रोसेस्ड या जंक फूड खाने से बचें.

हाइड्रेटेड रहना – खूब पानी पीना आपके पाचन स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है. पूरे दिन अपने आप को सिपर पानी और ताजे फलों के जूस, नींबू पानी या नारियल पानी जैसे ड्रिंक्स से हाइड्रेटेड रखें.

व्यायाम करें – अच्छे स्वास्थ्य के लिए शारीरिक व्यायाम बहुत जरूरी है. आप या तो सैर के लिए जा सकते हैं, दौड़ सकते हैं और योग कर सकते हैं. नियमित रूप से शारीरिक गतिविधि आपके पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में मदद करती है. ये पाचन संबंधी समस्याओं को दूर करने में मदद करती है.

हेल्दी फैट – पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने के लिए हेल्दी फैट्स डाइट में शामिल करें. इसके लिए आप अपने आहार में पनीर, जैतून का तेल, अंडे, नट्स, एवोकैडो और फैटी फिश शामिल कर सकते हैं. ओमेगा -3 फैटी एसिड सूजन को कम करता है. अपने आहार में सैल्मन, टूना, चिया सीड्स, फ्लैक्स सीड्स और कद्दू के बीज शामिल कर सकते हैं.

ये भी पढ़िए – इन जगहों पर पेट्रोल डीजल के दाम हो गए सस्ते

इन जगहों पर पेट्रोल डीजल के दाम हो गए सस्ते

0

देशभर में आज यानि 13 अगस्त के पेट्रोल-डीजल के नए रेट जारी हो गए हैं। कच्चे तेल की अंतरराष्ट्रीय कीमतों के अनुसार भारत में ईंधन की कीमत तय करती है। यूपी के प्रमुख शहरों वाराणसी, कानपुर, गोरखपुर और प्रयागराज में डीजल-पेट्रोल के दामों में थोड़ी कमी आई है। वहीं लखनऊ, आगरा, मेरठ और बरेली शहरों में तेजी आई है। 13 अगस्त शनिवार को रेट में कुछ बढ़ोतरी हुई है। आइए जानते हैं यूपी के शहरों में आज पेट्रोल, डीजल दाम। तेल कंपनी इंडियन ऑयल की वेबसाइट के मुताबिक, लखनऊ में शनिवार को पेट्रोल 96.58 रुपये प्रति लीटर और डीजल 89.77 रुपये प्रति लीटर है। वाराणसी में पेट्रोल 96.67 और डीजल 89.87 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है तो आगरा में पेट्रोल 96.77 रुपये प्रति लीटर और डीजल 89.93 रुपये प्रति लीटर है।

ये भी पढ़िए – स्वतंत्रता दिवस तक हो सकती है भारी बारिश

इसके अलावा, मेरठ में पेट्रोल 96.31 रुपये और डीजल 89.49 रुपये प्रति लीटर है। कानपुर में शनिवार को पेट्रोल 96.27 रुपये और डीजल 89.45 रुपये प्रति लीटर पर बिक रहा है। यहीं, गोरखपुर में पेट्रोल 96.79 रुपये प्रति लीटर और डीजल 89.97 रुपये प्रति लीटर है। इनके अलावा बरेली में पेट्रोल 96.99 रुपये प्रति लीटर और डीजल 90.17 रुपये प्रति लीटर है। प्रयागराज में पेट्रोल 96.84 रुपये प्रति लीटर और डीजल 90.04 रुपये प्रति लीटर है। यूपी में LPG गैस 14.2 किलोग्राम के सिलेंडर में 1,090 रुपये प्रति सिलेंडर मिल रही है।

स्वतंत्रता दिवस तक हो सकती है भारी बारिश

0

मध्य भारत के कई इलाकों में अगले कुछ दिनों में भारी बारिश होने की संभावना जताई जा है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, भारत के मध्य भागों में अगले पांच दिनों के दौरान सक्रिय मानसून की स्थिति दिखाई देगी। हालांकि अगले दो से तीन दिनों में उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में बारिश हल्की रहने की उम्मीद है। मॉनसून ट्रफ सक्रिय है और सामान्य से अधिक दक्षिण में स्थित है। यह आने वाले दिनों में सक्रिय होने की संभावना है। आईएमडी के मौसम बुलेटिन के अनुसार, यूपी में अलग-अलग इलाकों में बहुत भारी बारिश भी संभव है। 15 अगस्त तक राज्य में बारिश की संभावना है। कई जगह छिटपुट तो कहीं भारी वर्षा और गरज के साथ बिजली गिरने की संभावना है।

