Homeपॉलिटिक्सटांडा में नए पद नहीं सृजित होने से डिस्पेंसरी के बाहर लगी...

टांडा में नए पद नहीं सृजित होने से डिस्पेंसरी के बाहर लगी भारी भीड़

टांडा:  डा. राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कालेज एवं अस्पताल कांगड़ा स्थित टांडा में जांच या टेस्ट करवाने के लिए ही नहीं दवा के लिए भी लंबा इंतजार करना पड़ता है। डिस्पेंसरी के बाहर रोगियों व तीमारदारों की दवा लेने के लिए लंबी कतारें लगी रहती हैं। फार्मासिस्टों का कहना है कि नाइट ड्यूटी ने व्यवस्था बिगाड़ दी है। फार्मासिस्टों को फार्मेसी के अलावा क्लर्क का भी कार्य करना पड़ रहा है। जब से टांडा मेडिकल कालेज शुरू हुआ है। फार्मासिस्टों के वही पद हैं, जबकि काम चार गुणा बढ़ गया है। टांडा में फार्मासिस्टों के 20 तथा चीफ फार्मासिस्ट के तीन पद हैं, परंतु काम डिस्पेंसरी, रोगी कल्याण समिति, हिम केयर, जनरल स्टोर, आक्सीजन व लिक्वड आक्सीजन स्टोर, मेडिसिन स्टोर व कोविड-19 के लिए ड्यूटी देने के अलावा एक फार्मासिस्ट फार्माकोलाजी व एक आर्थो विभाग में तैनात किया गया है।

इसे भी पढ़े :30 अप्रैल की रात आसमान की खूबसूरती में होने जा रही रोमांचक घटना, जानें पूरी ख़बर

फार्मासिस्टों का कहना है कि उनसे काम तो हर तरह का लिया जाता है, लेकिन न तो फार्मेसी अलाउंस और न ही एक माह का अतिरिक्त वेतन मिलता है। सरकार ने जेसीसी में पदनाम बदलने की सहमति दी, लेकिन यह मामला भी अभी लंबित है। जिला कांगड़ा फार्मासिस्ट संघ के प्रदेश प्रधान चमन ठाकुर, मनोज ठाकुर, कृष्ण कुमार, विपिन शर्मा, जसमेर ठाकुर, भरत भूषण, आशीष, पुष्पा, कुशल, अमित, संजय, विनोद कुमार, रीना, विशाल, राजेश शर्मा, सुनील कुमार, नरेंद्र, अनिल, राकेश, रविंद्र, सतविंद्र कौर व बलविंद्र का कहना है कि नाइट ड्यूटी करवाने से पहले नए पद सृजित किए जाएं, जिससे दिन में डिस्पेंसरी में लोगों को असुविधा का सामना न करना पड़े। अस्पताल में ज्यादातर दवाएं अब मुफ्त मिल रही हैं, इस कारण डिस्पेंसरी में काम का बोझ बढ़ा है। सुपरस्पेशियिलिटी में भी डिस्पेंसरी खुलने से लोगों को सुविधा मिल रही है, लेकिन पद न बढ़ऩे से दिक्कत आ रही है।

चिकित्सा अधीक्षक टांडा मेडिकल कालेज डा. मोहन सिंह ने कहा कि सरकार के आदेश के अनुसार ही फार्मासिस्टों की नाइट ड्यूटी लगाई गई है। इससे रात को इमरजेंसी में आने वाले रोगियों को मुफ्त दवाएं उपलब्ध करवाई जा रही हैं। टांडा मेडिकल कालेज में फार्मासिस्टों के तीन पद सृजित किए जाने का प्रस्ताव सरकार को भेजा है। फार्माकोलाजी व आर्थो विभाग में फार्मासिस्टों की ड्यूटी मेरे आने से पहले की लगी है। इस बारे में मुझे कोई जानकारी नहीं है।

Stay Connected
16,985FansLike
61,453SubscribersSubscribe
Latest Post
Current Updates