Homeअपराधमूसेवाला हत्या का खुलासा

मूसेवाला हत्या का खुलासा

कांग्रेस नेता और सिंगर सिद्धू मूसेवाला की हत्या के अस्सी दिन बाद उनके पिता बलकार सिंह ने आरोप लगाया है कि हत्या के पीछे उनके कुछ करीबी दोस्त और राजनेता थे. सिंगर और कांग्रेस नेता सिद्धू मूसेवाला की हत्या के अस्सी दिन बाद उनके पिता बलकार सिंह ने आरोप लगाया है कि हत्या के पीछे उनके कुछ करीबी दोस्त और राजनेता थे. उन्होंने कहा कि वह जल्द ही इन लोगों के नाम जारी करेंगे. बलकार सिंह ने कहा कि सिद्धू मूसेवाला की हत्या इसलिए की गई क्योंकि वह बहुत ही कम समय में लोकप्रियता के पायदान पर चढ़ गए थे और कुछ लोग इसे बर्दाश्त नहीं कर सके. बलकार सिंह ने कहा कि सरकार को भी गुमराह किया गया था.

ये भी पढ़िए –हरनाज संधू वायरल वीडियो

उन्होंने बताया, ‘कुछ लोग चाहते थे कि वह उनके माध्यम से अपने करियर में सभी सौदे करें, लेकिन सिद्धू स्वतंत्र थे. यह वे स्वीकार नहीं कर सके और उन्हें मार डाला.’ बता दें कि 29 मई को पंजाब के मनसा जिले में अज्ञात हमलावरों ने गायक-राजनेता सिद्धू मूसेवाला की गोली मारकर हत्या कर दी थी. सिद्धू मूसेवाला की राज्य सरकार द्वारा सुरक्षा कम करने के एक दिन बाद गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. उनके साथ जीप में यात्रा कर रहे उनके चचेरे भाई और एक दोस्त भी हमले में घायल हो गए थे. रिपोर्ट से पता चला कि गोली लगने के 15 मिनट के भीतर उसकी मौत हो गई और उसके शरीर में 19 गोलियां लगी थीं.बता दें कि पिछले महीने ही सिद्धू मूसेवाला की हत्या के मुख्य साजिशकर्ता गैंगस्टर गोल्डी बराड़ के दो साथियों को पंजाब से उस समय पकड़ लिया गया जब वे हरियाणा भागने की कोशिश कर रहे थे. डीजीपी के मुताबिक, बठिंडा के मलकीत सिंह उर्फ किट्टा और हरदीप सिंह उर्फ मम्मा को स्थानीय पुलिस के साथ संयुक्त अभियान चलाकर पुलिस के गैंगस्टर निरोधक कार्य बल (एजीटीएफ) की टीम ने गिरफ्तार कर लिया.

ये भी पढ़िए –गुरुजी को मिली धमकी

पुलिस महानिदेशक के मुताबिक गिरफ्तार किए गए दोनों ही लोगों की आपराधिक पृष्ठभूमि रही है. सिद्धू मूसेवाला की हत्या में कथित रूप से शामिल गैंगस्टर जगरूप सिंह रूपा और मनप्रीत सिंह उर्फ मन्नू कुसा नामक दो गैंगस्टर पिछले महीने अमृतसर के एक गांव में पंजाब पुलिस के साथ करीब पांच घंटे तक चली मुठभेड़ में मारे गए थे. मूसेवाला की हत्या के पीछे गोल्डी बराड़ कथित तौर पर मुख्य साजिशकर्ता है.डीजीपी गौरव यादव ने कहा कि मूसेवाला की हत्या में किट्टा और मम्मा की भूमिका से इंकार नहीं किया जा सकता है और हम उसकी भी जांच कर रहे हैं. पुलिस ने उनके कब्जे से सात पिस्तौल (छह 0.32 बोर और एक 0.30 बोर) के अलावा गोला-बारूद और एक सहायक उप-निरीक्षक रैंक के पुलिस अधिकारी की वर्दी भी बरामद की.

ये भी पढ़िए –मंत्रियों की लिस्ट जारी

Stay Connected
16,985FansLike
61,453SubscribersSubscribe
Latest Post
Current Updates