ये भी पढ़िए –बिजली विभाग ने कटिया जलाओ अभियान का बदल दिया नाम

हालाँकि सोमवार को पूर्वी यूपी में कुछ इलाकों में बहुत तेज बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग ने कई हिस्सों में गरज और बिजली गिरने के साथ भारी बारिश को लेकर ‘येलो अलर्ट’ जारी किया है। मौसम विभाग के अनुसार, लखनऊ और प्रयागराज जिलों में कुछ स्थानों पर बहुत भारी बारिश हुई, साथ ही गोरखपुर, कानपुर, मेरठ और बरेली जिलों में भारी बारिश दर्ज की गई। अगले एक हफ्ते तक हल्की बारिश से मध्यम बारिश देखने को मिल सकती है। हालांकि, कुछ इलाकों में तेज बारिश भी दर्ज की जा सकती है।मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार, स्वतंत्रता दिवस से पहले मौसम गर्मी से राहत देगा। हीं 15 अगस्त को भी हल्की बारिश या कम गर्मी के साथ खुशनुमा मौसम देखने को मिल सकता है। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद, नोएडा, मेरठ, आगरा, मथुरा, बरेली, अलीगढ़, कौशांबी, बहराइच, गोरखपुर, झांसी, इटावा, बलिया, गोरखपुर, वाराणसी, प्रयागराज, संतकबीरनगर, मैनपुरी, एटा, अमरोहा और औरैया में भारी बारिश के आसार हैं।

बिजली विभाग ने कटिया जलाओ अभियान का बदल दिया नाम

0

जिले में बिजली चोरी पर नकेल कसने के लिए विभाग ने कटिया जलाओ अभियान का नाम बदल दिया है। हालाँकि अब इसका नाम कटिया हटाओ, कटिया के टुकड़े करो कर दिया है। यह बदलाव कटिया जलाने से प्रदूषण को लेकर विभागीय उच्चाधिकारियों के पास पहुंची प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की शिकायत के बाद किया गया। जिले में कटिया से बिजली चोरी पर नियंत्रण की दिशा में गर्मी शुरू होते ही विभाग ने अभियान शुरू किया। अभियान के दौरान पकड़ी जाने वाले कटिया के तार-केबल को मौके पर जलाया जा रहा था। बिजली विभाग के इस कदम से पर्यावरण को नुकसान पहुंच रहा था।

ये भी पढ़िए –भाजपा का चुनाव में वादे का संकल्प पत्र होगा पूरा

बता दें, इस मामले में प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने बिजली विभाग मुख्यालय के अधिकारियों को पत्र भेजा। मुख्य अभियंता को दिए गए निर्देश में एमडी विद्या भूषण ने कहा है कि कटिया जलाने की बजाय उसे टुकड़े में काटा जाए। इस आदेश के बाद विभाग ने अभियान का नाम बदल दिया। इस बारे में बिजली विभाग के मुख्य अभियंता, विनोद कुमार ने जानकारी देते हुए कहा कि कटिया जलाने के अभियान को रोक दिया गया है। अब बिजली चोरी में पकड़े गए कटिया तार-केबल को टुकड़ों में काटने का आदेश आया है। प्रयागराज में बिजली विभाग द्वारा पिछले कई वर्षों से बकाया भुगतान नहीं करने वाले हजारों बिजली उपभोक्ताओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लंबे समय से बकाया बिल के कनेक्शन काटे जा रहे हैं।

ये भी पढ़िए –घर से राखी बांधने निकली महिला ने सड़क पर दिया बच्चे को जन्म

अधिकारियों का कहना है कि कनेक्शन काटे जाने के बाद यदि कोई उपभोक्ता अपना बकाया चुकाए बिना अपने कनेक्शन को फिर से जोड़ने का प्रयास करता है, तो विभाग बिजली वितरण अधिनियम-2003 की संबंधित धाराओं के तहत उनके खिलाफ नामजद प्राथमिकी भी दर्ज करेगा। बिजली अधिकारियों ने बिजली बकाया बिल के लिए कवायद शुरू कर दी है। अधिकारियों के अनुसार जिले में कुल साढ़े आठ लाख बिजली उपभोक्ता हैं। इनमें से करीब साढ़े तीन लाख शहरी इलाकों में हैं जबकि बाकी ग्रामीण इलाकों में हैं।

भाजपा का चुनाव में वादे का संकल्प पत्र होगा पूरा

0

उत्तरप्रदेश बोर्ड के 27 हजार से अधिक राजकीय, सहायता प्राप्त और वित्तविहीन स्कूलों में पढ़ने वाले एक करोड़ से अधिक छात्र-छात्राओं को गौरवशाली इतिहास से परिचित कराया जाएगा। भाजपा ने 2022 के विधानसभा चुनाव के लिए जारी लोक कल्याण संकल्प पत्र में सभी महापुरुषों और स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की जीवनगाथा को शैक्षिक पाठ्यक्रम में शामिल करने का वादा किया है। शासन के आदेश पर माध्यमिक शिक्षा विभाग के अफसर 50 महापुरुषों के नाम पाठ्यक्रम में शामिल करने की तैयारियों में जुटे हैं।

