More
    Homeअपराधउत्तर-प्रदेश में मेडिकल की छात्रा के साथ दरिंदगी की हद्द तक रैगिंग

    उत्तर-प्रदेश में मेडिकल की छात्रा के साथ दरिंदगी की हद्द तक रैगिंग

    हापुड़। पिलखुवा कोतवाली क्षेत्र स्थित सरस्वती मेडिकल कालेज में एमबीबीएस की छात्रा के साथ रैगिंग का मामला सामने आया है। झारखंड के रांची की रहने वाली छात्रा ने पांच छात्रों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। जिसमें रैगिंग का विरोध करने पर मारपीट करना, कपड़े फाड़ना, बाल खींचना और गाड़ी में घसीटने का आरोप लगाया है।

    छात्रा ने पुलिस को बताया कि उसके पिता व्यवसायी हैं और वह रांची में रहते हैं। जबकि, वह पिलखुवा में रहकर सरस्वती मेडिकल कालेज से एमबीबीएस की पढ़ाई कर रही हैं। उन्होंने बताया कि पिछले पांच माह से कालेज के छात्र-छात्राएं उन्हें रैगिंग के नाम पर परेशान कर रहे थे। पीड़ित छात्रा पर आरोपित पार्टी करवाने और शराब पिलवाने के लिए दबाव बना रहे थे। फोन पर अभद्रता कराते थे।

    छात्रा ने बताया कि कालेज के निकट सोसायटी में मंगलवार रात करीब आठ बजे अनू सिहाग, अंकिता चौधरी, मोहित अग्रवाल, नवनीत त्यागी और सार्थक सिंघल आ धमके। आरोप है कि साेसायटी के पास आरोपितों ने छात्रा का हाथ मरोड़ा, कपड़े फोड़, धक्का दिया तो सिर दीवार में लगा, थप्पड़ मारे, बाल खींचे और गाड़ी में घसीटने का प्रयास किया। किसी तरह आरोपितों के चंगुल से पीड़िता निकलने में कामयाब हो सकी। इसके बाद छात्रा ने कालेज प्रशासन को सूचना दी। बाद में कोतवाली पहुंचकर आरोपितों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई।

    यह भी पढ़ें : बिहार में अपने माँ बाप के साथ सास के खिलाफ धरने पर बैठी बहू

    पुलिस क्षेत्राधिकारी डाक्टर तेजवीर सिंह का कहना है कि छात्रा की शिकायत पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। मामले की जांच की जा रही है। जांच में जो भी दोषी होगा, उसके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। सरस्वती मेडिकल कालेज के प्राचार्य डाक्टर आसी पुरोहित का कहना है कि मामला संज्ञान में आया है। छात्रा को हास्टल से बुलाया गया है। पता चला है कि दो दिन से छात्रा का हास्टल में रहने वाले अन्य छात्रों से विवाद चल रहा था। मामले में जांच कराकर उचित कारवाई की जाएगी

    उल्लेखनीय है कि कालेजों में रैगिंग को रोकने को लेकर सरकार काफी सख्त है। सरकार ने इसे रोकने के लिए एंटी रैगिंग कानून बनाया है। रैगिंग करते हुए पकड़े जाने पर सजा का प्रावधान है। ऐसे मामले में 2 साल की जेल या 10 हजार का जुर्माना या फिर दोनों हो सकता है। अगर आपके साथ रैगिंग हो रही है, तो आपको शिकायत दर्ज करनी होगी।

    विश्वविद्यालयों और कॉलेज में एंटी रैंगिग कमेटी होती है। इसके अलावा आप यूजीसी के हेल्पलाइन नंबर 18001805522 पर भी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। इसके अलावा आप रैंगिग की शिकायत पुलिस स्टेशन में भी कर सकते हैं। ऐसे में 24 घंटे के अंदर में प्रशासन को पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज करवानी होगी।

    Must Read