Homeदेशपहले पेट्रोल फिर नीबू अब सीमेंट के दामों में लगी आग

पहले पेट्रोल फिर नीबू अब सीमेंट के दामों में लगी आग

सीमेंट कंपनियों ने पिछले एक महीने में पेट्रोल-डीजल की तर्ज पर सीमेंट के दाम में 60 रुपये तक की बढ़ोतरी की है। सीमेंट की कीमतें पिछले फरवरी तक स्थिर थीं, लेकिन रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण, कंपनियों ने शुरू में कर में पांच-पांच रुपये की वृद्धि की। इस बीच, पेट्रोल और डीजल की कीमतों में वृद्धि के कारण, परिवहन की उच्च लागत के कारण, कीमतों में सोमवार से 35 रुपये की वृद्धि हुई है। अब सीमेंट के दाम 15 अप्रैल से 15 से 20 रुपये और बढ़ाने की तैयारी की जा रही है। इससे शहर में सीमेंट की कीमत 400 रुपये प्रति बोरी तक पहुंच जाएगी।

सीमेंट की कीमतें 19 फरवरी तक स्थिर थीं और उनमें कोई उछाल नहीं आया था। रूस-यूक्रेन युद्ध की शुरुआत के बाद कच्चे माल की कमी के कारण कंपनियों ने 6 से 11 मार्च के बीच सीमेंट की कीमतों में 5 रुपये की बढ़ोतरी की। इसके बाद अलग-अलग दिनों में सीमेंट के दाम पांच गुना बढ़ाए गए। इसके पीछे सीमेंट कंपनियों का तर्क है कि जनवरी और फरवरी के महीनों में सीमेंट की इतनी मांग नहीं थी, लेकिन मार्च तक निर्माण कार्य की गति के कारण मांग बढ़ गई। इस बीच कच्चे माल की अनुपलब्धता के कारण कीमतों में वृद्धि की गई। पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के बाद पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ गए, जिसका असर परिवहन लागत पर भी पड़ा है। इस वजह से सीमेंट के दाम बढ़ गए हैं। कंपनियां अप्रैल में कीमतों में और इजाफा करने की तैयारी कर रही हैं। माइसेम कंपनी ने सोमवार को ही एक प्रोफार्मा जारी कर सीमेंट के दाम में 15 अप्रैल से 15 से 20 रुपये तक की बढ़ोतरी के संकेत भी दिए हैं।

यह भी पढ़ें : दिल्ली एनसीआर में बढ़ता कोरोना कहीं चौथी लहर का संकेत तो नहीं

ऐसे बढ़े दाम-

  • 19 फरवरी – 330 रुपये प्रति बैग
  • 6 मार्च – 335 रुपये
  • 10 मार्च – 340 रुपये
  • 27 मार्च- 350 रुपये
  • 1 अप्रैल – 360 रुपये
  • 10 अप्रैल – 380 रुपये

निर्माण कार्यों पर प्रभाव
सीमेंट की कीमतों में बढ़ोतरी से सिटी सेंटर, न्यू सिटी सेंटर एक्सटेंशन, सिरोल, हुरावली सहित शहर में 100 से अधिक निर्माण स्थल प्रभावित हुए हैं। हालांकि बिल्डरों के पास फिलहाल पुराने भाव पर सीमेंट का स्टॉक है, लेकिन अब बिल्डर आगे और खरीदारी करने पर विचार कर रहे हैं। हाल ही में सरिए की कीमतों में वृद्धि के कारण निर्माण स्थलों को कुछ दिनों के लिए बंद कर दिया गया था। अब बिल्डर सीमेंट के दाम बढ़ने पर भी काम बंद करने की तैयारी कर रहे हैं। ऐसे में बिल्डरों का कहना है कि एक बार फ्लैट या डुप्लेक्स बुक हो जाने के बाद वे कीमतें नहीं बढ़ा सकते। ऐसे में उन्हें निर्माण की बढ़ी हुई लागत खुद वहन करनी होगी और इससे उन्हें नुकसान होगा।

Stay Connected
16,985FansLike
61,453SubscribersSubscribe
Latest Post
Current Updates