आपको बता दें, माध्यमिक शिक्षा निदेशक डॉ. सरिता तिवारी की अध्यक्षता में गठित समिति को नाम चयन की जिम्मेदारी दी गई है। अगले सत्र से इन महापुरुषों के नाम पाठ्यक्रम में शामिल होने की उम्मीद है। परिषदीय प्राथमिक और उच्च प्राथमिक स्कूलों की दीवारें नारी शक्ति की गवाही दे रही हैं। बीएसए प्रवीण कुमार तिवारी ने सभी खंड शिक्षाधिकारियों से स्कूल की एक दीवार को विशिष्ट नारियों को समर्पित करने को कहा था। दीवार पर पेंट कराकर या फ्लैक्स लगवाकर नारियों के बड़े व स्पष्ट चित्र लगाने एवं उनके विषय में लेख लिखवाए जा रहे हैं। रानी लक्ष्मीबाई, चांद बीबी, सावित्रीबाई, सरोजनी नायडू, सुचेता कृपलानी, सुभद्रा कुमारी चौहान, मदर टेरेसा, लता मंगेशकर, पीटी उषा, अमृता प्रीतम, महादेवी वर्मा, साइना नेहवाल, कल्पना चावला, बेगम अख्तर, मैरी कॉम समेत 19 महिलाओं का नाम शामिल किया गया है।

ये भी पढ़िए – घर से राखी बांधने निकली महिला ने सड़क पर दिया बच्चे को जन्म

घर से राखी बांधने निकली महिला ने सड़क पर दिया बच्चे को जन्म

0

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में एक घटना सामने आयी है। एक महिला ने सड़क किनारे एक बच्चे को जन्म दिया। हालांकि अभी लोगों में इतनी इंसानियत है कि महिला का दर्द देखकर राहगीरों ने भी उसकी मदद की। महिला और उसका बच्चा स्वस्थ हैं। लोग इस घटना को सुनकर हैरान हैं। दरअसल, रक्षाबंधन त्योहार में राखी लेकर मायके जा रही एक महिला ने सड़क किनारे बच्चे को जन्म दिया। जच्चा-बच्चा दोनों पूर्ण रूप से स्वस्थ्य बताएं जा रहे हैं। मामला गांव गुलरीपुरवा का है। मितौली क्षेत्र के गहियापुरवा निवासी संदीप अपनी पत्नी रिंकी के साथ ससुराल रसुलपुर से गांव जा रहे थे। इसी दौरान कस्ता-भीखमपुर मार्ग के गांव गुलरीपुरवा के पास अचानक रिंकी को प्रसव पीड़ा होने लगी। दर्द बढ़ने के चलते संदीप ने जैसे ही बाइक रोकी वैसे ही रिंकी सड़क पर ही बेहोशी की हालत में लेट गई।

ये भी पढ़िए – लेखक सलमान रुश्दी पर किसी ने काले कपड़ो में किया हमला

इसी दौरान मोहम्मदी के गांव वेलबा निवासी बाइक सवार दम्पति मीरा व उसके पति राजेश शर्मा महिला को सड़क पर लेटे देखकर मदद के लिए रुक गए। वहीं पास के खेतों में घोला निवासी मुन्नी देवी भी गुलरीपुरवा की महिलाओं को बुलाकर मौके पर पहुंच गई। महिलाओं ने सड़क किनारे पालिथीन आदि लगाकर महिला का सुरक्षित प्रसव कराया। जानकारी पाकर मौक पर पहुंचे मुल्तानपुर ग्रन्ट प्रधान पति संजय राठौर ने प्रसूता को 5 सौ रुपये देकर ई-रिक्शा से घर भेजवाया। वहीं प्रसव में मदद करने वाली राहगीर महिला मीरा देवी व उसके पति राजेश के अलावा मुन्नी देवी आदि महिलाओं की सराहना करते हुए पुरस्कृत किया।

लेखक सलमान रुश्दी पर किसी ने काले कपड़ो में किया हमला

0

सलमान रुश्दी मंच पर आये ही थे वैसे ही वहां कोई काला कपड़ा और मास्क पहना व्यक्ति छलांग लगाकर स्टेज पर चढ़ा और हमला कर दिया। वहां मौजूद लोग दौड़कर उन्हें मदद देने पहुंचे और हमलावर को काबू में कर लिया। रुश्दी कोई पांच मिनट तक जमीन पर पड़े रहे। उसके बाद उन्हें उठाया गया और हेलीकॉप्टर के ज़रिए अस्पताल पहुंचाया गया। देर रात तक उनकी हालत नाजुक बनी हुई थी। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि ये यकीन करना मुश्किल है कि उनके पास पर्याप्त सुरक्षा नहीं थी। शायद हमला कार्यक्रम शुरू होने के कुछ सेकंड के भीतर ही हो गया था। वहां मौजूद लोग अभी सकते में हैं। घटनास्थल से रुश्दी को देख रही एक डॉक्टर ने मीडिया को बताया कि रुश्दी को 10 से 15 बार चाकू मारा गया है जिसमें गर्दन के दाईं ओर का हिस्सा भी शामिल है। रुश्दी जहां गिरे हुए थे वहां काफी खून जमा हो गया था। उस समय सीपीआर नहीं दिया जा रहा था और वह जिंदा दिख रहे थे। उनकी नब्ज चल रही थी।

