More
    Homeपॉलिटिक्सवोटिंग की रात जनरल बाजवा ने जड़ा था इमरान के थप्पड़, जाने...

    वोटिंग की रात जनरल बाजवा ने जड़ा था इमरान के थप्पड़, जाने वजह

    इस्लामाबाद : पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान पिछले हफ्ते सत्ता से बेदखल हो गए। विपक्ष ने एकजुट होकर उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग की। कहा जा रहा है कि सेना के साथ तल्खी इमरान खान के जाने का प्रमुख कारण बनी। वोटिंग वाली रात जब सभी की नजरें पाकिस्तान की नेशनल असेंबली पर टिकीं थीं तब इमरान खान के घर पर भी हलचल काफी बढ़ी हुई थी। खबरों के मुताबिक इमरान ने कैबिनेट बैठक बुलाई थी और इस्तीफा देने से इनकार कर दिया था। कहा तो यह भी जा रहा है कि उन्होंने पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल बाजवा को बर्खास्त कर दिया था और तनाव यहां तक बढ़ गया कि बाजवा ने खान को थप्पड़ जड़ दिया।

    सोशल मीडिया से लेकर मीडिया रिपोर्ट्स में इमरान खान के थप्पड़ वाली बात फैली हुई है। हर कोई सच जानना चाहता है कि आखिर उस रात इमरान के घर पर क्या हुआ? हेलिकॉप्टर से अचानक दो लोग इमरान खान के घर पहुंचे थे जिनके साथ उन्होंने करीब 45 मिनट अकेले में बात की। हमारे सहयोगी चैनल टाइम्सनाउ नवभारत से बात करते हुए विदेशी मामलों के जानकार ए के सिवाच ने बताया कि थप्पड़ वाली बात अफवाह हो सकती है जिसके बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता लेकिन डीजी आईएसआई की नियुक्त को लेकर सेना इमरान खान के खिलाफ हो गई थी इसलिए वह आर्मी चीफ को बदलना चाहते थे।

    विदेश नीति बनी इमरान और सेना के बीच दरार की वजह
    ए के सिवाच ने बताया कि डीजी आईएसआई खान से मिलने पहुंचे थे लेकिन उसके बाद क्या हुआ यह कहना मुश्किल है। लेकिन यह बात सच है कि सेना के साथ उनके संबंध खराब हो गए थे। उन्होंने कहा कि विदेश नीति भी इमरान खान और सेना के बीच दरार की वजह बनी। जिस तरह खान अमेरिका से दूर जा रहे थे और रूस से नजदीकियां बढ़ा रहे थे, वह सेना को पसंद नहीं था। पाकिस्तानी और अमेरिकी सेना के बीच संबंध बहुत अच्छे हैं और पाकिस्तान आर्मी उन संबंधों को बरकरार रखना चाहती थी क्योंकि कई जनरलों की संपत्ति अमेरिका में है और बड़ी मात्रा में हथियार भी पाकिस्तान को अमेरिका से मिलता है।

    यह भी पढ़ें : उत्तर प्रदेश की नौकरशाही में बड़ा फेरबदल , सबसे ज्यादा ट्रांसफर पश्चिम उत्तर प्रदेश में

    सरकारी खजाने को नुकसान पहुंचाने के आरोप
    पाकिस्तान का सियासी संकट शुरू होते ही सेना ने अपनी भूमिका साफ कर दी थी। सेना ने कहा था कि वह पूरे मामले पर तटस्थ है जिसका मतलब साफ था कि वह इमरान खान के साथ नहीं है। अब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ इमरान खान पर सरकारी खजाने में हेरफेर करने के आरोप लगा रहे हैं। शरीफ का आरोप है कि इमरान खान ने प्रधानमंत्री रहते हुए 14 करोड़ रुपए के गिफ्ट्स को दुबई में बेचकर सरकारी खजाने को नुकसान पहुंचाया है।

    Must Read