Homeलाइफस्टाइलसनस्क्रीन इस्तेमाल करने के बाद यह गलती हो सकती है नुकसानदायक

सनस्क्रीन इस्तेमाल करने के बाद यह गलती हो सकती है नुकसानदायक

सनस्क्रीन उन ब्यूटी प्रोडक्ट्स में से एक हैं, जिसे कभी स्किप नहीं किया जा सकता है। सन प्रोटेक्शन से बचने के लिए इसका इस्तेमाल हर वक्त किया जाना चाहिए। दरअसल, यह त्वचा पर एक परत की तरह काम करती है, जो हमारी स्किन को सूरज की तेज किरणों से होने वाले सीधे नुकसान से बचाती है। बता दें कि सनस्क्रीन में जितना ज्यादा एसपीएफ होता है ये उतनी ही ज्यादा प्रभावी मानी जाती है।

यह भी पढ़ें : लुधियाना में खुले आम इंश्योरेंस एजेंट का अपहरण ,50 हज़ार की मांगी फिरौती

इसलिए डर्मेटोलॉजिस्ट हमेशा स्किन टाइप को ध्यान में रखकर ही सनस्क्रीन इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं। सनबर्न, टैनिंग आदि से बचने के लिए सनस्क्रीन बहुत जरूरी है। खास कर गर्मियों में इसे बिना लगाए बाहर निकलना खतरे से खाली नहीं। दिन पर दिन बढ़ रहे तापमान का प्रभाव आपकी त्वचा पर सीधे पड़ सकता है। क्या सनस्क्रीन सिर्फ अप्लाई करना काफी है? इसे कब और कैसे लगाना चाहिए, क्या इस बारे में आप सोचकर इसे लगाते हैं?

आमतौर पर सनस्क्रीन से जुड़ी हम कुछ ऐसी गलतियां कर देते हैं, जिसका प्रभाव त्वचा पर सीधे पड़ सकता है। यही नहीं गर्मियों में इन गलतियों को करने से भारी नुकसान चुकाना पड़ सकता है। इसलिए जब भी आप सनस्क्रीन अप्लाई करें, इन बातों का खास ध्यान रखें।

​स्किन टाइप के अनुसार चूज करें सनस्क्रीन
किसी के बताने पर या फिर एड देखकर सनस्क्रीन खरीदने की गलती ना करें। कोशिश करें कि सनस्क्रीन के बारे में रिसर्च करें और अपने स्किन टाइप को देखकर ही खरीदें। हमेशा लेबल की जांच करें क्योंकि कई ऐसे भारतीय कॉस्मेटिक ब्रांड हैं, जो बिना किसी साइंटिफिक इंग्रेडिएंट्स के सनस्क्रीन पेश करते हैं। बेहतर होगा कि आप खरीदने से पहले किसी डर्मेटोलॉजिस्ट की सलाह लें। ड्राई स्किन से लेकर नॉर्मल स्किन तक के कुछ ऐसे इंग्रेडिएंट्स होते हैं, जो आपकी सनस्क्रीन में जरूर होने चाहिए।

​सनस्क्रीन में कितना होना चाहिए एसपीएफ
गर्मियों में सनस्क्रीन इस्तेमाल करने के लिए उसमें एसपीएफ 30 या फिर उसके ऊपर होना चाहिए। यह बेहद महत्वपूर्ण है जो आपको सूरज की यूवी किरणों से बचाता है। इसके अलावा अगर आप सोचते हैं कि इसे सिर्फ बाहर निकलने से पहले लगाना चाहिए तो ऐसा नहीं है। दरअसल मोबाइल फोन कीब्लू लाइट या फिर एलईडी लाइट्स का भी प्रभाव आपकी त्वचा पर पड़ता है। ऐसे में घर में रहते वक्त भी सनस्क्रीन जरूर इस्तेमाल की जानी चाहिए। वहीं घर से बाहर निकलने से करीब 20 मिनट पहले इसे अप्लाई करें।

​फिजिकल एक्टिविटी के दौरान भी यूज करें सनस्क्रीन
गर्मियों के मौसम में कई बार काफी ह्यूमिडिटी होती है, जिससे पसीना काफी निकलता है। कुछ लोग अधिक पसीना आने की वजह से सनस्क्रीन नहीं लगाते हैं। यह गलत है, आप चाहें तो वॉटर रेसिस्टेंट सनस्क्रीन का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह त्वचा के लिए अच्छी होती है। स्विमिंग करते हैं या फिर अधिक पसीना निकलता है तो आपको वॉटर रेसिस्टेंट सनस्क्रीन का इस्तेमाल करना चाहिए। कोशिश करें इसे हर घंटे अप्लाई करें।

​सिर्फ चेहरे पर ही नहीं इन जगहों पर भी लगाएं सनस्क्रीन
सनस्क्रीन हर जगह अप्लाई की जानी चाहिए। सिर्फ चेहरे या फिर हाथ-पैर को कवर करना काफी नहीं होगा। आंखों के आसपास की त्वचा, होंठ, गर्दन जैसे एरिये को भी सूर्य की हानिकारक किरणों से बचाने की आवश्यकता होती है। ऐसे में इसका खास ख्याल रखें। लिप के लिए आप चाहें एसपीएफ युक्त लिप बाम का उपयोग कर सकते हैं। गर्मियों में सन प्रोटेक्शन के लिए इन चीजों का खास ध्यान रखना चाहिए।

​एक्सपायरी डेट करें चेक
सनस्क्रीन की भी एक एक्सपायरी डेट होती है। ज्यादातर लोगों को लगता है कि इसे लगातार इस्तेमाल किया जा सकता है, जो कि सच है, लेकिन एक्सपायर हो जाने के बाद उसे यूज नहीं किया जा सकता है। 2 से 3 साल तक आप सनस्क्रीन को इस्तेमाल कर सकते हैं। एक्सपायर हो जाने के बाद यह पूरी तरह से खराब हो जाती हैं और सूर्य की हानिकारक किरणों से बचाने में असमर्थ होती हैं। इसलिए इस बात का ध्यान जरूर रखें।

डिस्क्लेमर: यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

Stay Connected
16,985FansLike
61,453SubscribersSubscribe
Latest Post
Current Updates