Homeपॉलिटिक्सप्रशांत किशोर पर राजद का वार कहा - बिहार में किसी के...

प्रशांत किशोर पर राजद का वार कहा – बिहार में किसी के आने से नहीं पड़ता फर्क

पटना। कांग्रेस में डील गड़बड़ाने के बाद राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishore) अब बिहार से राजनीति की नई पारी की शुरुआत के संकेत के साथ ही सूबे में सियासी बयानबाजी तेज हो गई है। पीके ने सोमवार को ट्वीट कर लिखा है कि पिछले 10 साल के अनुभव के बाद अब ‘रियल मास्टर’ यानी जनता के पास जाने का समय आ गया है। आगे प्रशांत किशोर ने लिखा है कि इसकी शुरुआत बिहार से होगी। पीके के इस ट्वीट के बाद यह कयास लगाए जा रहे हैं कि वे अपनी पार्टी बनाकर सक्रिया राजनीति में आएंगे। प्रशांत किशोर के इस नये ऐलान के बाद बीजेपी ने पीके पर बड़ तंज कसा है। वहीं राजद ने कहा है कि तेजस्वी का जादू चल रहा है और बिहार में तेजस्वी माडल ही चलेगा। किसी के आने से कोई फर्क नहीं पड़ता है।

‘बिहार में चलेगा तेजस्वी माडल’
प्रशांत किशोर के राजनीति में सक्रिय एंट्री के ऐलान के बाद सियासी बयानबाजी शुरू हो गई है। राजद ने कहा है कि पीके राजनीतिक दलों के लिए काम किया है। चुनावी रणनीतिकार हैं। सबको अधिकारी है यात्रा निकालने का। लेकिन बिहार में तेजस्वी का जादू चल रहा और यहां तेजस्वी माडल ही चलेगा। किसी के आने से फर्क नहीं पड़ता है। तेजस्वी को जनता का प्यार हासिल है। बिहार जनता दल ने विधानसभा चुनाव में जनता ने प्यार दिया। उनके माडल ही बिहार में चलेगा। बिहार के लोग राजनीतिक समझ ज्यादा रखते हैं।

यह भी पढ़ें : उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा – चंदौली मौत मामले में बख्शा नहीं जाएगा दोषी

बीजेपी ने कसा तंज
बीजेपी प्रवक्ता बिनोद शर्मा ने प्रशांत किशोर पर तंज कसते हुए कहा कि अब उन पर कोई राजनीतिक दल भरोसा नहीं करता है। किसी भी राजनीतिक दल का मंडल प्रमुख की सूझबुझ भी पीके से ज्यादा है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पीके फिलहाल बेरोजगार हैं, उन्हें जन सुराज नहीं बेरोजगारी यात्रा पर निकलना चाहिए था।

जेडीयू ने भी दी प्रतिक्रिया
जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा जन सुराज- हर किसी को यात्रा निकालने का अधिकारी है। बिहार में कितनी यात्राएं निकली हैं तो वो भी निकाल रहे हैं। पीके का पूरा कार्यक्रम आने के बाद ही जदयू कोई प्रतिक्रिया दे पाएगी। वहीं जदयू प्रवक्ता अरविंद निषाद ने कहा है कि प्रशांत किशोर पहले भी बिहार में अपना कार्यक्र लॉन्च कर चुके हैं। लेकिन उसके बाद उनकी गतिविधि बिहार में बंद हो गई थी। लेकिन बिहार में सीएम नीतीश के नेतृत्व में एनडीए बेहतर काम कर रही है और 2025 तक नीतीश कुमार नेतृत्व करते रहेंगे। गौरतलब है कि प्रशांत किशोर ने सोमवार को ट्वीट कर यह जानकारी दी है कि वे बिहार का दौरा कर युवाओं और गैर राजनीतिक दलों के लोगों से मुलाकात करेंगे।

Stay Connected
16,985FansLike
61,453SubscribersSubscribe
Latest Post
Current Updates