ये भी पढ़िए – जिले के सबसे बड़े भैया, मनोज अग्रवाल को 670 बहनों ने राखी बांधी

हालाँकि रुश्दी पर हुए हमले को लेकर न्यूयॉर्क राज्य की गवर्नर कैथी होचुल ने कहा, हमले के बाद रुश्दी जीवित हैं। उन्हें सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया गया है। अधिकारी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। होचुल ने कहा, रुश्दी ने सत्ता के खिलाफ सच बोलने में दशकों बिताए हैं, धमकियों के बावजूद उन्होंने बेखौफ जीवन जिया है। उन्होंने कहा, एक स्थानीय अस्पताल में रुश्दी का इलाज चल रहा है। होचुल ने कहा कि हम इस हिंसक घटना की निंदा करते हैं। मशहूर लेखक सलमान रुश्दी का विवादों से गहरा नाता रहा है। कभी उनकी लिखी किताबों की वजह से तो कभी उनके बयानों की वजह से वह लोगों के निशाने पर रहे हैं। उनके उपन्यास ‘द सैटेनिक वर्सेस’ को मुस्लिम समुदाय के लोग ईशनिंदा मानते रहे हैं और ईरान के सर्वोच्च धार्मिक नेता अयातुल्ला रूहोल्लाह खुमैनी ने मौत का फतवा जारी कर दिया था। जिसके बाद इन्हें कई सालों तक छिप कर रहना पड़ा।

ये भी पढ़िए – यह दस्तावेज होना है जरुरी, यूपी बोर्ड परीक्षा के लिए पंजीकरण

रुश्दी ने कई बार अपने साक्षात्कार में कहा था कि उनके उपन्यास पर पाबंदी बिना जांच पड़ताल के पाबंदी लगाई गई है। नाराजगी इतनी ज्यादा थी कि ‘द सैटेनिक वर्सेस’ उपन्यास के जापानी अनुवादक हितोशी इगाराशी की हत्या कर दी गई थी, जबकि इटैलियन अनुवादक और नॉर्वे के प्रकाशक पर भी हमले हुए। कई देशों में इस किताब को लेकर भारी बवाल तक हुआ था। भारत के मुसलमान संगठनों ने बार बार रुश्दी पर एतराज जताया है। सफल व्यवसायी के बेटे सलमान रुश्दी का जन्म 1947 को मुंबई में एक मुस्लिम परिवार में हुआ। उनकी शिक्षा इंग्लैंड के रग्बी स्कूल में हुई। उन्होंने कैंब्रिज यूनिवर्सिटी से इतिहास की पढ़ाई की थी। पढ़ाई खत्म कर ये अपने मां-बाप के पास पाकिस्तान चले गए, जहां इनके अभिभावक साल 1964 में शिफ्ट हो गए थे।

ये भी पढ़िए – तेज रफ्तार में आ रही डबल डेकर से हुआ हादसा

आपको बता दें, विज्ञापन की दुनिया से अपना करियर शुरू करने वाले रुश्दी बाद में पूर्णकालिक लेखक हो गए। उनका पहला उपन्यास ‘ग्रिमस’ 1975 में आया था लेकिन पाठकों ने कोई खास नोटिस नहीं लिया था। दूसरे उपन्यास ‘मिडनाइट्स चिल्ड्रन’ को बुकर सम्मान मिला। जनवरी 2012 में रुश्दी जयपुर लिटरेचर फेस्ट के लिए भारत आने वाले थे। कई मुस्लिम संगठनों से लगातार मिल रही धमकियों के चलते उन्होंने दौरा टाल दिया। रुश्दी ने कहा था कि अंडरवर्ल्ड उनकी हत्या के फिराक में है। लिहाजा, जयपुर आकर खुद के चलते दूसरों की जान खतरे में नहीं डाल सकते। ये कहानी एक रईस परिवार की है जो मुंबई से न्यूयॉर्क आ जाते हैं।

जिले के सबसे बड़े भैया, मनोज अग्रवाल को 670 बहनों ने राखी बांधी

0

10 वर्षों से कर रहे हैं सामूहिक विवाह, एक हजार से अधिक बहनों की कर चुके हैं शादियां

फर्रुखाबाद। जिले के सबसे बड़े भैया मनोज अग्रवाल को 670 बहनों ने राखी बांधकर बोली ,,
मेरे अच्छे, सच्चे शादी कर डोली में बैठा कर ससुराल भेजने वाले मनोज भैया और वत्सला अग्रवाल, भाभी को ताउम्र नहीं भूल पाएंगे, ऐसे भैया हर एक बहन को मिले, फिर बारी बारी से 670 से अधिक बहनों ने राखी बांध बांधकर प्रेम अटूट विश्वास के रिश्ते को और मजबूत कर दिया

गायत्री पब्लिक स्कूल में रक्षाबंधन पर्व पर यह सब बहने पूर्व विधान परिषद सदस्य मनोज अग्रवाल तथा नगर पालिका परिषद फर्रुखाबाद अध्यक्ष वत्सला अग्रवाल को सैकड़ों बहनों ने जब राखियां बांधी तो उनकी कलाइयां भरने लगी यह सब बहने शहर से लेकर शाहजहांपुर, हरदोई ,बदायूं बरेली, एटा ,इटावा, मैनपुरी, फिरोजाबाद, मथुरा, दिल्ली से सज धज कर भैया को राखी बांधने आई थी, फिर इन बहनों ने सामूहिक रूप से एक एक कर कर भैया और भाभी के राखी बांधी कई के खुशी में आंसू छलक आए और आपस में एक दूसरे से बोली कि भैया ने तो शादी करके दान दहेज देकर विदा किया था, अब यही सच्चे और अच्छे भैया है,
हमेशा के लिए यह अटूट रिश्ता है और यह पवित्र राखी हमेशा भैया की कलाई में बंधती रहेगी।

