Homeअपराधदिल्ली में सामान्य हुए हालात लेकिन अभी भी थोड़ा तनाव बरकरार

दिल्ली में सामान्य हुए हालात लेकिन अभी भी थोड़ा तनाव बरकरार

हनुमान जन्मोत्सव पर शनिवार शाम को दिल्ली के जहांंगीरपुरी में हुई हिंसा के बाद सोमवार को हालात सामान्य है, लेकिन तनाव अब भी देखा जा सकता है। हालात पर पूरी तरह से काबू पाने के लिए दिल्ली पुलिस के जवानों के साथ अन्य सुरक्षा भी तैनात हैं। पूरे इलाके पर ड्रोने के जरिये भी नजर रखी जा रही है। वहीं, जहांगीरपुरी हिंसा मामले में जांच के लिए फारेंसिक की एक टीम जहांगीरपुरी के C-ब्लॉक पहुंची है।

दिल्ली के सीपी राकेश अस्थाना रविवार रात को जहांगीरपुरी पुलिस स्टेशन के सब-इंस्पेक्टर मेदा लाल से उनके आवास पर जाकर उनका हालचाल जाना। इसके साथ सीपी ने कहा कि पुलिस विभाग की ओर से हर संभव सहयोग दिया जाएगा।

वहीं, दिल्ली पुलिस की ओर से भी कहा गया है कि जहांगीरपुरी में हनुमान जन्मोत्सव पर शोभायात्रा पर पथराव के बाद भड़की हिंसा पर पूरी तरह से काबू पा लिया गया है। इससे पहले रविवार को भी कोई उपद्रव नहीं हुआ। य़ह अलग बात है कि इलाके में तनावपूर्ण शांति बनी हुई है और एहतियातन बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात है। सोमवार सुबह से इलाके में भारी सुरक्षा बलों की तैनाती के साथ हिंसा में शामिल उपद्रवियों की धरपकड़ शुरू हो गई है।

यह भी पढ़ें : पत्नी से परेशान पति ने परिवार को ज़हर खिलाकर की आत्महत्या

हिंसा में आरोपित अंसार व पिस्टल से फायरिंग करने के आरोपित असलम को पुलिस ने रोहिणी कोर्ट में पेश कर एक दिन के रिमांड पर लिया है। दिल्ली पुलिस ने इन आरोपितों से तीन पिस्टल, पांच तलवारें बरामद हुई हैं।

संवेदनशील इलाकों में चौकसी बढ़ा दी गई
गौरतलब है कि शोभायात्र पर पथराव के तत्काल बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली पुलिस के उच्चाधिकारियों से बात कर तुरंत हालात को नियंत्रित करने के निर्देश दिए थे। पुलिस ने तत्काल मोर्चा संभाल लिया, जिससे उपद्रव को दूसरे इलाकों में फैलने से रोक लिया गया।

यह भी पढ़ें : बठिंडा के पूर्व पार्षद ने किया महंगाई के खिलाफ अनोखा प्रदर्शन

राजधानी दिल्ली के सभी संवेदनशील इलाकों में सोमवार को भी चौकसी देखी जा रही है। जहांगीरपुरी, जामिया नगर, जसोला, उत्तर पूर्वी दिल्ली समेत कई इलाकों में छतों पर ड्रोन से नजर रखी जा रही है। इसके जरिये पुलिस यह भी पता लगाने की कोशिश कर रही है कि किन लोगों की छतों पर ईंट-पत्थर एकत्र हैं। विशेष समुदाय की बहुलता वाले इलाकों में शांतिप्रिय लोगों के साथ पुलिस गश्त बढ़ाई गई है।

इसके अलावा , सभी 15 जिलों के वरिष्ठ अधिकारी अमन कमेटी के साथ बैठक कर शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील कर रहे हैं। मस्जिदों में सुबह अजान के दौरान पुलिस मुस्तैद रहेगी। रविवार देर शाम क्राइम ब्रांच के विशेष आयुक्त रविंद्र यादव ने घटनास्थल का दौरा किया। माना जा रहा है कि पूरे मामले की जांच क्राइम ब्रांच को सौंपी जाएगी।

यह भी पढ़ें : पत्नी से परेशान पति ने परिवार को ज़हर खिलाकर की आत्महत्या

मुख्य साजिशकर्ता पर पहले से दो मामले दर्ज हैं
उत्तर पश्चिमी जिले की डीसीपी उषा रंगनानी ने बताया कि आरोपितों के खिलाफ तेजी से कार्रवाई की जा रही है। चौथी कक्षा तक पढ़ा अंसार ही हिंसा का मुख्य साजिशकर्ता है। वह कबाड़ी का काम करता है। उसके खिलाफ दो मामले पूर्व में दर्ज हैं। उसे पहली बार वर्ष 2009 में चाकू के साथ गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद वर्ष 2018 में उसके खिलाफ सरकारी कर्मचारी पर हमला करने और काम में बाधा डालने की धारा में मुकदमा दर्ज किया गया था। उस पर सट्टेबाजी के मामले में भी कार्रवाई की जा चुकी है।

इन धाराओं में दर्ज हुआ मुकदमा
आरोपितों के खिलाफ दंगा भड़काने, शांतिभंग, पुलिस पर हमला करने व सरकारी कामकाज में बाधा डालने सहित कई अन्य संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

 

Stay Connected
16,985FansLike
61,453SubscribersSubscribe
Latest Post
Current Updates