Homeपश्चिम बंगालममता सरकार की पहली वर्षगांठ पर बंगाल की एक रैली में शामिल...

ममता सरकार की पहली वर्षगांठ पर बंगाल की एक रैली में शामिल होंगे गृहमंत्री

कोलकाता, पांच मई को ममता बनर्जी सरकार के तीसरे कार्यकाल की पहली वर्षगांठ होगी। सब कुछ ठीक रहा तो केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह उसी दिन राज्य में एक राजनीतिक रैली में शामिल होंगे। भाजपा सूत्रों के मुताबिक शाह के दौरे के दूसरे दिन सिलीगुड़ी में जनसभा होगी। वह छह मई को कोलकाता में भाजपा की संगठनात्मक बैठक में भी हिस्सा लेंगे।

भाजपा सूत्रों के मुताबिक अमित शाह का चार मई की रात को कोलकाता पहुंचने का कार्यक्रम है। अपने तीन दिवसीय दौरे के दौरान उनके प्रशासनिक और राजनीतिक कार्यक्रम भी हैं। पांच मई को केंद्रीय गृह मंत्री उत्तर 24 परगना के हिंगलगंज और कूचबिहार के तिनबीघा में सीमा सुरक्षा बल के समारोह में शामिल होंगे। वहीं उस दिन सिलीगुड़ी में बीजेपी की रैली होगी। वह रात में कोलकाता लौट सकते हैं। वह शहर में एक संगठनात्मक बैठक में भाग लेने वाले हैं। भगवा खेमे के सूत्रों ने बताया कि बैठक के लिए भाजपा जिलाध्यक्ष स्तर के नेताओं को बुलाया जाएगा। पार्टी के सांसदों और विधायकों को भी फोन आएगा। अमित शाह राज्य के अधिकारियों के साथ अलग से बैठक भी कर सकते हैं।

इसे भी पढ़े :क्वाड के शिखर सम्मलेन में फिर से मुलाकात करेंगे बाइडेन और पीएम मोदी

हालांकि भाजपा अमित शाह के कार्यक्रम के बारे में ब्योरा नहीं देना चाहती है। भाजपा का दावा है कि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि सिलीगुड़ी जनसभा या कोलकाता की बैठक कहां होगी। पार्टी के राज्य के एक नेता ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री के दौरे का कार्यक्रम समय-समय पर बदल रहा है। उन्होंने पहले भी दो बार बंगाल जाने की योजना बनाई थी लेकिन बाद में इसे रद कर दिया गया था। इसलिए कार्यक्रम के बारे में पक्के तौर पर कुछ नहीं कहा जा सकता है।

बता दें कि अमित शाह जनवरी में राज्य का दो दिवसीय दौरा करने वाले थे। लेकिन उस समय कोरोना के मामलों वृद्धि के कारण इसे रद कर दिया गया था। बाद में अप्रैल के मध्य में शाह का राज्य दौरा एक बार फिर रद कर दिया गया। हालांकि बंगाल भाजपा मई के पहले सप्ताह में दौरा सुनिश्चित करने पर विचार कर रही है। उपचुनाव में हार चुकी भाजपा अब पलटवार करने की लड़ाई शुरू करना चाहती है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने कहा कि पिछले एक साल में पार्टी कार्यकर्ताओं व नेताओं को लगातार हिंसा का सामना करना पड़ा है। अभी भी माहौल सामान्य नहीं है। पूरे राज्य में संगठनात्मक फेरबदल पहले ही हो चुका है। इस बार हम मुख्य विपक्षी दल की भूमिका अधिक मजबूती से निभाएंगे। हम लोगों की मांगों को लेकर आंदोलन करते रहेंगे। सुकांत समेत प्रदेश के नेता जिलों का दौरा कर रहे हैं। हालांकि बीजेपी कार्यकर्ताओं और समर्थकों को कोलकाता में जुलूस में दक्षिण बंगाल के जिलों से आने के लिए कहा जा रहा है। उत्तर बंगाल के नेताओं को नहीं बुलाया जा रहा है, क्योंकि उसके ठीक तीन दिन बाद ही अमित शाह की बैठक उत्तर बंगाल में होनी है।

Stay Connected
16,985FansLike
61,453SubscribersSubscribe
Latest Post
Current Updates