Homeउत्तर प्रदेशजहां तैनाती वहां हर हाल में रात रुकें अफसर : योगी आदित्यनाथ

जहां तैनाती वहां हर हाल में रात रुकें अफसर : योगी आदित्यनाथ

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनसमस्याओं के त्वरित निस्तारण के लिए अफसरों को रात में क्षेत्र में ही रुकने के लिए कहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, पुलिस क्षेत्राधिकारी हर हाल में अपनी तैनाती वाली जगह पर रात में रुकें। बिना वजह मुख्यालय पर न जाएं। क्षेत्र में रहेंगे तो नागरिकों की समस्याएं तत्काल उन तक पहुंचेंगी और त्वरित निस्तारण भी होगा। अफसर समय से अपने कार्यालय में बैठें। जन समस्याओं के समाधान के लिए अफसर जनप्रतिनिधियों के साथ हर महीने बैठक करें और इसमें विकास कार्य व कानून-व्यवस्था मुद्दा हो। भूमाफिया पर नकेल कसें और भ्रष्टाचारियों पर कड़ी कार्रवाई करें।

यह भी पढ़ें : पहले वीकेंड में KGF 2 ने की 500 करोड़ से ऊपर की कमाई

मुख्यमंत्री ने मंडल के चार जिलों के अफसरों के साथ की समीक्षा बैठक
मुख्यमंत्री गोरखपुर मंडलायुक्त कार्यालय में गोरखपुर मंडल के गोरखपुर, देवरिया, कुशीनगर, महराजगंज के डीएम व पुलिस अधीक्षकों और गोरखपुर जिले के जनप्रतिनिधियों के साथ समीक्षा बैठक कर रहे थे। उन्होंने 10 करोड़ और इससे ज्यादा लागत वाली योजनाओं की समीक्षा की। कहा कि जनप्रतिनिधियों का फोन जरूर रिसीव करें और उन्हें पूरा रिस्पांस करें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अफसर समस्याओं का समाधान करें और फोन पर नागरिकों को बताएं। पूर्वाह्न 10:27 बजे मंडलायुक्त कार्यालय पहुंचे मुख्यमंत्री समीक्षा बैठक और जनप्रतिनिधियों से बात कर दोपहर 1:38 बजे बाहर निकले। मुख्यमंत्री ने कहा कि गोरखपुर जिले के एसपी दक्षिणी अपने क्षेत्र में किराये का कमरा लेकर रात रुकें। इसी तरह अन्य अफसर भी लोगों के बीच में रहें।

ऊपर तक न आएं शिकायतें
मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता दर्शन और वरिष्ठ अफसरों के पास ऐसी शिकायतें आती हैं जो थाना, ब्लाक और तहसील स्तर पर निपट सकती हैं। निचले स्तर पर प्रभावी कार्रवाई न होने के कारण नागरिकों को अपनी समस्याएं लेकर उ’चाधिकारियों के पास आना पड़ता है। जन समस्याओं का स्थानीय स्तर पर त्वरित निस्तारण कराया जाए ताकि किसी को परेशान न होना पड़े। अपराधियों से सख्ती से निपटा जाए।

पुलिस बैंड को सक्रिय कर, सप्ताह का शेड्यूल बनाएं
मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस बैंड इक्का-दुक्का स्थानों पर विशेष अवसरों पर बजाए जाते हैं। इससे बैंड से जुड़े लोग अपना कार्य ही भूल जाते हैं। इस व्यवस्था में बदलाव किया जाए। पुलिस बैंड का साप्ताहिक शेड्यूल बनाया जाए। हर शहीद व पर्यटन स्थलों के साथ ही महत्वपूर्ण स्थानों पर एक सप्ताह बैंड बजाएं और देश भक्ति की धुन बजाएं।

Stay Connected
16,985FansLike
61,453SubscribersSubscribe
Latest Post
Current Updates