More
    Homeउत्तर प्रदेशयोगी सरकार जल्द युवाओं को दे सकती है नौकरियों की सौगात

    योगी सरकार जल्द युवाओं को दे सकती है नौकरियों की सौगात

    लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने गृह विभाग को 100 दिनों का टास्क सौंपा है। सीएम ने कहा कि पूरी कार्ययोजना तैयार करें, प्राथमिकताएं सेट करें और तेजी से एक्शन लें। सीएम ने कानून व्यवस्था, अपराधियों की धर पकड़, हर थाने के स्तर पर टॉप टेन अपराधियों पर कार्रवाई, मिशन शक्ति अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं। साथ ही उन्होंने पुलिस भर्ती को लेकर भी अहम टार्गेट अफसरों को सौंपा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि अगले 100 दिनों में कम से कम 10 हजार पुलिसकर्मियों की भर्ती सुनिश्चत की जाए। बता दें पहले ही मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर ऐलान किया था कि प्रदेश सरकार युवाओं को सरकारी नौकरी से जोड़ने एवं उन्हें रोजगार प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। इसी क्रम में सरकार ने सभी सेवा चयन बोर्डों को आगामी 100 दिनों में 10,000 से अधिक प्रदेश के युवाओं को सरकारी नौकरी प्रदान करने हेतु निर्देश दे दिए हैं। अब 10 हजार पुलिसकर्मियों की भर्ती की नई बात सामने आई है।

    यह भी पढ़ें गर्मियों में खाइये मूंगफली भिगोकर, होंगे अनेक फायदे

    मुख्यमंत्री ने अपने सरकारी आवास पर गृह विभाग की 100 दिनों की कार्ययोजना के सम्बन्ध में एक अहम बैठक बुलाई, जिसमें भविष्य की पूरी कार्ययोजना पर समीक्षा की गई। बैठक में अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक मुकुल गोयल, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री संजय प्रसाद, एडीजी (लॉ एण्ड ऑर्डर) प्रशान्त कुमार सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में सीएम योगी ने फूट पेट्रोलिंग बढ़ाने, पीआरवी-112 की पेट्रोलिंग नियमित रूप से प्रभावी ढंग से संचालित करने, ट्रैफिक व्यवस्था को और दुरुस्त करने के साथ ही पुलिस थानों में स्वच्छ वातावरण बनाने आदि पर जोर दिया।

    साथ ही कहा कि पुलिस विभाग में 100 दिनों में कम से कम 10,000 पुलिस कर्मियों की भर्ती सुनिश्चित की जाए। इसके अलावा सीएम ने अपराधियों और माफियाओं के खिलाफ कठोर कार्रवाई करते हुए अवैध सम्पत्तियों का ध्वस्तीकरण और जब्तीकरण करने के आदेश दिए। यही नहीं साफ कहा कि पेशेवर अपराधियों सहित खनन, शराब, पशु, वन तथा भू-माफियाओं के प्रति किसी भी प्रकार की रियायत न बरती जाए।

    Must Read