Homeउत्तर प्रदेशमुख्यमंत्री योगी के क्षेत्र में दौड़ेगी मेट्रो, भेजा गया प्रस्ताव

मुख्यमंत्री योगी के क्षेत्र में दौड़ेगी मेट्रो, भेजा गया प्रस्ताव

गोरखपुर महानगर में जल्द ही मेट्रो परियोजना के निर्माण का काम शुरू कर दिया जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार इस परियोजना के प्रगति की निगरानी कर रहे हैं। सीएम योगी ने वीडियो कांफ्रेंस‍िंग के जरिए भी उन्होंने इस दिशा में काम तेज करने का निर्देश दिया। केंद्र सरकार से मंजूरी मिलने के बाद इस प्रस्ताव को उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कारपोरेशन (यूपीएमआरसी) को भेज दिया गया है। संभावना जताई जा रही है कि जल्द ही गोरखपुर मेट्रो रेल कारपोरेशन (जीएमआरसी) का गठन हो जाएगा। इसके बाद निर्माण कार्य भी अगले छह महीने के भीतर शुरू हो सकता है।

46 सौ करोड़ रुपये का आएगा खर्च

गोरखपुर में लाइट रेल ट्रांंजिट (एलआरटी) के रूप में मेट्रो संचालन की योजना बनाई गई। इसपर करीब 4600 करोड़ रुपये खर्च आने का अनुमान है। केंद्र सरकार के पब्लिक इंवेस्टमेंट बोर्ड से मंजूरी मिलने के बाद इसका निर्माण शुरू होने की कवायद चल रही थी लेकिन मेट्रोपोलिटन शहर में ही मेट्रो संचालित होने का नियम होने के कारण इसे कुछ दिन और रोकना पड़ा। शासन ने इस बाधा को दूर करने के लिए गोरखपुर को मेट्रोपोलिटन शहर घोषित कर दिया। अब मेट्रो के संचालन में कोई बाधा नहीं रह गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद गोरखपुर विकास प्राधिकरण (जीडीए) सक्रिय हो गया है।

मुख्यमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंस‍िंग कर ली प्रगत‍ि की जानकारी

मुख्यमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंस‍िंग के जरिए प्रदेश के सभी जिलों में प्रस्तावित मेट्रो के प्रोजेक्ट में तेजी लाने का निर्देश दिया। जीडीए उपाध्यक्ष प्रेमरंजन स‍िंह ने अभियंताओं के साथ मेट्रो के प्रगति की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने गोरखपुर में छह महीने के भीतर एलआरटी के शुभारंभ का निर्देश दिया है। जिस रूट से मेट्रो गुजरनी है, वहां फोरलेन एवं सिक्स लेन का निर्माण भी लगभग पूरा होने वाला है। सड़क के बीच में बने डिवाइडर पर ही मेट्रो के पिलर बनाने की संभावना है।

इसे भी पढ़े :भारत में कोरोना पकड़ रहा रफ़्तार, 1 दिन में मिले 2380 नए मामले

यह होगा मेट्रो का रूट

पहला रूट : मेट्रो का पहला रूट श्यामनगर (बरगदवां के पास) से सूबाबाजार तक होगा। इसकी लंबाई करीब 16.95 किलोमीटर होगी। इसपर श्यामनगर, बरगदवा, शास्त्रीनगर, नथमलपुर, गोरखनाथ मंदिर, हजारीपुर, धर्मशाला, गोरखपुर रेलवे स्टेशन, विश्वविद्यालय, मोहद्दीपुर, रामगढ़ताल, एम्स, मालवीयनगर, एमएमएमटीयू, दिव्यनगर (भविष्य का स्टेशन), सूबा बाजार।

दूसरा रूट : दूसरा रूट गुलरिहा से नौसढ़ चौराहा तक होगा। इसकी लंबाई 12.70 किलोमीटर होगी। इस पर गुलरिहा, बीआरडी मेडिकल कालेज, मुगलहा, खजांची बाजार, बशारतपुर, अशोक नगर, विष्णु नगर (भविष्य का स्टेशन), असुरन चौक, धर्मशाला, गोलघर, कचहरी चौराहा, बेतियाहाता, ट्रांसपोर्टनगर, नौसढ़ चौराहा।

जल्द ही गोरखपुर मेट्रो रेल कारपोरेशन का गठन होने की उम्मीद है। वीडियो कांफ्रेंस‍िंग में गोरखपुर मेट्रो को लेकर चर्चा की गई। लगभग हर बात स्पष्ट हो चुकी है। स्थानीय स्तर से जिस सहयोग की जरूरत होगी, प्राधिकरण करेगा।

 

 

Stay Connected
16,985FansLike
61,453SubscribersSubscribe
Latest Post
Current Updates