बताते चलें कि पूर्व एमएलसी मनोज अग्रवाल के पिता विश्वरूप अग्रवाल ने सेवा वृत्त के तहत पिछले 10 वर्षों से अधिक सामूहिक विवाह करवाए थे एक सामूहिक विवाह में 100 से अधिक शादियां श्री अग्रवाल ने करवाई जिस दिन यह शादियां होती हैं पूरे शहर में सफेद चुना डलवाया जाता है और फिर स्थानीय मधुर मिलन गेस्ट हाउस में पूरा शहर और प्रशासनिक अधिकारी राजनेता सामूहिक विवाह में आशीर्वाद देते हैं।
1000 से अधिक शादियां अब तक श्री अग्रवाल करवा चुके हैं यह बहने हमेशा रक्षाबंधन को भैया और भाभी के राखी बनती हैं, भैया और भाभी बहनों का सत्कार कर उपहार देकर उन्हें विदा करते हैं।

यह दस्तावेज होना है जरुरी, यूपी बोर्ड परीक्षा के लिए पंजीकरण

0

यूपी बोर्ड ने कक्षा नवीं से लेकर बारहवीं तक के छात्रों के लिए बड़ा अपडेट जारी किया है। बोर्ड ने अब इन कक्षाओं की परीक्षा के लिए पंजीकरण में आधार नंबर को अनिवार्य कर दिया है। बता दें कि इससे पहले भी छात्रो से आधार नंबर मांगा जाता था। हालांकि, पहले इसकी अनिवार्यता नहीं थी। लेकिन अब बिना आधार के छात्र परीक्षा के लिए अपना रेजिस्ट्रेशन नहीं करा सकेंगे।

ये भी पढ़िए – आपको भी तो नहीं आया ऐसा मैसेज, अगर आया है तो हो जाये सतर्क

यूपी बोर्ड द्वारा परीक्षा के लिए पंजीकरण में आधार को अनिवार्य किए जाने के बाद छात्रों को काफी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे छात्र जिनके पास में आधार नहीं है वे आवेदन नहीं कर पा रहे हैं। जानकारी के मुताबिक 04 दिन पहले ही आधार की अनिवार्यता को लेकर बोर्ड ने वेबसाइट पर अपडेट जारी किया था। अब तक इस मामले पर किसी भी अधिकारी का बयान सामने नहीं आया है।

ये भी पढ़िए – तेज रफ्तार में आ रही डबल डेकर से हुआ हादसा

यूपी बोर्ड द्वारा आधार को अनिवार्य किए जाने के बाद हजारों छात्रों पर पढ़ाई छूट जाने का खतरा बन गया है। नवीं और ग्यारहवीं के छात्रों पर बड़ा संकट आ गया है। वहीं, 10वीं और 12वीं कक्षा में प्रवेश लेने वाले छात्रों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कोरोना महामारी के बाद छात्रों को हुए नुकसान को देखते हुए यूपी बोर्ड ने सत्र 2022-23 में भी नवीं से लेकर बारहवीं तक के छात्रों को 70 फीसदी पाठ्यक्रम पढ़ाने का निर्णय लिया है। बोर्ड की ओर से अधिकारिक वेबसाइट पर साल 2022-23 सत्र के लिए सिलेबस को जारी किया गया है। बोर्जड ने बीते साल भी सिलेबस में कटौती की थी।

तेज रफ्तार में आ रही डबल डेकर से हुआ हादसा

0

बहराइच-करनैलगंज रोड पर कटघरा कलां गांव के पास तेज रफ्तार डबल डेकर अनियंत्रित होकर पलट गई। हादसे में आधा दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए। घायल चालक को एक निजी क्लीनिक पर लाए जाने पर चिकित्सक ने इलाज के बाद डिस्चार्ज कर दिया है।रानीपुर थाने के बहराइच- करनैलगंज रोड पर दिल्ली को चलाई जा रही तीन डबल डेकर बसे सुबह लगभग नौ बजे दिल्ली से हुज़ूरपुर आ रही थी। तीनों बसें काफी फासले पर थीं।

ये भी पढ़िए – आपको भी तो नहीं आया ऐसा मैसेज, अगर आया है तो हो जाये सतर्क

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक बसों की रफ्तार काफी तेज थी। सबसे आगे आ रही डबल डेकर बस के आगे कटघरा कलां गांव के पास अचानक एक काला सांड़ सामने आ गया। उसे बचाने के प्रयास में आनियंत्रित होकर बस पलट गई। उसमें बैठे चालक सहित लगभग आधा दर्जन दर्जन यात्री घायल हो गए । दुर्घटना होते ही पीछे आ रही दोनों बसें रुकीं। घायल चालक रानीपुर थाने के जिगनिया महिपाल सिंह निवासी 35 वर्षीय अनीस पुत्र रज्जाक को आनन फानन में किसी निजी क्लीनिक पर ले जाकर इलाज कराया। चिकित्सकों ने घायल को डिस्चार्ज कर दिया। उसे परिजन घर ले गए हैं।

