Homeउत्तर प्रदेशजानिये लखनऊ के बाबा टीकाराम की कहानी

जानिये लखनऊ के बाबा टीकाराम की कहानी

बाबा टीकाराम दास हनुमान मंदिर श्रद्धालुओं के लिए अटूट आस्था का केंद्र है.इस मंदिर का नाम बाबा टीकाराम दास हनुमान मंदिर इस वजह से है क्योंकि कहा जाता है कि यहां पर बाबा टीकाराम दास ने मंदिर के निर्माण के लिए जल समाधि लेने ले ली थी. इसीलिए यह मंदिर उनके नाम से ही मशहूर है क्योंकि इस मंदिर का निर्माण ही उनके नाम पर उनके परिवार के दूसरे सदस्यों ने करवाया था. खास बात यह है कि इस मंदिर में हनुमान जी की जो प्रतिमा बनी हुई है उनके चरणों में बाबा संत टीकाराम दास के साथ ही उनके पुत्र की भी फोटो को रखा गया है और यह मंदिर बेहद प्राचीन है.

ये भी पढ़िए –ज्यादा बियर पिने से हो सकता है कैंसर

इस मंदिर में हनुमान जी की प्रतिमा संजीवनी पर्वत उठाए हुए हैं. कहते हैं जहां भी संजीवनी पर्वत उठाए हुए हनुमान जी की प्रतिमा होती है वहां पर दर्शन करने से इंसान के जीवन में तरक्की निरंतर होती रहती है.

इस मंदिर के पुजारी धर्म नारायण पांडेय ने बताया कि इस मंदिर की महंत एक महिला है. उनका नाम पूनम मिश्रा है. इस मंदिर में पूरी विधि विधान से पूजा अर्चना की जाती है. मंदिर की स्थापना कब हुई है किसी को भी नहीं पता है.

ये भी पढ़िए –पाकिस्तान में डॉक्टर ने हिन्दू महिला का इलाज़ करने से किया मना

Stay Connected
16,985FansLike
61,453SubscribersSubscribe
Latest Post
Current Updates