Homeउत्तर प्रदेशगोरखपुर के डीएम विजय किरन आनंद को प्रधानमंत्री ने किया सम्मानित ,जाने...

गोरखपुर के डीएम विजय किरन आनंद को प्रधानमंत्री ने किया सम्मानित ,जाने वजह

गोरखपुर के डीएम विजय किरन आनंद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हाथों प्रधानमंत्री पुरस्कार 2020 से सम्मानित हुए। सिविल सर्विसेज दिवस के अवस पर नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने उन्हें स्मृति चिह्न एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। जिलाधिकारी को यह पुरस्कार प्रयागराज मेला प्राधिकरण का मुख्य कार्यपालक अधिकारी/मेलाधिकारी रहते हुए बेहतर प्रबंधन के लिए दिया गया है।

यह भी पढ़ें : विश्व पृथ्वी दिवस : शहरीकरण के कारण लगातार घट रहा भूमि का उपजाऊपन

कुंभ में मेलाधिकारी रहते क‍िया था सराहनीय कार्य
प्रधानमंत्री पुरस्कार 2020 के लिए नवाचार श्रेणी में प्रयागराज मेला प्राधिकरण को पुरस्कार के लिए चुना गया। यहां का मेलाधिकारी होने के नाते विजय किरन आनंद एवं आयुक्त होने के कारण आशीष कुमार गोयल को प्रधानमंत्री के हाथों सिविल सर्विसेज दिवस के अवसर पर पुरस्कृत किया गया। कोरोना संक्रमण काल के कारण एक बीच में एक साल पुरस्कार वितरण समारोह आयोजित नहीं किया गया था।

पूरे व‍िश्‍व में हुई थी मेला प्रबंधन की सराहना
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की विशेष रुचि के कारण प्रयागराज में दिव्य कंभ, भव्य कुंभ का आयोजन हुआ और पूरे विश्व में इसकी सराहना की गई। मेलाधिकारी के रूप में विजय किरन आनंद ने यहां बेहतर प्रबंधन किया था। श्रद्धालुओं की बेहतर सुविधा के लिए मेला में 797 परियोजनाओं पर काम किया गया था।

24 विभागों ने संयुक्त रूप से न‍िभाई थी जिम्मेदारी
24 विभागों ने संयुक्त रूप से इसकी जिम्मेदारी निभाई थी। मेले के सफल आयोजन के बाद 15 प्रतिशत बजट भी शासन को वापस किया गया था।

सात अधिकारियों का हुआ है चयन
पूरे प्रदेश से सात अधिकारियों का चयन इस पुरस्कार के लिए किया गया है। जिलाधिकारी विजय किरन आनंद को यह पुरस्कार राज्य श्रेणी में दिया जाएगा। प्रयागराज में 2019 में दिव्य एवं भव्य कुंभ का आयोजन किया गया था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वयं कुंभ मेला की नियमित निगरानी की थी और हर सुविधा वहां उपलब्ध कराई गई थी। मेला में गए करोड़ों श्रद्धालुओं ने इस आयोजन की खूब प्रशंसा की थी।

डीएम ने सीएम के नेतृृृत्व को दिया श्रेय
विजय किरन आनंद ने कहा क‍ि मुख्यमंत्री योगी आद‍ित्‍यनाथ के नेतृत्व में यह कार्य हुआ। इसका श्रेय पूरी टीम को जाता है।

Stay Connected
16,985FansLike
61,453SubscribersSubscribe
Latest Post
Current Updates