आपको भी तो नहीं आया ऐसा मैसेज, अगर आया है तो हो जाये सतर्क

0

आपकी बिजली आज रात ही कट जाएगी। इस तरह का मैसेज या फोन आपको भी आया है तो सावधान होने की जरूरत है। साइबर अपराधियों ने जालसाजी का नया पैंतरा अपना लिया है। इस तरह का मैसेज भेजकर और फोन करके लोगों को झांसे में ले रहे हैं। फोन कर या फिर मैसेज भेज कर बताते हैं कि बिजली बिल नहीं जमा है। या फिर कहते हैं कि बिजली बिल अपडेट नहीं है, ऐसे में रात में बिजली काट दी जाएगी।

ये भी पढ़िए – सोने और चांदी के भाव में हुए बदलाव

बिजली आपूर्ति बाधित न हो, इसके लिए बिल अपडेट करने के तरीके बताते हैं। इन तरीकों में फंसाकर लोगों की गाढ़ी कमाई उड़ा रहे हैं। वाराणसी में ऐसी ही शिकायत पुलिस के पास आई है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है। वाराणसी के शिवपुर बाइपास के विनीत कुमार बरनवाल बिजली कटने का मैसेज और फिर फोन आने के झांसे में आ गए। उनके 45 हजार रुपये जालसाजों ने उड़ा दिेये हैं। विनीत की बाइक रिपेयरिंग की दुकान है। मंगलवार को उनको व्हाट्सएप मैसेज आया। उसमें अंग्रेजी में लिखा था कि पिछले माह का बिल जमा न होने पर आज रात साढ़े नौ बजे बिजली काट दी जाएगी।

ये भी पढ़िए – घर पर ही बनाये अपना आईलाइनर, इन चार तरीको से

इसके बाद विनीत बरनवाल ने पिछले माह का बिल भेजा। फिर उधर से फोन करके बताया गया कि आपका बिल अपडेट नहीं है। विभागीय प्रक्रिया के तहत 10 रुपये शुल्क देकर पंजीकरण कराकर आगे के लिए भी इस झंझट से मुक्ति पा सकते हैं। इसके लिए प्ले स्टोर में जाकर एनी डेस्क एप डाउनलोड कराया। यह एप डाउनलोड होते ही मोबाइल हैंग हो गया। मोबाइल पर 45 हजार रुपये कटने का मैसेज देख सन्न हो गए। इसके बाद उन्हें पता चल गया कि ठगी हो गई है।

 

सोने और चांदी के भाव में हुए बदलाव

0

बुधवार यानि 10 अगस्त को भारतीय सर्राफा बाजार ने सोना और चांदी के रेट्स जारी कर दिए हैं। कानपुर, मेरठ, बरेली और गोरखपुर में सोने में बढ़ोतरी और चांदी में गिरावट दर्ज किया गया है। लखनऊ में सोने में मामूली बढ़त और चांदी की कीमत स्थिर रही। आगरा में सोना और चांदी दोनों में बढ़ोतरी देखी गई। कानपुर में चांदी में गिरावट और सोने में बढ़ोतरी देखी गई। मंगलवार को चांदी 60500 प्रति किलो और सोना 52,450 प्रति दस ग्राम था। बुधवार को चांदी 60000 प्रति किलो हो गई। सोना 100 रुपये बढ़कर 52550 हो गया। मेरठ में सोने की कीमत बढ़ गई जबकि चांदी में गिरावट देखी गई। मंगलवार को सोना 52500 प्रति दस ग्राम और चांदी 60450 प्रति किलो पर था। बुधवार को सोना 52700 हो गया। चांदी 59300 हो गई है।  लखनऊ में सोना में मामूली बढ़त रही। चांदी की कीमत स्थिर रही। मंगलवार को सोना 52500 प्रति दस ग्राम पर था। चांदी 59700 प्रति किलो पर थी। बुधवार को सोने की कीमत 52550 प्रति दस ग्राम हो गई। चांदी 59700 प्रति किलो पर ही रही।

ये भी पढ़िए – कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने के घरेलु उपाए

बता दें, आगरा में सोना और चांदी दोनों में बढ़ोतरी देखी गई। मंगलवार को सोना 52500 प्रति दस ग्राम था। चांदी 59000 प्रति किलो थी। बुधवार को सोना 52800 प्रति दस ग्राम हो गया। चांदी 1400 रुपये बढ़कर 60400 प्रति किलो हो गई।गोरखपुर में सोना में बढ़ोतरी और चांदी में गिरावट हुई। मंगलवार को सोना 52500 प्रति दस ग्राम था। चांदी 59000 प्रति किलो पर थी। बुधवार को सोना 52700 प्रति दस ग्राम हो गया। चांदी 58500 प्रति किलो हो गई।  बरेली में सोना में बढ़ोतरी और चांदी में गिरावट देखी गई। मंगलवार को सोना 52750 प्रति दस ग्राम और चांदी 59800 प्रति किलो थी। बुधवार को चांदी 59500 प्रति किलो और सोना 52800 प्रति दस ग्राम हो गया।

