Homeउत्तर प्रदेशकूड़ा बीनने वालों ने किया था सामूहिक दुष्कर्म

कूड़ा बीनने वालों ने किया था सामूहिक दुष्कर्म

रेलवे स्टेशन पर सामूहिक दुष्कर्म के मामले में रविवार को तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी रेलवे स्टेशन के आसपास ही कूड़ा बीनने का काम करते हैं। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि महिला अपने दोस्त के साथ आउटर सिग्नल के पास बैठी थी। दोस्त को पीटकर भगा दिया गया, फिर सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया।

पुलिस ने तीनों आरोपियों को कोर्ट में पेश किया, जहां से जेल भेज दिया गया। युवती के दोस्त की भूमिका की भी जांच की जा रही है। दोस्त पुलिस की हिरासत में है। पकड़े गए आरोपियों की पहचान देवरिया जिले के सलेमपुर थाना क्षेत्र के भटवा धर्मपुर निवासी राजा उर्फ इम्तियाज मुहम्मद अंसारी, गोरखपुर के शाहपुर के कृष्णा नगर चौराहा निवासी संतोष चौहान और बिहार के बेगूसराय निवासी अंकित पासवान के रूप में हुई है। सभी आरोपियों की उम्र 19 से 22 वर्ष के बीच है।

ये भी पढ़ें-स्वास्थ्य कर्मियों के एकीकरण का फॉर्मूला हुआ तैयार

एसपी जीआरपी अवधेश सिंह व एसपी क्राइम इंदु प्रभा सिंह ने पुलिस लाइंस में प्रेस कांफ्रेंस कर पकड़े गए बदमाशों के बारे में जानकारी दी। एसपी जीआरपी ने बताया कि सात सितंबर की शाम युवती अपने एक दोस्त के साथ नौका विहार घूमने गई थी। वहां से लौटने के बाद दोनों रात में प्लेटफार्म नंबर एक के आउटर पर बैठकर बात कर रहे थे। इसी दौरान आए तीन युवकों ने दोस्त की पिटाई कर दी और युवती को तीन सौ मीटर आगे झाड़ी में ले जाकर दुष्कर्म किया।

बाद में पीड़िता खुद जीआरपी थाने पहुंची और घटना की जानकारी दी थी। एसपी ने बताया कि पीड़िता के बयान के आधार पर जीआरपी ने सामूहिक दुष्कर्म की धारा में केस दर्ज कर लिया था। जीआरपी की पांच और जिला पुलिस की अलग-अलग टीमें जांच में लगी थीं। रविवार को जीआरपी और एसओजी की संयुक्त टीमों को सूचना मिली कि  आरोपी प्लेटफार्म नंबर 9 के पश्चिमी तिकोनिया पार्क के पास जुटे हैं। सब भागने की फिराक में हैं।

लिहाजा, टीम ने मौके पर पहुंचकर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। एसपी ने बताया कि गिरफ्तारी करने वाली टीम को दस हजार रुपये का इनाम दिया गया है। मामले की कोर्ट में प्रभावी पैरवी की जाएगी। आरोपियों को कड़ी सजा दिलाने का प्रयास होगा।

 

Stay Connected
16,985FansLike
61,453SubscribersSubscribe
Latest Post
Current Updates