More
    Homeउत्तर प्रदेशज्ञानवापी मुद्दे पर कांग्रेस नेता से साधा बीजेपी नेता पर निशाना

    ज्ञानवापी मुद्दे पर कांग्रेस नेता से साधा बीजेपी नेता पर निशाना

    नई दिल्‍ली : कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता प्रमोद तिवारी ने वाराणसी की ज्ञानवापी मस्‍ज‍िद के मुद्दे पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधा है। प्रमोद तिवारी ने आरोप लगाया है कि भाजपा राजनीति करने के लिए ज्ञानवापी केस में आयोध्‍या मामले जैसा दूसरा मुद्दा तलाश रही है।

    कांग्रेस नेता ने कहा, ‘मामला कोर्ट में है लेकिन मैं कहूंगा कि अयोध्या के फैसले के बाद बीजेपी की हालत एक पंखहीन पक्षी की तरह है क्योंकि वे नौकरियों, महंगाई और ‘अच्छे दिनों’ पर राजनीति नहीं कर सकते। वे एक और अयोध्या मुद्दे की तलाश कर रहे हैं ताकि वे राजनीतिकरण कर सकें।’

    हरियाणा में युवक ने अपनी ही पत्नी पर लगाए संगीन इल्जाम

    अयोध्‍या में गरमाने वाली है ठाकरे परिवार की सियासत
    उन्‍होंने कहा, ‘लोग काशी विश्वनाथ मंदिर जाते हैं और ज्ञानवापी मस्जिद भी जाते हैं। बीजेपी राजनीतिक फायदे के लिए इस मुद्दे का ध्रुवीकरण करने की नाकाम कोशिश कर रही है।’

    वाराणसी के काशी विश्वनाथ मंदिर परिसर और ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में स्थित श्रृंगार गौरी समेत कई देवी-देवताओं के सर्वे को लेकर विरोध प्रदर्शन हो चुका है।

    मस्जिद के पीछे एक हिंदू मंदिर तक पहुंच की मांग करने वाली याचिका को लेकर अदालत द्वारा नियुक्त अधिकारी और वकीलों के एक दल ने शुक्रवार को वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद का निरीक्षण किया था।

    अयोध्या मामले में, सुप्रीम कोर्ट की पांच-न्यायाधीशों की पीठ ने नवंबर 2019 में सर्वसम्मति से राम लला के पक्ष में फैसला सुनाया था और कहा था कि 2.7 एकड़ में फैली पूरी विवादित भूमि सरकार द्वारा गठित एक ट्रस्ट को सौंप दी जाएगी, जो साइट पर एक राम मंदिर के निर्माण कार्य की निगरानी करेगी। शीर्ष अदालत ने यह भी कहा था कि केंद्र और राज्य सरकार के बीच परामर्श के बाद अयोध्या में एक प्रमुख स्थान पर वैकल्पिक पांच एकड़ भूमि एक मस्जिद के निर्माण के लिए आवंटित की जानी चाहिए। 5 अगस्त 2020 को पीएम मोदी ने अयोध्या में राम मंदिर की आधारशिला रखी थी।

    Must Read