ये भी पढ़िएघर पर ही बनाये अपना आईलाइनर, इन चार तरीको से

हालाँकि सर्राफा बाजार के जानकारों का मानना है कि आने वाले दिनों में सोने के दाम में उछाल देखने को मिल सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि आने वाले दिनों में त्योहार और शादियों का सीजन शुरू होने वाला है।
एक शहर के अंदर भी सोना-चांदी के दो दुकानों में रेट का अंतर होता है। लेकिन कोई जेवर खरीदना हो तो मिला-जुलाकर ग्राहक का खर्च एक जैसा हो ही जाता है। दरअसल, जेवर पर सोना-चांदी के रेट के ऊपर मेकिंग चार्ज यानी बनाने का खर्चा लगता है। आप गौर करेंगे कि जिस दुकान में सोने का भाव कम होगा, वहां मेकिंग चार्ज 15-24 परसेंट तक ऊपर से लगता है।

कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने के घरेलु उपाए

0

कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए लोग कई तरह के नुस्खे आज़माते हैं। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि करेला खाने से आपका कोलेस्ट्रॉल कम हो सकता है। आमतौर पर करेले की सब्जी को कोई ख़ास पसंद नहीं करता है। इस सब्जी को कितने भी खास तरीके से क्यों न पकाया जाए या इस सब्जी के कड़वे स्वाद को छिपाने के लिए कितने मसालों का उपयोग किया जाए। लेकिन फिर भी हम इसे खाने से पहले जरूर हिचकिचाते हैं। लेकिन ये बात हम सभी जानते हैं कि ये हमारी सेहत के लिए करेला बहुत ही फायदेमंद है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि कोलेस्ट्रॉल को कम करने में भी करेला बेहद असरदार है। करेला जितना कड़वा है उसके फायदे उतने ही ज़्यादा है।

ये भी पढ़िए – घर पर ही बनाये अपना आईलाइनर, इन चार तरीको से

करेले का जूस पीने से सेहत को काफी ज्यादा फायदा मिलता है। इसके मदद से बॉडी की अंदरूनी क्लींजिंग हो जाती है जिससे कई बीमारियों से छुटकारा मिल जाता है। हालांकि ये इतना कड़वा होता है कि इसे पीना हर किसी के लिए आसान नहीं होता है। अगर आप दूसरे तरीके से करेले का फायदा उठाना चाहते हैं तो आप करेले की हर्बल टी पी सकते हैं। हालांकि ये पेय पदार्थ इतना पॉपुलर नहीं है, लेकिन इसके फायदे जबरदस्त हैं।करेले के जूस के फायदे के बारे में तो आपने खूब सुना होगा। लेकिन करेले की चाय भी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद है।

ये भी पढ़िए – राखी पर बहनों को ये करे गिफ्ट , बहने हो जाएँगी खुश

करेले की चाय में एंटी इंफ्लेमेंट्री प्रॉपर्टीज पाई जाती है जिसकी मदद से खून में बैड कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम किया जा सकता है। करेले की चाय एक हर्बल ड्रिंक है जिसे करेले या करेले के सूखे स्लाइस को पानी में डालकर बनाया जाता है और इसे औषधीय चाय के रूप में बेचा जाता है। करेले की चाय पाउडर या अर्क के रूप में उपलब्ध है। इसे गोह्या चाय के रूप में भी जाना जाता है और घर पर आसानी से तैयार किया जा सकता है। करेले के जूस के उलट, करेले की चाय इसके पत्तों, फलों और बीजों का एक ही समय में उपयोग करके बनाई जाती है। आप इस हर्बल टी को दिन में 2 बार पी सकते हैं। करेले के इस ख़ास चाय से कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम किया जा सकता है। यह हार्ट डिजीज के खतरे को भी कम करता है। करेले में इंफ्लेमेंट्री प्रॉपर्टीज और फाइट स्टेरोल्स मौजूद होता है, जो शरीर के बैड कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करता है।

घर पर ही बनाये अपना आईलाइनर, इन चार तरीको से

0

आँखों को सुन्दर दिखने के लिए महिलाएं अपनी आंखों में काजल और आईलाइनर जैसे ब्यूटी प्रॉडक्ट्स का इस्तेमाल करती हैं। कहा जाता हैं कि एक काजल और लाइनर न सिर्फ आपकी खूबसूरती को निखारता है बल्कि आपकी आंखें हाइलाइट करके आंखों के साइज को बड़ा भी दिखाता है। कई बार ऐसा भी होता है कि हम मार्केट से कोई बहुत महंगा लाइनर खरीद लाते हैं, जिसका साइड इफेक्ट बहुत ज्यादा होता है। ऐसे में आपको काजल या लाइनर भारी पड़ जाता है। आप भी अगर डीआईवाई आईलाइनर बनाना चाहते हैं, तो आप इस टिप्स कॉ फॉलो कर सकते हैं। आइए, जानते हैं कैसे बनाएं आईलाइनर-

कोको पाउडर आईलाइनर- अगर आप ब्लैक आईलाइनर का इस्तेमाल करके बोर हो गई हैं, तो कोको पाउडर का इस्तेमाल करें और कुछ नया ट्राई करें, जैसे ब्राउन आईलाइनर। एक छोटी कटोरी में एक चम्मच कोको पाउडर डालें। पानी या गुलाब जल की कुछ बूंदें डालने के बाद अच्छी तरह मिलाएं। इसे गाढ़ा रखें (जेल की तरह)। आपका लाइनर तैयार है।

