Homeलाइफस्टाइलमोटापा बन सकता है बड़ा खतरा

मोटापा बन सकता है बड़ा खतरा

कोरोना काल से लोगों में अपनी सेहत को लेकर सतर्कता बढ़ी है। हालांकि सेहत पर ध्यान न देने के कारण वजन बढ़ने और मोटापे से ग्रस्त होने जैसी समस्याएं भी बढ़ीं। मोटापा कई रोगों की वजह होता है। शरीर का वजन बढ़ना संपूर्ण सेहत के लिए नुकसानदायक है। इसके अलावा मोटापा शारीरिक और मानसिक रूप से नकारात्मक असर डालता है। वजन बढ़ने की वजह से मानसिक कमजोरी होने के साथ ही कई सारी शारीरिक बीमारियां हो सकती हैं। मोटापे को दूर करने के लिए लोग डाइटिंग करने लगते हैं। वजन घटाने के लिए कई घरेलू नुस्खे अपनाते हैं। घंटो वर्कआउट करते हैं। लेकिन मोटापे को कंट्रोल करने और वजन कम करने के लिए डाइटिंग और वर्कआउट भी शरीर को नुकसान पहुंचा सकती है। चलिए जानते हैं मोटापे से होने वाली बीमारियों के बारे में।

उच्च रक्तचाप की समस्या – वजन लगातार बढ़ने से उच्च रक्तचाप से ग्रस्त हो सकता है। उच्च रक्तचाप यानी हाइपरटेंशन भी कहा जाता है। अगर रक्तचाप 140/90 एमएमएचजी या इससे भी अधिक रहता है, तो आपको सतर्क रहने की जरूरत है। मोटापे के कारण ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है।

हृदय रोग का खतरा – वजन बढ़ने के कारण हृदय रोग की संभावना भी बढ़ सकती है। मोटापे के कारण कार्डियोवैस्कुलर संबंधित समस्याओं के बढ़ने का खतरा भी होता है।एन्जाइना, हार्ट फेल, हार्ट अटैक, कार्डियक अरेस्ट जैसे खतरे की संभावना भी बढ़ जाती है।

डायबिटीज का खतरा – मोटापे के कारण डायबिटीज की समस्या हो सकती है। शरीर में ब्लड ग्लूकोज का सामान्य स्तर 70 से 120 मिलीग्राम/डीएल से अधिक नहीं होना चाहिए। कई बार मोटापे के कारण ब्लड ग्लूकोज का लेवल बढ़ने से टाइप 2 डायबिटीज होने का खतरा रहता है। ओबेसिटी फैटी एसिड में बढ़ोतरी का भी यही कारण है। इसलिए मोटापे पर काबू न पाने के कारण डायबिटीज हो सकता है।

ब्रेन स्ट्रोक का खतरा – मोटापे के कारण आइसोनिक स्ट्रोक का खतरा हो सकता है। अधिक वजन के कारण मस्तिष्क में पर्याप्त मात्रा में ब्लड सप्लाई नहीं हो पाता। ब्लड वेसल्स में ब्लॉकेज के कारण ब्लड सप्लाई बाधित हो जाता है और ब्रेन स्ट्रोक आने का खतरा बढ़ जाता है।

नींद की समस्या – वजन अधिक होने से रात में अच्छी नींद नहीं आती। इसका एक कारण आंत में चर्बी जमा होने के कारण रक्त वाहिकाएं सामान्य रूप से ब्लड सप्लाई करने में सक्षम नहीं होती और नींद के दौरान सांस लेने में समस्या महसूस होती है। पर्याप्त और गहरी नींद न ले पाने के कारण स्लीप एप्निया की समस्या हो सकती है।

ये भी पढ़िए –आपस में भिड़े उद्धवऔर शिंदे के समर्थक

Stay Connected
16,985FansLike
61,453SubscribersSubscribe
Latest Post
Current Updates