More
    Homeमध्य प्रदेशएलपीजी की कीमतों में 50 रुपये का इजाफा गृहणियों का बिगड़ा बजट

    एलपीजी की कीमतों में 50 रुपये का इजाफा गृहणियों का बिगड़ा बजट

    भोपाल:  मई के पहले हफ्ते में एलपीजी की कीमतों में बढ़ोतरी से उपभोक्ताओं को दोहरा झटका लगा है। व्यावसायिक उपयोग वाले गैस सिलेंडर की कीमत में 01 मई को 102.50 रुपये की बढ़ोतरी के बाद अब शनिवार को घरेलू रसोई गैस सिलेंडर की कीमत में भी 50 रुपये की वृद्धि हुई है। अब तक भोपाल में लोगों को 955.50 रुपये प्रति एलपीजी सिलेंडर देना पड़ता था। अब सिलेंडर के लिए 1005.50 रुपये देने होंगे। पांच सदस्यीय परिवार में अगर एक महीने में 14.2 किलो का सिलेंडर खर्च किया जाए तो महीने के बजट में 50 रुपये की बढ़ोतरी हुई है। इससे पहले 1 मई को व्यावसायिक उपयोग के लिए गैस सिलेंडर की कीमत में 102.50 रुपये की वृद्धि की गई थी। कमर्शियल सिलेंडर 2362 रुपये तक मिलते थे। राहत की बात यह है कि शनिवार को कमर्शियल सिलेंडर नौ रुपये तक कम हुआ है। अब कमर्शियल सिलेंडर 2353 में मिलेगा।

    इसे भी पढ़े :स्वस्थ रहने के लिए अपने रूटीन में शामिल करें कुछ खास एक्सरसाइज

    अभी तक तेल कंपनियों ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कोई बढ़ोतरी नहीं की है। पेट्रोल-डीजल के दाम 6 अप्रैल से स्थिर हैं। भोपाल में फिलहाल पेट्रोल 118.14 रुपये और डीजल 101.04 रुपये प्रति लीटर पर मिल रहा है, लेकिन एलपीजी सिलेंडर में कीमतों में बढ़ोतरी की दोहरी मार ने एक बार फिर लोगों को चिंतित कर दिया है। कमर्शियल सिलेंडर के महंगे होने से होटल, रेस्टोरेंट और हॉकर्स कॉर्नर पर मिलने वाली खाने-पीने की चीजें महंगी हो गई हैं। एक तरफ जहां मार्च और अप्रैल में पेट्रोल-डीजल के दामों में हुई बढ़ोतरी से महंगाई का असर हर तरफ से पढ़ा जा रहा है। लोगों के घरों का बजट खराब हो गया है।

    वहीं रसोई गैस की ताजा कीमतों में बढ़ोतरी ने लोगों की मुश्किलें और बढ़ा दी हैं। पंजाबी बाग निवासी शालिनी श्रीवास्तव का कहना है कि अब सिलेंडर घर बुलाने के लिए 1005.50 रुपये तैयार रखने होंगे। खातों में सब्सिडी की राशि भी बंद कर दी गई है। समझ में नहीं आ रहा है कि किचन का बजट कैसे हैंडल करें। वहीं विश्वकर्मा नगर निवासी सुनीता मालवीय का कहना है कि रसोई गैस के साथ-साथ खाना पकाने के तेल व अन्य चीजों के दाम भी बढ़े हैं, जबकि आमदनी जस की तस बनी हुई है। ऐसे में घर का खर्चा चलाना मुश्किल हो रहा है।

    Must Read