बादाम आईलाइनर – बादाम किसी भी किचन शेल्फ पर आसानी से मिल जाते हैं। स्नैकिंग के अलावा अपना खुद का नेचुरल आईलाइनर बनाने के लिए मोमबत्ती/लाइटर जलाएं और बादाम को सावधानी से उठाने के लिए चिमटी का उपयोग करें, फिर आंच को बादाम को जलने दें। एक बटर नाइफ का उपयोग करके, बादाम के काले और धुएँ के रंग में बदलने के बाद, सभी काली कालिख को एक डिश में खुरचें। इसके बाद बादाम के तेल की दो बूंदें डालें। आपका आईलाइनर तैयार है।

चुकंदर के रस से बना आईलाइनर – यह आईलाइनर फॉर्मूला आपके लिए है, अगर आप फैशन कलर पसंद करते हैं, तो आपको यह स्टाइल जरूर पसंद आएगा। आधा चुकंदर को अच्छे से पीस लें। चुकंदर के रस को छानकर एक प्याले में निकाल लीजिए। एक कटोरी में एक चम्मच चुकंदर का रस मिला लें, फिर उसमें दो चम्मच प्राकृतिक एलोवेरा जेल मिलाएं। एक चिकना पेस्ट बनाने के लिए दोनों चीजों को मिलाएं। पेस्ट को इसमें डुबोकर कॉस्मेटिक ब्रश से लगाएं।

कुमकुम आईलाइनर – आपके क्लासी लुक को फ्लॉन्ट करने के लिए डीप रेड आईलाइनर परफेक्ट रहेगा। एक छोटी कटोरी में एक चम्मच कुमकुम पाउडर डालें। इसमें थोड़ा गुलाब जल मिला लें। इन्हें आपस में मिला लें। बनावट को गाढ़ा रखें (जेल की तरह)। इसे ब्रश की मदद से लैश लाइन्स पर लगाएं।

ये भी पढ़िए – राखी पर बहनों को ये करे गिफ्ट , बहने हो जाएँगी खुश

राखी पर बहनों को ये करे गिफ्ट , बहने हो जाएँगी खुश

0

आपने अभी तक अपनी बहनो के लिए गिफ्ट नहीं लिया है तो हम आपके लिए लेकर आए हैं यूजफूल सजेशन। आप फॉर्मेलिटी से बहन के लिए कुछ भी न खरीदें बल्कि उनके काम आने वाली चीजें गिफ्ट करें। इससे न सिर्फ उनके पास कोई काम की चीज हो जाएगी बल्कि फालतू के गिफ्ट पर आपके पैसे भी खराब नहीं होंगे। आइए, जानते हैं बहन के लिफ यूजफूल गिफ्ट ऑप्शन्स-

इंस्टेंट कैमरा
मोबाइल फोन ने कैमरे की वैल्यू कुछ कम कर दी है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि कैमरे को कोई पूछता नहीं अब। आपकी बहन को सेल्फी क्लिक करने का शौक होगा। ऐसे में आप इंस्टेंट कैमरा गिफ्ट कर सकते हैं, ताकि वे फोटो क्लिक करने के साथ ही प्रिंट भी कर सकें।

डिटॉक्स बोतल एंड हेल्दी बास्केट
आपकी बहन अगर फिटनेस और हेल्थ का बहुत ज्यादा ख्याल रखती हैं, तो उन्हें यह गिफ्ट बेहद पसंद आएगा। डिटॉक्स वॉटर बोतल के साथ आप हेल्दी स्नैक्स के बॉक्स या खुद चीजें खरीदकर गिफ्ट बास्केट भी तैयार कर सकते हैं।

लैपटॉप
आपकी बहन के पास अगर लैपटॉप नहीं है, तो आप अपने बजट के हिसाब से बहन को लैपटॉप भी गिफ्ट कर सकते हैं। लैपटॉप हमेशा से यूजफूल आइटम रहा है। आपकी बहन को यह गिफ्ट जरूर पसंद आएगा।

फिटनेस बैंड
फिटनेस की बात आती है, तो सबसे पहले एक्सरसाइज और जिम का ही ख्याल आता है लेकिन आप फिटनेस गैजेट्स भी कंसीडर कर सकते हैं। अपनी प्यारी बहनों को आप फिटनेस बैंड गिफ्ट कर सकते हैं। बढ़िया फिटनेस बैंड आपको 1000-1500 रुपए में भी मिल जाएगा।

स्मार्टवॉच
घड़ियां तो आपकी बहन के पास बहुत होगी लेकिन आप बहन को स्मार्टवॉच गिफ्ट कर सकते हैं। स्मार्टवॉच आपको 1 हजार रुपये से लेकर 35 हजार तक की रेंज में मिल जाएंगी। आप अपनी बहन को ध्यान में रखकर स्मार्टवॉच खरीद सकते हैं।

ये भी पढ़िए – रक्षाबंधन में ऐसे सजा कर ले जाये अपने भाई के सामने अपनी थाल