Homeलाइफस्टाइलइन आदतों की वजह से फेल हो सकती है किडनी, जानिये बचाव

इन आदतों की वजह से फेल हो सकती है किडनी, जानिये बचाव

किडनी हमारी बॉडी का अहम हिस्सा है जो बॉडी से टॉक्सिन को बाहर निकालती है और ब्लड को साफ करती है। किडनी में मौजूद लाखों फिल्टर खून से टॉक्सिन को बाहर निकालते हैं। किडनी के जरिए ही बॉडी में नमक, पानी और मिनरल्स बैलेंस में रहते हैं। किडनी के बिना शरीर के नर्वस, कोशिकाएं और मसल्स सही तरीके से काम नहीं कर सकते। अच्छी सेहत के लिए किडनी का हेल्दी होना जरूरी है।

तेज़ प्रताप ने कहा – नितीश चाचा अब रजनीगंधा और तुलसी भी कर दीजिये बंद

किडनी खराब होने पर बॉडी में उसके लक्षण दिखना शुरू हो जाते हैं। किडनी खराब होने पर पीठ में दर्द, यूरीन में खून आना, यूरिन का बार-बार डिस्चार्ज होना, यूरिन में जलन होना, ब्लड प्रेशर का कम या ज्यादा होना, किडनी की जगह पर दर्द होना, पैरों में दर्द और सूजन होने जैसे लक्षण दिखाई देते है।

बॉडी में अगर ये लक्षण दिखाई दें तो आप तुरंत किडनी की जांच कराएं और अपनी कुछ खराब आदतों को छोड़ दें। आपकी कुछ बुरी आदतें आपकी किडनी फेल होने के लिए जिम्मेदार है। आइए जानते हैं कि कौन सी बुरी लत हैं जो किडनी फेल होने के लिए जिम्मेदार हैं।

स्मोकिंग अधिक करना: स्मोकिंग करने से आपकी किडनी पर प्रेशर पड़ता है। ज्यादा स्मोकिंग करना किडनी फेल होने का कारण बनता है। स्मोकिंग करने से शरीर में ब्‍लड वेंस प्रभावित होती हैं, जिससे ब्‍लड फ्लो धीमा हो जाता है और किडनी को बहुत ज्यादा तनाव महसूस होने लगता है। धूम्रपान और तम्बाकू के सेवन से ऐथेरोस्कलेरोसिस रोग भी होता है, जिसकी वजह से ब्लड वेसेल्स में ब्लड का बहाव धीमा पड़ जाता है और किडनी में रक्त कम जाने से उसकी काम करने की क्षमता कम होने लगती है।

पानी का कम सेवन: किडनी की अच्छी हेल्थ के लिए पर्याप्त पानी का सेवन करना जरूरी है। आपको दिन में आठ गिलास पानी जरूर पीना चाहिए, इससे बॉडी हाइड्रेटेड रहेगी और किडनी बॉडी से टॉक्सिन को आराम से बाहर निकाल पाएगी।

सोडियम का अधिक सेवन: खाने में नमक का अधिक सेवन करने से किडनी की सेहत पर उसका असर पड़ता है। ज्यादा नमक किडनी फेल होने का कारण बन सकता है। खाने में नमक का अधिक सेवन करने से शरीर में सोडियम बढ़ जाता है, जिससे ब्लड प्रेशर पर भी असर पड़ता है। डब्ल्यूएचओ के मुताबिक दिन में 5 ग्राम से अधिक नमक का सेवन सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है।

पेशाब को कंट्रोल करना: कुछ लोगों की आदत होती है कि वो काम-काज में मसरूफ रहते हैं पेशाब आने पर भी उसे डिस्चार्ज नहीं करते। पेशाब आने पर उसे रोकना किडनी की सेहत को खराब करना है।

दर्द की दवाईयों का अधिक सेवन: दर्द की दवाओं का अधिक सेवन भी किडनी की सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है। कुछ लोगों की आदत होती है कि वो छोटी-छोटी परेशानी में भी दर्द की दवाओं का सेवन करते हैं। ज्यादा दवाईयां किडनी को खराब कर देती हैं।

Stay Connected
16,985FansLike
61,453SubscribersSubscribe
Latest Post
Current Updates