Homeअपराधशिक्षक बहाली 2006 में अनियमितता मिलने पर पंचायत सचिव हुए बर्खास्त

शिक्षक बहाली 2006 में अनियमितता मिलने पर पंचायत सचिव हुए बर्खास्त

औरंगाबाद : पंचायत शिक्षक बहाली में गड़बड़ी करने के आरोप में डीएम सौरभ जोरवाल ने कुटुंबा प्रखंड के जनसेवक सह पंचायत सचिव अनिल कुमार को नौकरी से बर्खास्त कर दिया है। बर्खास्त पंचायत सचिव वर्ष 2006 में सदर प्रखंड के नौगढ़ पंचायत में पदस्थापन के समय पंचायत शिक्षक नियोजन में गड़बड़ी की थी। शिकायत पर डीएम ने जांच कराई और आरोप सही पाया गया है। नौगढ़ पंचायत से इनका तबादला कुटुंबा प्रखंड में हो गया था।
सूचना जन संपर्क पदाधिकारी कृष्णा कुमार ने बताया कि नौगढ़ पंचायत में शिक्षक नियोजन में अनियमितता पाए जाने पर डीएम के द्वारा विभागीय कार्यवाही प्रारंभ की गई थी। एसडीएम सदर संचालन पदाधिकारी बनाए गए थे। डीएम के आदेश के आलोक में पंचायत सचिव पर आरोप पत्र गठित कर निहित आरोप के संबंध में अपना पक्ष रखने का मौका दिया था। विभागीय कार्रवाई के दौरान पाया गया कि पंचायत सचिव द्वारा अवैध लाभ की मंशा से पंचायत शिक्षक नियोजन में नियमावली के अनुरूप निर्धारित कोटि पर नियोजन न कर किसी अन्य कोटि का नियोजन किया गया था। नियोजन में अनियमितता बरती गई थी।

इसे भी पढ़े :पीएम की मन की बात में रामपुर के पटवाई का अमृत सरोवर बना चर्चा का विषय

संचालन पदाधिकारी ने पंचायत सचिव द्वारा प्रस्तुत स्पष्टीकरण एवं अन्य कागजात का अवलोकन किया था। संचालन पदाधिकारी द्वारा नियोजन बैठक की कार्यवाही बही की छाया प्रति का अवलोकन किया था। कार्यवाही पंजी पर प्रशिक्षित शिक्षकों के उपस्थित आवेदकों की कुल संख्या को खाली रखा गया था। इसी प्रकार महिला प्रशिक्षित शिक्षक की उपस्थिति 17 या 07 स्पष्ट नहीं लिखी गई थी। पुरुष प्रशिक्षित शिक्षकों की उपस्थिति 12 अंकित किया गया था। जबकि मेधा सूची महिला में पांच एवं पुरुष में छह अंकित किया गया था। उक्त पृष्ठ में भी खाली स्थान छोड़ा गया था जिससे स्पष्ट प्रतीत हुआ था कि भविष्य में किसी अन्य व्यक्ति का नाम जोड़ा जा सकता था।

उपस्थापन पदाधिकारी-सह-प्रखंड विकास पदाधिकारी सदर के मंतव्य एवं प्रस्तुत कागजात में अंकित तथ्य के अनुसार पंचायत सचिव के द्वारा शिक्षक नियोजन नियमावली के अनुरूप नियोजन नहीं किया गया था तथा उनके द्वारा अनियमितता बरतते हुए जानबूझ कर पंचायत शिक्षक नियोजन नियमावली के विरूद्ध कार्य की गई थी। जांच रिपोर्ट एवं संचालन व उपस्थापन पदाधिकारी के जांच रिपोर्ट के बाद डीएम ने पंचायत सचिव को सेवा से बर्खास्तगी की कार्रवाई की है। साथ ही सभी कर्मियों को सख्त हिदायत दी गई कि किसी प्रकार की अनियमितता पर ऐसा ही कार्रवाई की जाएगी।

Stay Connected
16,985FansLike
61,453SubscribersSubscribe
Latest Post
Current Updates