More
    Homeअपराधअंबाला सिविल अस्पताल में महिला ने लगाये रेडियोग्राफर पर आरोप , जांच...

    अंबाला सिविल अस्पताल में महिला ने लगाये रेडियोग्राफर पर आरोप , जांच शुरू

    हरियाणा अंबाला, अंबाला कैंट सिविल अस्पताल में एक्स-रे करने वाला रेडियोग्राफर सुर्खियों में है। एक्स-रे कराने पहुंची महिला के साथ दुर्व्यवहार की उच्चाधिकारियों तक पहुंची शिकायत के बाद सीनियर मेडिकल आफिसर की अध्यक्षता में तीन डाक्टरों की टीम जांच शुरू कर दी है।

    जांच में टीम पहले शिकायतकर्ता से संपर्क कर रही है और उसका बयान लेगी। इसके बाद आरोपित रेडियोग्राफर का भी पक्ष जानेगी। अब तक राज्य के स्वास्थ्य मंत्री, स्वास्थ्य विभाग के डायरेक्टर पंचकूला और सिविल सर्जन अंबाला के अलावा प्रिंसिपल मेडिकल आफिसर तक एक दर्जन से अधिक शिकायतें पहुंच चुकी है। विवादों से घिरे रेडियोग्राफर के खिलाफ अब तक हुई शिकायतों में एक एक करके सभी में विभागीय टीम जांच करेगी।

    इसे भी पढ़े :वन विभाग के अनुसार लखनऊ में 8.33 वर्ग किलोमीटर बढ़ा वन क्षेत्र का दायरा

    स्टाफ के साथ भी दुर्व्यवहार का आरोप

    अस्पताल के एकमात्र रेडियोग्राफर पर स्टाफ के साथ भी दुर्व्यवहार का आरोप लग चुका है। हालांकि मामला प्रिंसिपल मेडिकल अधिकारी के पास पहुंचने के बाद दोनों पक्षों को बुलाकर समझाते हुए सुलह कराते हुए वापस काम पर भेजा जा चुका है।

    मरीज को लौटाने का आरोप

    मरीज की हालत को देखते हुए अगर पर्ची पर डाक्टर ने अर्जेंट लिखा होने के बाद भी रेडियोग्राफर मरीज को अगले दिन जांच होने की बात कहकर वापस कर देता है। इस तरह की शिकायतों को लेकर प्रिंसिपल मेडिकल आफिसर से लेकर डिप्टी मेडिकल सुप्रिटेंडेंट तक आएदिन मरीज और तीमारदार पहुंचते हैं।

    जांच टीम में एनजीओ भी होगी शामिल

    रेडियोग्राफर के खिलाफ शुरू हुई जांच में एक स्वयंसेवी संस्था को भी शामिल करने पर विचार चल रहा है। अब पंजीकृत किस एनजीओ को जांच टीम का हिस्सा बनाया जाए, इस पर उच्चाधिकारियों से राय मांगी गई है। उच्चाधिकारियों की राय पर संबंधित एनजीओ पर एकमत होने के बाद उसे जांच में शामिल कर दिया जाएगा।

    रेडियोग्राफर के एक महिला ने गंभीर आरोप लगाते हुए शिकायत सिविल सर्जन से लेकर अन्य उच्चाधिकारियों तक की है। इस मामले की जांच के लिए कमेटी बना दी गई है। अब कमेटी पूर्व में आई शिकायतों को भी संज्ञान में लेकर शिकायतकर्ता से बात करके उसका पत्रा जानेगी, इसके बाद रिपोर्ट के आधार पर अगला कदम उठाया जाएगा।

    डा. राकेश सहल, प्रिंसिपल मेडिकल अधिकारी।

    Must Read